The first aircraft to reach Delhi with Pune Kovid-19 vaccine | पुणे से कोविड-19 के टीके लेकर पहला विमान दिल्ली पहुंचा
पुणे से कोविड-19 के टीके लेकर पहला विमान दिल्ली पहुंचा

(तस्वीरों के साथ)

नयी दिल्ली/पुणे, 12 जनवरी देश में कोरोना वायरस के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का आरंभ करते हुए 16 जनवरी को टीकाकरण मुहिम की शुरुआत से चार दिन पहले ‘कोविशील्ड’ टीकों की पहली खेप मंगलवार सुबह पुणे से दिल्ली पहुंची।

‘स्पाइसजेट’ का विमान सुबह करीब आठ बजे पुणे हवाईअड्डे से रवाना होने के बाद टीकों के साथ सुबह करीब 10 बजे दिल्ली हवाईअड्डे पहुंचा। इससे पहले तीन ट्रकों में इन टीकों को तड़के पांच बजे से कुछ समय पहले ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ (एसआईआई) से पुणे हवाईअड्डे के लिए रवाना किया गया था।

नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि चार विमानन कम्पनियां पुणे से देश के 13 शहरों में कोविड-19 टीकों की 56.5 लाख खुराक ले जाने के लिए मंगलवार को नौ उड़ानें संचालित करेंगी।

पुणे से ‘स्पाइसजेट’ के विमान के दिल्ली और ‘गोएयर’ के विमान के टीके लेकर चेन्नई के लिए सुबह रवाना होने के साथ ही इस अभियान की शुरुआत हुई।

तीन ट्रक इन टीकों को लेकर तड़के पांच बजे से कुछ समय पहले पुणे हवाईअड्डे के लिए ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ से रवाना हुए थे। पुणे हवाईअड्डे से इन टीकों को हवाई मार्ग के जरिए भारत के अन्य हिस्सों में पहुंचाया जाएगा।

टीकों को इंस्टीट्यूट से रवाना करने से पहले एक पूजा भी की गई थी।

‘स्पाइसजेट’ के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने कहा, ‘‘ मैं यह बताते हुए बेहद खुश हूं कि ‘स्पाइसजेट’ ने आज, भारत की कोविड-19 के टीकों की पहली खेप को लेकर उड़ान भरी। पहली खेप में ‘कोविशील्ड’ के 1088 किलोग्राम के 34 डिब्बे थे, जो ‘स्पाइसजेट’ की विमान संख्या-8937 में पुणे से दिल्ली लाए गए।’’

‘ऑक्सफोर्ड‘ विश्वविद्यालय और ब्रिटिश-स्वीडिश कम्पनी ‘एस्ट्राजेनेका’ ने ‘कोविशील्ड’ टीके को विकसित किया है और एसआईआई इसका निर्माण कर रहा है।

केन्द्र सरकार ने देश में 16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान से पहले सोमवार को ‘सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया’ (एसआईआई) और ‘भारत बायोटेक’ को कोविड-19 टीके की छह करोड़ से अधिक खुराक के लिए ऑर्डर दिया था। इस ऑर्डर की कुल कीमत करीब 1,300 करोड़ रुपये होगी।

पुणे हवाईअड्डे की ओर से ट्वीट किया गया, ‘‘जाने को तैयार, भारत के साथ खड़े हैं। वायरस को खत्म करने वाले टीकों को देश भर में पहुंचाने के लिए विमान में रखा जा रहा है।’’

‘स्पाइसजेट’ के अलावा ‘गोएअर’, ‘इंडिगो’ और ‘एअर इंडिया’ के विमान भी टीकों को पहुंचाने का काम कर रही है।

‘एअर इंडिया’ ने कहा कि टीकों की 2,76,000 खुराक की पहली खेप पुणे से अहमदाबाद ले जाई गईं। इनका वजन 700 किलोग्राम था।

‘इंडिगो’ ने बताया कि विमान संख्या 6ई6515 और 6ई882 में क्रमश: 900 किलोग्राम वजनी टीकों की खेप पुणे से चंडीगढ़ और लखनऊ ले जायी गयी।

‘स्पाइसजेट’ के सीएमडी अजय सिंह ने कहा, ‘‘ आज महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई में एक लंबे और निर्णायक चरण की शुरुआत हुई और ‘स्पाइसजेट‘ को मानव जाति के इतिहास में सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का हिस्सा बन कर गर्व है।’’

सिंह ने कहा, ‘‘ हम गुवाहाटी, कोलकाता, हैदराबाद, भुवनेश्वर, बेंगलुरु, पटना और विजयवाड़ा सहित भारत के विभिन्न शहरों में आज टीकों की खेप पहुंचाएंगे। ‘स्पाइसजेट’ देश के अंदर और बहार कोविड टीके पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध और तैयार है।’’

वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की थी और कहा था कि कोविड-19 के लिए टीकाकरण पिछले तीन-चार हफ्तों से लगभग 50 देशों में चल रहा है और अब तक केवल ढाई करोड़ लोगों को टीके लगाए गए हैं जबकि भारत का लक्ष्य अगले कुछ महीनों में 30 करोड़ से अधिक लोगों को टीका लगाना है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: The first aircraft to reach Delhi with Pune Kovid-19 vaccine

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे