RSS did not propose any new constitution, conspiracy to defame it, FIR lodged | RSS ने कोई नया संविधान प्रस्तावित नहीं किया, यह बदनाम करने की साजिश, एफआईआर दर्ज
यह आरएसएस और आरएसएस प्रमुख को बदनाम करने के लिए किया जा रहा है।

Highlights“नया भारतीय संविधान” शीर्षक वाला एक 15 पृष्ठों का दस्तावेज सोशल मीडिया पर प्रचारित हो रहा है।कोतवाली पुलिस थाने में आरएसएस ने इस मुद्दे पर शिकायत दर्ज कराई है।

सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के चित्र के साथ प्रचारित हो रहे “नए संविधान” के दस्तावेज पर आरएसएस ने यहां कहा कि ऐसे दस्तावेज से उसका कोई लेना देना नहीं है।

आरएसएस नेता श्रीधर गाडगे ने यहां कहा कि यह संगठन को बदनाम करने की साजिश है। उन्होंने कहा कि संघ भारत के संविधान के प्रति पूरी आस्था रखता है और आरएसएस ने कोई नया संविधान प्रस्तावित नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि पीडीएफ फॉर्मेट में “नया भारतीय संविधान” शीर्षक वाला एक 15 पृष्ठों का दस्तावेज सोशल मीडिया पर प्रचारित हो रहा है जिस पर मोहन भागवत का चित्र लगा हुआ है। गाडगे ने कहा, “आरएसएस या आरएसएस अध्यक्ष द्वारा ऐसी कोई पुस्तक प्रकाशित नहीं की गयी है। उस पीडीएफ की सामग्री निंदनीय है और संघ का उससे कोई लेना देना नहीं है।

भारत के संविधान के प्रति संघ की पूरी आस्था है और उसने कोई नया संविधान प्रस्तुत नहीं किया है।” उन्होंने कहा कि यहां कोतवाली पुलिस थाने में आरएसएस ने इस मुद्दे पर शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने कहा, “यह आरएसएस और आरएसएस प्रमुख को बदनाम करने के लिए किया जा रहा है। हम नहीं जानते इसके पीछे कौन है इसलिए हमने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।”

Web Title: RSS did not propose any new constitution, conspiracy to defame it, FIR lodged
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे