'Question bank' should be given to students going for board exams: parliamentary committee | बोर्ड परीक्षा देने जा रहे छात्रों को ‘क्वेश्चन बैंक’ दिया जाए: संसदीय समिति
बोर्ड परीक्षा देने जा रहे छात्रों को ‘क्वेश्चन बैंक’ दिया जाए: संसदीय समिति

(जतिन टक्कर)

नयी दिल्ली, 12 जनवरी संसद की एक समिति ने मंगलवार को शिक्षा मंत्रालय को सुझाव दिया कि 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को बड़ा ‘क्वेश्चन बैंक’ दिया जाए और बोर्ड परीक्षाओं में इन्हीं में से प्रश्न दिये जाएं, ताकि कोरोना वायरस महामारी के चलते पढ़ाई अधूरी रह जाने की भरपाई की जा सके।

शिक्षा से संबंधित स्थायी समिति से जुड़े सूत्रों ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि स्कूली शिक्षा पर कोविड-19 के असर पर मंत्रालय के अधिकारियों ने समिति को जानकारी दी।

ऐसी खबरें आती रही हैं कि इंटरनेट की सुविधा नहीं होने के कारण बहुत सारे बच्चे डिजिटल कक्षाओं के माध्यम से पढ़ाई नहीं कर पाए।

सूत्रों के मुताबिक, समिति के सदस्यों ने गरीब परिवारों के बच्चों के लिए ऑनलाइन कक्षाओं की व्यावहारिकता पर भी सवाल खड़े किए।

समिति के अध्यक्ष और भाजपा सांसद विनय सहस्रबुद्धे ने कहा कि मंत्रालय को विज्ञापनों और अन्य माध्यमों से दूरदर्शन एवं आकाशवाणी द्वारा विभिन्न विषयों की पढ़ाई का प्रसारण किए जाने का प्रचार-प्रसार करना चाहिए था।

सूत्रों ने बताया कि भाजपा सांसद ने दूरदर्शन और आकाशवाणी को इंटरनेट सुविधा के मुकाबले ज्यादा किफायती करार दिया और कहा कि इन दोनों माध्यमों की देश में व्यापक पहुंच है।

उल्लेखनीय है कि शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने पिछले दिनों घोषणा की थी कि 10वीं और 12वीं कक्षाओं की बोर्ड परीक्षा इस बार पांच मई से 21 जून के बीच होगी।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: 'Question bank' should be given to students going for board exams: parliamentary committee

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे