President Ram Nath Kovind gives nod to 10% quota bill for economically weaker section in general category | 10 फीसदी सवर्ण आरक्षण बिल पर राष्ट्रपति की मंजूरी, एक हफ्ते में कानून को मिलेगी मान्यता
10 फीसदी सवर्ण आरक्षण बिल पर राष्ट्रपति की मंजूरी, एक हफ्ते में कानून को मिलेगी मान्यता

लोकसभा और राज्य सभा से में सवर्ण आरक्षण बिल पास होने के बाद आज राष्ट्रपति ने भी मंजूरी दे दी है। केंद्र सरकार ने अधिसूचना जारी करके यह घोषणा किया है। बताया जा रहा है कि सवर्ण आरक्षण कानून को एक हफ्ते में मान्यता भी मिल जाएगी। अधिसूचना के मुताबिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गरीब सामान्य वर्ग को दिया जाने वाला 10 फीसदी आरक्षण को मंजूरी दे दी है। 


लोकसभा में पास हो चुका है सवर्ण आरक्षण बिल 

सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के प्रावधान वाले ऐतिहासिक संविधान संशोधन विधेयक को मंगलवार को 3 के मुकाबले 323 मतों से लोकसभा की मंजूरी मिल गयी। 

लोकसभा में विपक्ष सहित लगभग सभी दलों ने 'संविधान (124 वां संशोधन) , 2019'  विधेयक का समर्थन किया। साथ ही सरकार ने दावा किया कि कानून बनने के बाद यह न्यायिक समीक्षा की अग्निपरीक्षा में भी खरा उतरेगा क्योंकि इसे संविधान संशोधन के जरिये लाया गया है।

लोकसभा में केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने विधेयक पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी सरकार बनने के बाद ही गरीबों की सरकार होने की बात कही थी और इसे अपने हर कदम से उन्होंने साबित भी किया। उनके जवाब के बाद सदन ने 3 के मुकाबले 323 मतों से विधेयक को पारित कर दिया।

English summary :
After the Upper Caste Reservation Bill (General Category Reservation Bill) was passed in Lok Sabha and Rajya Sabha, President Ram Nath Kovind has also approved it. The Central Government has announced this by issuing notification. It is being reported that the Upper Caste reservation law for the economically weaker section will get recognition in a week. According to the notification, President Ram Nath Kovind has approved 10 per cent reservation for the poor from general category.


Web Title: President Ram Nath Kovind gives nod to 10% quota bill for economically weaker section in general category
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे