शिवसेना विधायक की उद्धव ठाकरे को चिट्ठी, लिखा-केंद्रीय एजेंसियां कर रहीं परेशान, पीएम मोदी से मिलाएं हाथ

By अभिषेक पारीक | Published: June 20, 2021 07:25 PM2021-06-20T19:25:29+5:302021-06-20T19:31:05+5:30

राजनीतिक बयानबाजी के बीच शिवसेना के एक विधायक ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर एक बार फिर पीएम मोदी के साथ आने की बात कही है। 

Shiv Sena mla advises cm uddhav thackeray in a letter says join hands with bjp | शिवसेना विधायक की उद्धव ठाकरे को चिट्ठी, लिखा-केंद्रीय एजेंसियां कर रहीं परेशान, पीएम मोदी से मिलाएं हाथ

उद्धव ठाकरे। (फाइल फोटो)

Next
Highlightsशिवसेना विधायक ने उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर पीएम मोदी से हाथ मिलाने की बात कही है। प्रताप सरनाईक ने लिखा कि बहुत देर होने से पहले मेल मिलाप करना बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि यह मुझ जैसे शिवसेना के नेताओं को समस्याओं से बचाएगा। 

महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में अलग चुनाव लड़ने की बात पर शिवसेना और कांग्रेस ने एक-दूसरे पर निशाना साधा है। दोनों पार्टियों के बीच जारी राजनीतिक बयानबाजी के बीच शिवसेना के एक विधायक ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर एक बार फिर पीएम मोदी के साथ आने की बात कही है। 

मनी लांड्रिंग के आरोपों को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच का सामना कर रहे शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने 10 जून को लिखे अपने पत्र में कहा है कि यद्यपि भाजपा से गठबंधन टूट गया है, लेकिन नेताओं के बीच व्यक्तिगत और सौहार्दपूर्ण संबंध बने हुए हैं। विधायक ने अपने पत्र में कहा है, 'बहुत देर होने से पहले मेलमिलाप करना बेहतर रहेगा।'

शिवसेना-भाजपा गठबंधन से अलग होने के बाद शिवसेना ने राकांपा और कांग्रेस के साथ मिलकर 2019 में महा विकास आघाड़ी सरकार बनाई थी। पिछले साल नवंबर में, ईडी ने धनशोधन के मामले में सरनाईक के महाराष्ट्र स्थित परिसरों पर छापेमारी की थी। यह उल्लेख करते हुए कि मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई शहरों में नगर निकाय चुनाव होने हैं, सरनाईक ने मुख्यमंत्री को लिखे अपने पत्र में कहा, 'अभिमन्यु और कर्ण की तरह स्वयं का बलिदान करने की जगह मैं अर्जुन की तरह युद्ध लड़ने में विश्वास करता हूं। यही कारण है कि अपने नेताओं या सरकार से कोई मदद लिए बिना मैं पिछले सात महीने से अपनी कानूनी लड़ाई लड़ रहा हूं।'

कांग्रेस और राकांपा विधायकों का काम हो रहा

ठाणे जिले से विधायक सरनाईक ने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस और राकांपा शिवसेना में दरार डालने का काम कर रही हैं। उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ फिर से हाथ मिलाना बेहतर रहेगा क्योंकि शिवसैनिकों को लगता है कि यह मेरे जैसे, अनिल परब और रवींद्र वायकर जैसे शिवसेना नेताओं को समस्याओं से बचाएगा।' उल्लेखनीय है कि भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने आरोप लगाया था कि उक्त तीनों शिवसेना नेता भ्रष्ट गतिविधियों में लिप्त हैं। सरनाईक ने अपने पत्र में सोमैया का नाम नहीं लिखा, लेकिन कहा कि 'एक नेता जो शिवसेना की वजह से 'पूर्व सांसद' हो गए हैं' पार्टी की छवि खराब कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि शिवसेना विधायकों को लगता है कि पार्टी के लोगों का काम नहीं हो रहा और केवल कांग्रेस तथा राकांपा के विधायकों का काम ही हो रहा है। 

मुख्यमंत्री का ध्यान कोविड उन्मूलन पर

सरनाईक ने कहा कि मुख्यमंत्री ठाकरे जहां केवल कोविड-19 के उन्मूलन पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस अगले चुनाव में अकेले लड़ने की बात कर रही है तथा राकांपा शिवसेना कार्यकर्ताओं को 'तोड़ने' और उन्हें शरद पवार के नेतृत्व वाली पार्टी में शामिल करने में व्यस्त है। 

सोमैया ने व्यक्त की प्रतिक्रिया

सोमैया ने सरनाईक के पत्र पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि शिवसेना विधायक अब जेल को लेकर चिंतित हैं और इसीलिए उन्होंने मुख्यमंत्री ठाकरे से प्रधानमंत्री मोदी तथा भाजपा से हाथ मिलाने को कहा है। भाजपा नेता ने एक बयान में कहा, 'शिवसेना के सभी भ्रष्ट नेता-प्रताप सरनाईक, अनिल परब और रविंद्र वायकर जेल जाएंगे।' सोमैया ने यह भी कहा कि उन्होंने सरनाईक के पिछले 100 दिन से 'लापता' होने के बारे में ठाणे स्थित एक थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। 

Web Title: Shiv Sena mla advises cm uddhav thackeray in a letter says join hands with bjp

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे