Rajasthan jaipur CM Ashok Gehlot Dungarpur Teachers recruitment movement raging stone pelting on police and protesters burnt vehicles | डूंगरपुरः शिक्षक भर्ती आंदोलन उग्र, पुलिस पर पथराव, वाहनों को प्रदर्शनकारियों ने फूंका, निषेधाज्ञा लागू
प्रदर्शनकारियों ने उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे जाम कर अनेक गाड़ियां और पेट्रोल पंप फूंक दिये और सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिये गये।

Highlightsउपद्रवियों ने दो बसों पर भी कब्जा कर लिया और अनेक वाहनों को आग के हवाले कर दिया और तोड़फोड़ की। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदर्शन को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। पुलिस की कार्रवाई रुकी वे फिर सड़कों पर आ गए और पुलिस पर पथराव किया जिससे पुलिस को पीछे हटना पड़ा।

जयपुरः राजस्थान में शिक्षक भर्ती के अनारक्षित 1167 पदों को एसटी कोटे से भरने की मांग को लेकर किया जा रहे प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों ने डूंगरपुर में नेशनल हाइवे संख्या 8 पर 24 घंटे से जाम लगाकर बैठ गये। आज प्रदर्शन उस वक्त उग्र हो गया जब प्रदर्शन के दौरान उपद्रवियों ने पुलिस पर अनेक बार पथराव किया।

जिससे पुलिस को पीछे हटना पड़ा। उपद्रवियों ने दो बसों पर भी कब्जा कर लिया और अनेक वाहनों को आग के हवाले कर दिया और तोड़फोड़ की। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदर्शन को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। जानकारी के अनुसार आज सवेरे उपद्रवियों से बात करने पहुंचा प्रतिनिधिमंडल खाली हाथ लौट गया। वहीं, पुलिस को भीड़ को खदेड़ने के लिए रबर की गोलियां चलानी पड़ी, इससे बचने के लिए प्रदर्शनकारी उपद्रवी पहाड़ों पर चढ़ गए और जैसे ही पुलिस की कार्रवाई रुकी वे फिर सड़कों पर आ गए और पुलिस पर पथराव किया जिससे पुलिस को पीछे हटना पड़ा।

प्रदर्शनकारियों ने उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे जाम कर अनेक गाड़ियां और पेट्रोल पंप फूंक दिये

प्रदर्शनकारियों ने उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे जाम कर अनेक गाड़ियां और पेट्रोल पंप फूंक दिये और सीसीटीवी कैमरे भी तोड़ दिये गये। जिले के हाईवे पर सिसोद से मोतलीमोड़ के बीच लगभग 5 किमी के क्षेत्र पर प्रदर्शनकारियों ने कब्जा कर रखा है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि डूंगरपुर में उपद्रव एवं हिंसक प्रदर्शन बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। विरोध करने के संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल हो, शांतिपूर्ण प्रदर्शन हों। लेकिन कानून को अपने हाथ में लेने का किसी को अधिकार नहीं है। प्रदर्शनकारियों से मेरी अपील है कृपया शांति एवं कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करें।

अभ्यर्थी उदयपुर-अहमदाबाद नेशनल हाईवे पर आये थे और अब शुक्रवार शाम तक इनका दायरा उदयपुरके खेरवाड़ा तक पहुंच गया है। कुछ सौ लोगों से शुरू हुए इस प्रदर्शन में अब करीब डेढ़ से दो हजार युवा शामिल हो गये। नेशनल हाईवे 8 पर दो बसों को भी आग के हवाले करने की सूचना मिली है।

इधर, राजधानी जयपुर में शाम को मुख्यमंत्री आवास पर प्रदर्शनकारियों के प्रतिनिधि मंडल के साथ वार्ता हुई। इसमें बीटीपी के दो विधायक भी शामिल हुये। फिलहाल प्रदर्शन जारी है और स्थित जस की तस बनी हुई है।

डूंगरपुर जिले में निषेधाज्ञा लागू, इंटरनेट सेवाएं पर बंद

राजस्थान के डूंगरपुर जिले के बिछीवाड़ा थाना क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग आठ पर उग्र प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार को पुलिस दल पर पथराव किया और कुछ बसों को आग के हवाले कर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। प्रशासन ने एहतियातन जिले में निषेधाज्ञा लगाते हुए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। एक शीर्ष अधिकारी ने इसकी जानकारी दी । जिला कलेक्टर कानाराम ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि अभी स्थिति नियंत्रित है लेकिन राष्ट्रीय राजमार्ग अब भी बंद है।

प्रदर्शनकारियों ने कुछ बसों को आग के हवाले कर दिया। उदयपुर रेंज की पुलिस महानिरीक्षक विनिता ठाकुर ने बताया कि जिले में निषेधाज्ञा लागू की गई है और इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है। इस बीच यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष गणेश घोघरा ने कहा कि जो वातावरण बिगड़ रहा है वह सरकार को बदनाम करने की साजिश है। आदिवासियों को टीएसपी क्षेत्र में जो भी उपर उठाया है वह कांग्रेस की देन है। उन्होंने कहा, ‘‘हम अंहिसा में विश्वास रखते हैं। हम कांग्रेस पार्टी की विचारधारा के हैं और 36 कौमों को साथ लेकर चलते हैं। हम किसी का अधिकार नहीं लेंगे और आदिवासियों को जो संविधान में लिखा है वो अधिकार मिलना चाहिए है।’’

उन्होंने कहा कि प्रशासनिक सेवा में जनसंख्या के आधार पर आरक्षण मिल जाये तो हमारा यह आंदोलन,धरने प्रदर्शन हमेशा के लिये खत्म हो जायेंगे। उल्लेखनीय है कि बृहस्पतिवार शाम को राष्ट्रीय राजमार्ग आठ पर अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) से जुड़ी अपनी मांगों को लेकर उग्र भीड़ ने पुलिस दल पर पथराव किया और पुलिस वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। इस बीच अशोक गहलोत ने ट्वीट के जरिये कहा 'डूंगरपुर में उपद्रव एवं हिंसक प्रदर्शन बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।

विरोध करने के संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल हो,शांतिपूर्ण प्रदर्शन हों लेकिन कानून को अपने हाथ में लेने का किसी को अधिकार नहीं है।प्रदर्शनकारियों से मेरी अपील है कृपया शांति एवं कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करें।' अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला व प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने राजस्थान के डूंगरपुर जिले में प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने व कानून अपने हाथ में नहीं लेने की अपील की है। 

Web Title: Rajasthan jaipur CM Ashok Gehlot Dungarpur Teachers recruitment movement raging stone pelting on police and protesters burnt vehicles
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे