Rs 100 crore sanctioned from Women's Desk, Nirbhaya Fund in all police stations across the country, Modi government decides | देशभर के सभी थानों में महिला डेस्क, निर्भया कोष से 100 करोड़ रुपये मंजूर, मोदी सरकार ने लिया फैसला
यह योजना सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में लागू की जाएगी।

Highlightsमहिला सुरक्षा को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। इसके मुताबिक देशभर के सभी थानों में महिला डेस्क बनाए जाएंगे।

केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने कहा कि देशभर में सभी पुलिस स्टेशनों में महिला सहायता डेस्क की स्थापना की जाएगी। निर्भया कोष से 100 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। यह योजना राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा लागू की जाएगी।

महिला सुरक्षा को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। इसके मुताबिक देशभर के सभी थानों में महिला डेस्क बनाए जाएंगे। इन थानों के लिए गृह मंत्रालय ने निर्भया फंड से 100 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। यह योजना सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में लागू की जाएगी।

तेलंगाना में एक महिला पशु चिकित्सक को बलात्कार के बाद जिंदा जलाये जाने की लोमहर्षक वारदात पर देश का गुस्सा अभी थमा भी नहीं था कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गुरुवार तड़के एक कथित बलात्कार पीड़िता को आग के हवाले कर देने की खौफनाक घटना के बाद उसे एयरलिफ्ट कर रारष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ले जाया गया है।

मंडल आयुक्त मुकेश मेश्राम ने भाषा को बताया कि करीब 90 फीसद तक झुलस चुकी 23 वर्षीय युवती को लखनऊ के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, मगर बेहद नाजुक हालत के मद्देनजर उसे देर शाम एयरलिफ्ट कर दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। दूसरी ओर राष्ट्रीय महिला आयोग ने वारदात का स्वत: संज्ञान लेते हुए इस सिलसिले में उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह को नोटिस जारी कर उनसे रिपोर्ट तलब किया है।

उन्नाव के पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने बताया कि जिले के बिहार थाना क्षेत्र की रहने वाली 23 वर्षीय युवती ने शिवम और शुभम नामक युवकों पर 12 दिसम्बर 2018 को बलात्कार करने का मुकदमा दर्ज कराया था। युवती मुकदमे की पैरवी के सिलसिले में रायबरेली रवाना होने के लिये सुबह करीब चार बजे बैसवारा रेलवे स्टेशन जा रही थी कि तभी रास्ते में बिहार—मौरांवा मार्ग पर शिवम और शुभम ने अपने साथियों की मदद से उस पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

लखनऊ के मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम ने बताया कि करीब 90 फीसद तक जल चुकी लड़की को लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, मगर हालत बेहद नाजुक होने की वजह से उसे देर शाम एयरलिफ्ट करके दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। पीड़िता का इल्जाम है कि आरोपी पक्ष मुकदमा वापस लेने के लिए दबाव डाल रहा था और बात न मानने पर उसने इस वारदात को अंजाम दिया। लड़की ने उपजिलाधिकारी दयाशंकर पाठक को दिये गये बयान में शिवम और शुभम के साथियों रामकिशोर, हरिशंकर, और उमेश के नाम भी लिये हैं। इन सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

Web Title: Rs 100 crore sanctioned from Women's Desk, Nirbhaya Fund in all police stations across the country, Modi government decides
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे