मूल्य वृद्धि: राहुल के आरोपों पर भाजपा का पलटवार, झूठ बोलने, मिथ्या फैलाने का लगाया आरोप

By भाषा | Published: September 1, 2021 08:40 PM2021-09-01T20:40:54+5:302021-09-01T20:40:54+5:30

Price hike: BJP retaliates on Rahul's allegations, accused of lying, spreading lies | मूल्य वृद्धि: राहुल के आरोपों पर भाजपा का पलटवार, झूठ बोलने, मिथ्या फैलाने का लगाया आरोप

मूल्य वृद्धि: राहुल के आरोपों पर भाजपा का पलटवार, झूठ बोलने, मिथ्या फैलाने का लगाया आरोप

Next

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को ईंधन की कीमतों में वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उन पर पलटवार करते हुए ‘‘झूठ बोलने’’ और ‘‘मिथ्या प्रचार’’ करने का आरोप जड़ दिया। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार जब केंद्र की सत्ता में थी तब एक जनवरी 2014 को रसोई गैस की कीमत 1241 रुपये थी जबकि उसी साल मार्च के महीने में इसकी कीमत 1080 रुपये थी। इनके मुकाबले अभी रसोई गैस की कीमत 834 रुपये हैं। उन्होंने दावा किया कि राहुल गांधी ने संप्रग सरकार के दौरान जो रसेाई गैस के मूल्य बताए वह सब्सिडी वाले थे जबकि भाजपा सरकार के दौरान वाले मूल्य बगैर सब्सिडी वाले रसोई गैस के थे। उन्होंने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘राहुल गांधी ने एक बार फिर वही कहा जिसके लिए वह जाने जाते हैं। उन्होंने मिथ्या प्रचार किया है और झूठ बोला है।’’ उन्होंने कांग्रेस नेता पर प्रस्तावित मुद्रीकरण नीति पर भी भ्रामक जानकारी फैलाने का आरोप लगाया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन के बयान का हवाला देते हुए पात्रा ने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार को संप्रग शासन के दौरान 1.4 लाख करोड़ रू के तेल बांड जारी करने का खामियाजा भी विरासत में मिला है। राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा, ‘‘जिन्होंने भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद और नीति निर्धारण के संकट वाली सरकार चलाई, वह भारत के विकास दर (जीडीपी) को लेकर मिथ्या फैला रहे हैं।’’ उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी में 20.1 प्रतिशत की ‘‘ऐतिहासिक’’ वृद्धि हुई है । उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्णायक नेतृत्व को दर्शाता है।पात्रा ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी मुद्रीकरण के जरिए संपत्तियों को बेचने के बारे में झूठ फैला रहे हैं। उन्होंने दावा कि इससे मिलने वाले पैसे जनता के हित में उपयोग होंगे और संपत्तियों का मालिकाना हक सरकार के पास ही रहेगा। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि राहुल गांधी से जब एक पत्रकार ने पूछा कि क्या कांग्रेस शासित राज्य ईंधन की कीमतों को कम करने के लिए मूल्य वर्धित कर (वैट) कम करेंगे, तो उन्होंने इसका कोई सीधा जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा, ‘‘इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस सिर्फ बातें करती है लेकिन काम कुछ नहीं करती।’’ इससे पहले, राहुल गांधी ने रसोई गैस, डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि पिछले सात सालों में इन उत्पादों के दाम बढ़ाकर 23 लाख करोड़ रुपए अर्जित किए गए हैं। गांधी ने आरोप लगाया कि किसान, वेतनभोगी वर्ग और श्रमिकों से धन लिया जा रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुछ उद्योगपति मित्रों की कमाई बढ़ाई जा रही है। गांधी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की नई अवधारणा पेश की है, जिसके अनुसार जीडीपी बढ़ने का अर्थ गैस, डीजल और पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि से है। उल्लेखनीय है कि सब्सिडी वाली रसोई गैस सहित सभी श्रेणियों में एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में बुधवार को 25 रुपये प्रति सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई। दो महीनों से भी कम समय में दरों में तीसरी बार बढ़ोतरी की गई है।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Price hike: BJP retaliates on Rahul's allegations, accused of lying, spreading lies

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे