Highlights शुक्रवार को राजस्थान में कोरोना के 390 नए कोरोना संक्रमित सामने आए थे। सर्वाधिक जोधपुर में 57 मिले थे।  बाड़मेर में 2-2, करौली, भीलवाड़ा और टोंक में 1-1 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिला था। वहीं, 10 लोगों की कोरोपा के चलते मौत भी हो गई। प्रदेश में अब तक कुल 8 लाख 69 हजार से अधिक सैंपलों की जांच में कुल 19256 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके है।

जयपुरः राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। 204 नए कोरोना पाॅजीटिव मामलों के राजस्थान में कोरोना मामलों की संख्या बढ़कर 19256 पर पहुंच गई है।

आज सामने आए मामलों में सर्वाधिक 36 मामले बाड़मेर में आए हैं। वहीं, बीकानेर में 25, नागौर में 23, धौलपुर और पाली में 21-21, जयपुर में 17, डूंगरपुर में 13, झुंझुनू और जालौर में 11-11, कोटा में 8, उदयपुर में 4, भरतपुर, दौसा और करौली में 3-3, राजसमंद और सवाई माधोपुर में 1-1 कोरोना संक्रमित मिला। वहीं अन्य राज्यों से प्रदेश में आए 3 लोग भी कोरोना संक्रमित मिले। वहीं, राज्य में तीन लोगों की मौत  होने के बाद अब कुल मृतकों की संख्या 443 पर पहुंच गई।

शुक्रवार को राजस्थान में कोरोना के 390 नए कोरोना संक्रमित सामने आए 

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को राजस्थान में कोरोना के 390 नए कोरोना संक्रमित सामने आए थे। सर्वाधिक जोधपुर में 57 मिले थे। वहीं, जयपुर में 51, भरतपुर में 34, प्रतापगढ़ और कोटा में 32-32, सीकर में 30,   बीकानेर में 28, सिरोही में 24, अजमेर में 21, दौसा में 20, उदयपुर में 17, नागौर में 13, हनुमानगढ़ में 7, राजसमंद में 7, अलवर में 4, झुंझुनू और चूरू में 3-3, सवाई माधोपुर और  बाड़मेर में 2-2, करौली, भीलवाड़ा और टोंक में 1-1 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिला था। वहीं, 10 लोगों की कोरोपा के चलते मौत भी हो गई।  

प्रदेश में अब तक कुल 8 लाख 69 हजार से अधिक सैंपलों की जांच में कुल 19256 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके है। वहीं, इनमें से 15352 मरीज उपचार के बाद पुनः स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं 443 मरीजों की कोरोना के चलते अब तक प्रदेश में मौत हो चुकी है। ऐसे में अब राजस्थान में महज 3461 एक्टिव मामले शेष रहे हैं।

प्रदेश में संक्रमण के सर्वाधिक 3458 (2 इटली के नागरिक) मामले राजधानी जयपुर के हैं। वहीं, जोधपुर में 2919 (इनमें 47 ईरान से आए), भरतपुर में 1708, पाली में 1167, उदयपुर में 756, धौलपुर व कोटा में 722-722, नागौर में 693, अलवर में 602, सीकर में 597, अजमेर में 561, सिरोही में 546, डूंगरपुर में 461, बाड़मेर में 428, बीकानेर में 414, झुंझुनूं में 386, झालावाड़ में 375, चूरू में 331, जालौर में 320, राजसमंद में 275, भीलवाड़ा में 264, चित्तौड़गढ़ में 211 और टोंक में 202 कोरोना के मरीज अब तक मिल चुके हैं।

वहीं, दौसा में 169, जैसलमेर में 129 (इनमें 14 ईरान से आए), सवाई माधोपुर में 109, करौली में 108, बांसवाड़ा में 99, हनुमानगढ़ में 80, प्रतापगढ़ में 74, बारां में 67, श्रीगंगानगर में 59 और बूंदी में 15 कोरोना के मरीज अब तक मिल चुके हैं। वहीं अन्य राज्यों से आए 130 लोग भी अब तक कोरोना पाॅजीटिव मिल चुके हैं।

राजस्थान में कोरोना से अब तक 443 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 163 की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 53, भरतपुर में 39, कोटा में 23, अजमेर में 19, बीकानेर में 16, नागौर में 12, पाली में 9, सिरोही, धौलपुर और सवाई माधोपुर में 7-7, अलवर, सीकर, चित्तौड़गढ़ और भीलवाड़ा में 6-6, बाड़मेर, करौली और बारां में 4-4, झुंझुनू, गंगानगर, दौसा और उदयपुर में 3-3, चूरू, बांसवाड़ा और जालौर में 2-2, डूंगरपुर, राजसमंद, प्रतापगढ़ और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं, दूसरे राज्य से आए 30 व्यक्ति की भी मौत हुई है। 

राजस्थान में 41 हजार से अधिक टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित की - रघु शर्मा

चिकित्सा मंत्री ने आज यहां जानकारी दी कि चिकित्सा विभाग ने 41 हजार से अधिक कोरोना टेस्ट प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है। जल्द ही राज्य में 50 हजार से ज्यादा जांचें भी होने लगेंगी। साथ ही प्रदेश के 20 जिलों में कोरोना टेस्टिंग की भी सुविधा शुरू हो चुकी है, शेष जिलों में ये सुविधा जल्द शुरू होगी।

वहीं राजस्थान कोरोना मरीजों की रिकवरी में मामले में भी देश में अव्वल है और अब रिकवरी रेट बढ़कर 80 प्रतिषत पर पहुंच गई है। डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में पहला कोरोना का मामला सामने आया था तब कोरोना के सैंपल पुणे की लैब में जांचने के लिए भेजे जाते थे।

लेकिन अब हमने 41450 से अधिक जांचें प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है और जल्द ही इसे बढ़ाकर 50 हजार तक किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना पॉजीटिव से निगेटिव होने वालों का रिकवरी रेट 80 प्रतिशत तक पहुंच गया है। प्रदेश में कुल 19256 केसेज में से 15352 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बनाए संस्थागत क्वारैंटाइन सेंटर्स और होम क्वारैंटाइन के जरिए लोग जल्दी स्वस्थ हो रहे हैं। चिकित्सा मंत्री ने कहा कि तेजी से जांच की सुविधा बढाने से रिकवरी में फायदा मिला है। उन्होंने बताया कि हाई रिस्क और हॉटस्पॉट में लोगों को चिन्हित किया गया, साथ ही उनपर पूरी निगरानी रखी गई।

उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक लगभग 9 लाख लोगों का सैंपल लिया जा चुका है। सरकार का पूरा ध्यान सैंपलिंग पर है ताकि कोरोना का प्रसार ना हो सके। उन्होंने बताया कि कोरोना को स्कूलों के पाठ्यक्रम में शामिल करने से आने वाली पीढ़ी जागरूक होगी। 

Web Title: Rajasthan jaipur 19256 Corona case 204 new patients 443 dead
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे