राममंदिर जमीन विवादः शिवसेना, भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, मुंबई पुलिस ने पदाधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज की

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: June 16, 2021 09:36 PM2021-06-16T21:36:51+5:302021-06-16T21:38:49+5:30

भारतीय जनता युवा मोर्चा ने ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय को लेकर दादर में शिवसेना भवन की ओर विरोध मार्च निकाला।

Ram Mandir land dispute Clash Shiv Sena BJP workers Mumbai Police registers FIR against mumbai | राममंदिर जमीन विवादः शिवसेना, भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, मुंबई पुलिस ने पदाधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज की

विधायक और महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री शेलार ने भविष्य में कड़ी जवाबी कार्रवाई की चेतावनी दी। (फाइल फोटो)

Next
Highlightsअयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा ‘‘संदिग्ध’’ भूमि खरीद सौदे की जांच की मांग की गई है।ट्रस्ट ने हालांकि इन आरोपों से इनकार किया है।अधिकारी ने बताया कि झड़प के बाद पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है।

मुंबईः अयोध्या में जमीन सौदा विवाद को लेकर शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में ‘आपत्तिजनक’ टिप्पणी के खिलाफ बुधवार को भाजपा की युवा शाखा द्वारा निकाले गए विरोध मार्च के दौरान दादर इलाके में शिवसेना और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई।

कभी सहयोगी रहे दोनों दलों के समर्थकों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया। बाद में आरोप लगाया गया कि शिवसेना कार्यकर्ताओं ने भाजपा की एक महिला सदस्य के साथ मारपीट की। संकट तब शुरू हुआ जब भारतीय जनता युवा मोर्चा ने ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय को लेकर दादर में शिवसेना भवन की ओर विरोध मार्च निकाला।

BJP कार्यकर्ताओं पर हमले के आरोप में मुंबई पुलिस ने शिवसेना पदाधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। संपादकीय में अयोध्या में राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा ‘‘संदिग्ध’’ भूमि खरीद सौदे की जांच की मांग की गई है। ट्रस्ट ने हालांकि इन आरोपों से इनकार किया है। माहिम पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि झड़प के बाद पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है।

उन्होंने बताया कि एक प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। भाजपा नेता आशीष शेलार, मंगल प्रभात लोढ़ा, प्रवीण दारेकर समेत अन्य लोग थाने पहुंचे और शिवसेना कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। विधायक और महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री शेलार ने भविष्य में कड़ी जवाबी कार्रवाई की चेतावनी दी।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं शिवसेना कार्यकर्ताओं को चेतावनी देता हूं कि अगर उन्होंने फिर से हमारे कार्यकर्ताओं पर हमला किया तो जवाबी कार्रवाई की जाएगी।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि शिवसेना कार्यकर्ताओं ने पुलिस की मौजूदगी में भाजपा की एक महिला समर्थक पर भी हमला किया।

महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ शिवसेना के गठबंधन पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा, ‘‘शिवसेना को कभी बाबरी मस्जिद के विध्वंस पर गर्व था, लेकिन अब राजनीतिक कारणों से वह भगवान राम को बदनाम कर रही है। सोनिया या वाद्रा (कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी) अब शिवसेना के भगवान बन गए हैं।’’

शिवसेना विधायक सदा सर्वंकर ने कहा, ‘‘हमें पहले बताया गया था कि भाजपा कार्यकर्ता विरोध करने आ रहे है, बाद में हमें पता चला कि वे सेना भवन में तोड़फोड़ करने आ रहे हैं। इसलिए इसके पास पहुंचने से पहले ही हमने उन्हें रोक दिया।’’

भाजपा समर्थक अक्षदा तेंदुलकर ने आरोप लगाया कि जब वह विरोध प्रदर्शन के बाद अपने वाहन के पास लौट रही थीं, तो अचानक शिवसेना कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला कर दिया और ‘‘पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए कुछ नहीं किया।’’ 

Web Title: Ram Mandir land dispute Clash Shiv Sena BJP workers Mumbai Police registers FIR against mumbai

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे