स्पाइसजेट को DCGA ने जारी की कारण बताओ नोटिस, विमान के सुरक्षा मार्जिन में गिरावट से जुड़ा है मामला

By मनाली रस्तोगी | Published: July 6, 2022 01:54 PM2022-07-06T13:54:19+5:302022-07-06T13:55:27+5:30

विमानन कंपनी स्पाइसजेट को अपने विमान के सुरक्षा मार्जिन में गिरावट के संबंध में नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

SpiceJet issued show-cause notice by civil aviation regulator DCGA over series of mid-air incidents | स्पाइसजेट को DCGA ने जारी की कारण बताओ नोटिस, विमान के सुरक्षा मार्जिन में गिरावट से जुड़ा है मामला

स्पाइसजेट को DCGA ने जारी की कारण बताओ नोटिस, विमान के सुरक्षा मार्जिन में गिरावट से जुड़ा है मामला

Next
Highlightsगत 19 जून से अब तक स्पाइसजेट के विमानों में तकनीकी खामी की सात घटनाएं हो चुकी हैं।स्पाइसजेट पिछले तीन साल से घाटे में चल रही है।

नई दिल्ली: नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने विमानन कंपनी स्पाइसजेट को अपने विमान के सुरक्षा मार्जिन में गिरावट के संबंध में कारण बताओ नोटिस जारी किया है। दरअसल, मंगलवार को स्पाइसजेट के लिए एक और कठिन दिन रहा क्योंकि एयरलाइन की दिल्ली-दुबई उड़ान को ईंधन संकेतक में खराबी के कारण कराची की ओर मोड़ दिया गया और इसकी कांडला-मुंबई उड़ान को बीच हवा में विंडशील्ड में दरार आने के बाद महाराष्ट्र की राजधानी में प्राथमिकता के आधार पर उतारा गया। 

हालांकि कराची के जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर फंसे यात्रियों के लिए मुंबई से दूसरा विमान भेजा गया था और यह करीब 11 घंटे के इंतजार के बाद दुबई के लिए रवाना हुआ। मंगलवार को हुईं इन दो घटनाओं के साथ ही पिछले 17 दिनों में स्पाइसजेट के विमानों में तकनीकी खराबी की घटनाओं की कुल संख्या सात हो गई है। गत 19 जून से अब तक स्पाइसजेट के विमानों में तकनीकी खामी की सात घटनाएं हो चुकी हैं। 

19 जून को पटना से 185 यात्रियों को लेकर दिल्ली के लिए उड़ान भरने के बाद ही विमानन कंपनी के विमान के इंजन में आग लग गई थी और उसे आपात स्थिति में उतरना पड़ा था। इंजन में खराबी पक्षी के टकराने से आई थी। वहीं, 19 जून को ही एक अन्य घटना में दिल्ली से जबलपुर जा रहे विमान को कैबिन में दबाव की समस्या की वजह से वापस दिल्ली लौटना पड़ा था। 

इसी प्रकार 24 और 25 जून को अलग-अलग विमानों में 'फ्यूजलेज डोर वार्निंग' प्रणाली सक्रिय होने की वजह से, विमानों को बीच में यात्रा छोड़कर वापस आना पड़ा। वहीं, दो जुलाई को जबलपुर जा रही उड़ान तब वापस दिल्ली लौट आई जब करीब पांच हजार फुट की ऊंचाई पर चालक दल के सदस्यों ने कैबिन में धुआं देखा। उल्लेखनीय है कि स्पाइसजेट पिछले तीन साल से घाटे में चल रही है। सस्ती सेवा मुहैया कराने वाली विमानन कंपनी स्पाइसजेट को 2018-19, 2019-20 और 2020-21 में क्रमश: 316 करोड़, 934 करोड़ और 998 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। 

काोविड-19 महामारी से विमानन क्षेत्र उबर रहा है और उड्डयन परामर्श फर्म सीएपीए ने 29 जून को कहा कि भारतीय विमानन कंपनियों का घाटा वर्ष 2021-22 के तीन अरब डॉलर से घटकर वर्ष 2022-23 में 1.4 से 1.7 अरब डॉलर के बीच रह सकता है। गौरतलब है कि मार्च 2021 में संयुक्त अरब अमीरात के शारजाह से लखनऊ आ रहे इंडिगो के एक विमान ने भी कराची में तब आपातकालीन लैंडिंग की थी जब एक यात्री ने सीने में दर्द की शिकायत की। हालांकि इस यात्री को बचाया नहीं जा सका था। 

(भाषा इनपुट के साथ)

Web Title: SpiceJet issued show-cause notice by civil aviation regulator DCGA over series of mid-air incidents

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे