Priyanka demanded to provide electricity at half the cost to farmers of UP | प्रियंका ने उप्र के किसानों को आधे दाम पर बिजली उपलब्ध कराने की मांग की
प्रियंका ने उप्र के किसानों को आधे दाम पर बिजली उपलब्ध कराने की मांग की

नयी दिल्ली / लखनऊ, छह नवंबर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने उत्तर प्रदेश में बिजली दरों में बढ़ोतरी के मुद्दे को लेकर शुक्रवार को प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा और बिजली बिल में बढ़ोतरी को कम करने तथा किसानों को आधे दाम पर बिजली मुहैया कराए जाने की मांग की।

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि राज्य में बिजली की बढ़ी हुई दर एवं बिजली मीटरों का आतंक व्याप्त है।

इसको लेकर उन पर पलटवार करते हुए उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि देश को 70 वर्ष तक अंधेरे में रखने वाली कांग्रेस का बिजली पर दिया गया बयान हास्‍यास्‍पद है।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका ने एक बयान में कहा, ‘‘पूरे उत्तर प्रदेश में बिजली के बढ़ते बिलों और बिजली मीटरों का आतंक व्याप्त है। पिछले कुछ वर्षों में बिजली दरों में व्यापक बढ़ोतरी हुई है।’’

प्रियंका गांधी वाद्रा ने दावा किया, ‘‘पिछले आठ साल में ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं की बिजली दरों में 500 फीसदी, शहरी घरेलू बिजली की दरों में 84 फीसदी और किसानों को मिलने वाली बिजली की दरों में 126 फीसदी की वृद्धि हुई है। पूरे प्रदेश में बिजली के बढ़ते रेट से हाहाकार मचा हुआ है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश तो बिजली मीटरों के लिए प्रयोगशाला बन गया है। बिजली के मीटर कई गुना तेज चलते पाए गए हैं। जिन घरों में ताले लगे हुए हैं, बिजली की कोई खपत नहीं हुई है, उन घरों में सात-आठ हजार रुपये तक का बिल आ रहा है। प्रदेश के कई जिलों में तो यह भी देखा गया कि बिना बिजली के मीटर लगे ही बिल आ गए।’’

कांग्रेस महासचिव ने आग्रह किया, ‘‘इस महामारी में होना तो यह चाहिए कि बिजली बिलों की दरों में बड़े पैमाने पर कमी करके जनता को राहत दी जाती। किसानों के बिजली के बिल माफ किए जाते। बुनकरों-दस्तकारों, छोटे लघु उद्योगों को बिजली बिल भुगतान में रियायत मिलती।’’

प्रियंका गांधी ने सहारनपुर में पराली जलाने पर किसानों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई संबंधी खबर को लेकर भी भाजपा सरकार पर निशाना साथा।

उन्होंने सवाल किया, ‘‘ क्या प्रदूषण के लिए सिर्फ किसान जिम्मेदार हैं? प्रदूषण फैलाने के असली जिम्मेदारों पर कार्रवाई कब होगी? किसान का वोट- कानूनी, किसान का धान- कानूनी, किसान की पराली- गैरकानूनी ?’’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘‘उप्र सरकार ने सहारनपुर में किसानों को जेल में डाला, उन्हें छुड़वाने के लिए कांग्रेस के साथियों का धन्यवाद।’’

उत्तर प्रदेश के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने प्रियंका पर पलटवार करते हुए कहा कि देश को 70 वर्ष तक अंधेरे में रखने वाली कांग्रेस का बिजली पर दिया गया बयान हास्‍यास्‍पद है।

उन्‍होंने कहा कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा)और समाजवादी पार्टी (सपा) की सरकारों और बिजली कंपनियों द्वारा किये गये महंगे करार और आर्थिक अनियमितता ने प्रदेश की बिजली व्‍यवस्‍था को गर्त में धकेलने का काम किया है।

शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, ''साढ़े तीन वर्ष में भाजपा सरकार ने बिजली के साथ ही प्रदेश की विकास की गाड़ी को भी पटरी पर ला दिया है।''

उन्होंने कहा कि बहन प्रियंका द्वारा की गई टिप्पणियां राजनीति से प्रेरित हैं और सुर्खियों में बने रहने की प्रतिस्पर्धा से इतर कुछ भी नहीं हैं।

मंत्री ने कहा, ‘‘प्रियंका जी को तो अंधेरे का अहसास नहीं होगा, प्रदेश को तो छोड़ ही दीजिए, कांग्रेस पार्टी अमेठी और रायबरेली के घरों में भी उजाला नहीं पहुंचा पाई।''

शर्मा ने दावा किया कि प्रदेश में भाजपा की सरकार ने 70 वर्षों से अंधेरे का सामना कर रहे 1.30 लाख मजरों के 1.38 करोड़ घरों में उजाला पहुंचाया है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Priyanka demanded to provide electricity at half the cost to farmers of UP

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे