Students dissatisfied with the result, only those subjects with canceled examination will be able to take the optional examination: Pokhriyal | परिणाम से असंतुष्ट छात्र, केवल रद्द परीक्षा वाले विषयों की ही दे सकेंगे वैकल्पिक परीक्षा: पोखरियाल
केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (फाइल फोटो)

Highlightsपरिणाम जारी होने पर छात्र को अपने रिजल्ट से संतुष्टि नहीं होती है तो उसके लिए सीबीएसई वैकल्पिक परीक्षाएं आयोजित करेगा। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि हमारी प्राथमिकता पहले छात्र के जीवन की सुरक्षा फिर परीक्षा है।

नई दिल्ली: केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सीबीएसई और भारत सरकार छात्रों को राहत देने के लिए पहले से ही विचार-विमर्श कर रही थी।

उन्होंने कहा कि सीबीएसई ने छात्रों का परिणाम अब शेष परीक्षाओं के बिना असेसमेंट स्कीम के आधार पर जारी करना सुनिश्चित किया है।

रिजल्ट से संतुष्टि नहीं होती है तो उसके लिए वैकल्पिक परीक्षाएं होंगी- 

अगर किसी छात्र को लगता है कि वह परीक्षा देकर ज्यादा बेहतर परिणाम हासिल कर सकता है और 15 जुलाई तक परिणाम जारी होने पर छात्र को अपने रिजल्ट से संतुष्टि नहीं होती है तो उसके लिए सीबीएसई वैकल्पिक परीक्षाएं आयोजित करेगा।

ऐसे छात्र केवल उन्हीं परीक्षाओं को देकर अपने परिणाम में सुधार की कोशिश कर सकेंगे जिन विषयों की शेष परीक्षाएं रद्द की गई हैं।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ने सभी छात्रों को उनके रिजल्ट के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारी प्राथमिकता पहले छात्र के जीवन की सुरक्षा फिर परीक्षा है।

इसी कड़ी में मंत्रालय दिन रात ऑनलाइन पढ़ाई और परीक्षा के मॉडल विकसित करने में लगा है। जिससे छात्र सुरक्षित रहते हुए पढाई कर सकें।

सीबीएसई ने 10वीं की परीक्षा भी रद्द कर दी-

बता दें कि सीबीएसई ने 10वीं की परीक्षा भी रद्द कर दी है। ये परीक्षा जुलाई में ही एक से 15 तारीख के बीच होनी थी। साथ ही 12वीं के छात्रों को विकल्प दिया गया है कि वे चाहें तो बाद में परीक्षा में बैठ सकते हैं। सीबीएसई ने ये भी साफ किया है कि बोर्ड की परीक्षाओं के नतीजे 15 जुलाई तक आ जाएंगे।

गौरतलब है कि सीटीईटी परीक्षा के लिए दो दिन पहले सीबीएसई ने एडमिट कार्ड भी जारी कर दिए थे। सीटीईटी परीक्षाओं को लेकर बता दें कि ये दो पार्ट में आयोजित होनी है। इसमें पार्ट-1 कक्षा-1 से कक्षा पांचवीं के लिए जबकि पार्ट-2 कक्षा 6 से 8वीं के लिए है। 150 नंबर के 150 सवाल पूछे जाएंगे। इसमें चाइल्ड डेवलपमेंट एंड पेडागॉजी, लेंग्वेज 1, लेंग्वेज 2, गणित, एनवायरनमेंटल स्टडीज से जुड़े 30-30 प्रश्न होंगे। पेपर - 2 में भी 150 प्रश्न पूछे जाएंगे। 

इन दोनों पेपर के लिए ढाई-ढ़ाई घंटे का समय दिया जाएगा। इस परीक्षा में उम्मीदवारों को 150 में से 60 प्रतिशत अंक लाने जरूरी होंगे। वहीं, आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के लिए कट ऑफ 55 प्रतिशत होगा। 

Web Title: Students dissatisfied with the result, only those subjects with canceled examination will be able to take the optional examination: Pokhriyal
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे