लाइव न्यूज़ :

भारत के परमाणु हथियारों का निशाना अब चीन है, लंबी दूरी की मिसाइलें बनाने में जुटा, देश के पास 172 परमाणु हथियार मौजूद

By शिवेन्द्र कुमार राय | Published: June 18, 2024 5:46 PM

रिपोर्ट के अनुसार भारत ने 2023 में अपने परमाणु शस्त्रागार में विस्तार किया। भारत और पाकिस्तान दोनों ने 2023 में नए प्रकार के परमाणु हथियारों का विकास जारी रखा। इसमें ये भी बताया गया है कि भारत का फोकस अब पाकिस्तान से हट कर चीन पर केंद्रित हो रहा है।

Open in App
ठळक मुद्देभारत ने अपने परमाणु हथियारों को चीन को ध्यान में रखकर विकसित करना शुरू कर दिया हैस्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसआईपीआरआई) की रिपोर्ट में खुलासाअमेरिका के पास सबसे ज्यादा परमाणु हथियार हैं

नई दिल्ली: स्टॉकहोम स्थित थिंक टैंक स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसआईपीआरआई) के अनुसार भारत ने अपने परमाणु हथियारों को चीन को ध्यान में रखकर विकसित करना शुरू कर दिया है। एसआईपीआरआई ने विश्व भर के देशों के पास मौजूद परमाणु हथियारों की संख्या भी बताई है। इसमें सामने आया है कि भारत के पास पाकिस्तान से ज्यादा परमाणु हथियार हैं। 

रिपोर्ट में इस साल जनवरी में भारत के पास मौजूद परमाणु हथियारों की संख्या 172 बताई गई है जबकि पाकिस्तान के लिए यह संख्या 170 है। एक साल पहले, भारत के पास मौजूद परमाणु हथियारों की संख्या 164 थी। दुनिया के बाकी देशों ने भी अपने परमाणु शस्त्रागार का आधुनिकीकरण जारी रखा है। 

रिपोर्ट के अनुसार भारत ने 2023 में अपने परमाणु शस्त्रागार में विस्तार किया। भारत और पाकिस्तान दोनों ने 2023 में नए प्रकार के परमाणु हथियारों का विकास जारी रखा। इसमें ये भी बताया गया है कि भारत का फोकस अब पाकिस्तान से हट कर चीन पर केंद्रित हो रहा है। भारत लंबी दूरी के हथियारों पर जोर दे रहा है। भारत ऐसे हथियार विकसित करने में लगा हुआ है जो पूरे चीन में लक्ष्य तक पहुंचने में सक्षम हो।

रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के पास सबसे ज्यादा परमाणु हथियार हैं। इसके बाद रूस और चीन का नंबर आता है। उत्तर कोरिया के पास भी 50 परमाणु हथियार मौजूद बताए गए हैं।

बता दें कि भारतीय सैन्य रणनीतिकार चीन को अब पाकिस्तान से ज्यादा बड़ा खतरा मानते हैं। पिछले चार साल से चीन से लगती पूरी सीमा पर तनाव है। अपने क्षेत्र में चीन भारी सैन्य तैयारियां भी कर रहा है। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) एलएसी के साथ विभिन्न  क्षेत्रों में अपनी सैन्य स्थिति मजबूत कर रही है और बुनियादी ढांचे को लगातार मजबूत कर रही है। इसमें पूर्वी लद्दाख में सेना के पीछे हटने के बाद बनाए गए बफर जोन भी शामिल हैं।  भारत से लगती सीमा पर चीन अपने सबसे उन्नत लड़ाकू विमान तैनात कर रहा है। चीन ने अपने प्रमुख लड़ाकू विमान जे-20 को सिंकियांग (झिंजियांग) और तिब्बत के हवाई क्षेत्रों में ले जाना शुरू कर दिया है। र भारत भी इससे निपटने की रणनीति पर काम कर रहा है। 

टॅग्स :भारतीय सेनामोदी सरकारपाकिस्तानचीनअमेरिकाLine of Actual Control
Open in App

संबंधित खबरें

भारतरिकार्ड तोड़ रही है अमरनाथ यात्रा में शिरकत करने वालों की संख्या, 22 दिनों में आंकड़ा 4 लाख को छूने लगा, उम्मीद 8 लाख को पार कर जाने की

भारतजम्मू क्षेत्र के पहाड़ी जिलों में आतंक को कुचलने की तैयारी, 3,000 सैनिकों को तैनात किया गया, पैरा-स्पेशल फोर्सेज की टीमें भी भेजी गईं

क्रिकेटपाकिस्तानी पत्रकार पर भड़के हरभजन सिंह, धोनी और रिजवान की तुलना करने पर आड़े हाथों लिया

क्रिकेटWomens Asia Cup T20, 2024: स्मृति मंधाना और शेफाली वर्मा की धमाकेदार पारी से जीता भारत, पाकिस्तान को 7 विकेट से हराया

विश्वरूस ने जासूसी के आरोप में अमेरिकी पत्रकार इवान गेर्शकोविच को 16 साल की सुनाई सजा

भारत अधिक खबरें

भारत'कांवर रूट पर नेमप्लेट वाला फैसला वापस..', जयंत चौधरी ने UP सरकार के निर्णय को समझे से परे बताया

भारतमुंबई में भारी वर्षा के बाद भारतीय मौसम विभाग का ऑरेंज अलर्ट जारी, ये जिले भी बारिश की जद में

भारतबिहार में पुलों की कराई जा रही जांच में अब तक 12 पुल पाए गए खतरनाक, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

भारतMaharashtra Assembly Elections 2024: 48 लोकसभा सीट में से 30 पर एमवीए गठबंधन ने मारी बाजी, शरद पवार ने कहा- एकजुट होकर लड़ेंगे तो विधानसभा में सरकार बनाएंगे

भारतनीट, बिहार को विशेष दर्जा और भी बहुत कुछ.., यहां जानें सर्वदलीय बैठक में विपक्ष ने किन मुद्दों पर की मांग