मप्र के महू स्थित आम्बेडकर जन्म स्मारक को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करेंगे प्रधानमंत्री, राज्य सरकार तैयारी में जुटी

By भाषा | Published: November 24, 2021 08:57 PM2021-11-24T20:57:35+5:302021-11-24T20:57:35+5:30

Prime Minister will declare Ambedkar birth memorial located in Mhow, MP as a national heritage, the state government is preparing | मप्र के महू स्थित आम्बेडकर जन्म स्मारक को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करेंगे प्रधानमंत्री, राज्य सरकार तैयारी में जुटी

मप्र के महू स्थित आम्बेडकर जन्म स्मारक को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करेंगे प्रधानमंत्री, राज्य सरकार तैयारी में जुटी

Next

इंदौर, 24 नवंबर संविधान निर्माता डॉ. भीम राव आम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस (पुण्यतिथि) पर छह दिसंबर को मध्यप्रदेश के महू स्थित उनके जन्म स्मारक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया जाएगा और इसके मद्देनजर राज्य सरकार इस स्मारक के विकास का नया खाका बनाने में जुट गई है।

राज्य सरकार के जनसंपर्क विभाग की ओर से बुधवार को जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई।

विज्ञप्ति में बताया गया कि आम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर उनके महू स्थित जन्म स्मारक और उनके जीवन से जुड़े चार अन्य अहम स्थानों को प्रधानमंत्री द्वारा वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया जाएगा।

विज्ञप्ति में बताया गया कि इंदौर के जिलाधिकारी मनीष सिंह ने इस कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने के लिए महू के आम्बेडकर जन्म स्मारक का दौरा किया और अफसरों को जरूरी निर्देश दिए।

विज्ञप्ति के मुताबिक जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय धरोहर के रूप में इस स्मारक का रख-रखाव करने के लिए राज्य सरकार के अनुसूचित जाति विकास विभाग के आयुक्त से आवश्यक बजट मंजूर करने का अनुरोध भी किया है।

विज्ञप्ति में बताया गया कि लाखों लोगों की आस्था के इस केंद्र के विकास की नयी योजना में भवन में सुधार और रख-रखाव के नियमित कामों के अलावा, आम्बेडकर के अस्थि कलश स्मारक की स्थापना, उनके द्वारा संसद में दिए गए भाषणों को एक दीर्घा में प्रस्तुत किया जाना, विशाल तिरंगा झंडा लगाना आदि शामिल है।

गौरतलब है कि आम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर केंद्र सरकार ‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ अभियान के तहत ‘‘पंचतीर्थ’’ कार्यक्रम आयोजित कर रही है। इस कार्यक्रम के तहत छह दिसंबर को विभिन्न सोशल मीडिया मंचों के जरिये लोगों को "पंचतीर्थ" (महू समेत आम्बेडकर के जीवन से जुड़े पांच प्रमुख स्थान) के दर्शन भी कराए जाएंगे।

"दलितों के मसीहा" के रूप में मशहूर आम्बेडकर ने ब्रितानी राज के सैन्य अफसर रामजी मालोजी सकपाल और भीमाबाई की संतान के रूप में 14 अप्रैल 1891 को महू के काली पलटन इलाके में जन्म लिया था।

प्रदेश सरकार ने उनकी इस जन्मस्थली पर बनाए गए स्मारक को 14 अप्रैल 2008 को उनकी 117वीं जयंती के मौके पर लोकार्पित किया था।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Prime Minister will declare Ambedkar birth memorial located in Mhow, MP as a national heritage, the state government is preparing

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे