PM narendra Modi emphasizes on the use of matka instead of plastic bottle for drinking water | PM मोदी ने पीने के पानी के लिए प्लास्टिक की बोतल की जगह मटका के उपयोग पर दिया बल
नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

Highlightsबड़े लक्ष्य की चुनौती को स्वीकार करते हुए अधिक से अधिक रेहड़ी वालों को योजना का लाभ दिलवाया जाए।सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस योजना के शानदार क्रियान्वयन की प्रशंसा की है।पीएम नरेंद्र मोदी ने इन लाभार्थियों को बधाई और शुभकामनाएं प्रदान कीं।

भोपाल: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को ‘प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना’ के तहत लाभान्वित मध्य प्रदेश के रेहड़ी-ठेले वालों से संवाद किया और उनसे पीने के पानी के लिए प्लास्टिक की बोतलों की जगह मटकों का उपयोग करने पर बल दिया। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सीधे किये गये इस संवाद में मोदी ने झाड़ू बनाकर ठेले पर बेचने वाले इन्दौर जिले के सांवेर के लाभार्थी छगनलाल वर्मा एवं उसकी पत्नी, पानी-पुरी एवं टिक्की का ठेला लगाने वाले ग्वालियर की अर्चना शर्मा और रायसेन जिले के सांची में जैविक सब्जियों के विक्रय करने वाले डालचंद कुशवाह से चर्चा की। मोदी ने सबसे पहले छगनलाल से बात की।

छगनलाल झाड़ू बेचने का कार्य करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने छगनलाल को झाड़ू के निर्माण में लगने वाली सामग्री, प्राप्त हो रहे लाभ के बारे में चर्चा की। लाभार्थी छगनलाल ने बताया कि उन्हें झाड़ू बनाने के लिए किसानों से खजूर के पत्ते और झाड़ू निर्माण में आवश्यक लोहे का तार, नायलोन और पाइप आदि बाजार से खरीदना होता है।

प्रधानमंत्री मोदी ने छगनलाल को सुझाव दिया कि वह पुराने झाड़ू की पाइप अच्छी स्थिति में होने पर ग्राहकों से वापस लेकर नए झाड़ू में प्रयुक्त कर अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इससे झाड़ू की कीमत भी कुछ कम हो जाएगी। मोदी ने छगनलाल से कहा कि प्लास्टिक को बंद करना है। आपके ठेले में पानी पीने के लिए बोतल दिख रही है।

घर से मटका लेकर नहीं भर सकते हो क्या? इस पर छगनलाल ने कहा कि सर आपने अच्छी राय दी है। मोदी ने उसे सलाह दी कि पर्यावरण को बचाने के लिए बोतल की जगह मटके में पानी भरकर लाएं। छगनलाल ने मोदी से कहा कि वह अपने इस कारोबार को और बढ़ाना चाहते हैं। मोदी ने छगनलाल से उज्ज्वला योजना सहित अन्य योजनाओं से मिल रहे लाभ की भी जानकारी प्राप्त की।

मोदी ने बातचीत के क्रम में ग्वालियर की अर्चना शर्मा एवं उसके पति राजेन्द्र शर्मा एवं दो बच्चों से भी बातचीत की। पानी पुरी टिक्की का ठेला लगाने वाले शर्मा परिवार ने बताया कि उन्हें इस योजना से 10,000 रुपये का ऋण बिना परेशानी के प्राप्त हो गया। प्रधानमंत्री ने अर्चना से प्रश्न पूछा कि उन्हें योजना की जानकारी कैसे मिली? उत्तर में अर्चना ने कहा कि ऐसा ही छोटा-मोटा व्यवसाय करने वाले लोगों से उन्हें प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की जानकारी मिली।

अस्वस्थ चल रहे अर्चना के पति राजेन्द्र शर्मा से भी मोदी ने बातचीत की और उनके शीघ्र पूर्ण स्वस्थ होने की कामना की। मोदी ने अर्चना से कहा कि आपने बहादुरी के साथ अपने छोटे से कारोबार को संभाला है जो समाज को प्रेरित करने वाला कार्य है। प्रधानमंत्री ने अर्चना से कहा कि आपने साफ सफाई रखी है। आपके यहां लोग आते रहेंगे।

कभी हम (मोदी) ग्वालियर आएंगे तो क्या हमें भी आपकी बनाई टिक्की खाने को मिलेगी? मोदी ने अर्चना से पूछा कि आयुष्मान भारत योजना के बारे में क्या आपको पता है? इस पर अर्चना ने कहा कि मेरे पति का इलाज उसी से चल रहा है। मेरे पैसे उनके इलाज पर खर्च नहीं हो रहे हैं। इस पर मोदी ने कहा कि कोई तकलीफ हो तो आप मुझे चिट्ठी लिख सकती हो।

मोदी ने अर्चना के पति राजेन्द्र शर्मा से भी बात कर उनसे उनकी तबियत के बारे में जानकारी ली। राजेन्द्र ने मोदी को बताया कि आयुष्मान भारत योजना से बहुत लाभ मिल रहा है। इस पर मोदी ने कहा कि पूरा उपचार कर लेना। आप बहुत जल्दी ठीक हो जाएंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री ने रायसेन जिले के सांची में जैविक सब्जियों के विक्रय से जुड़े प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के लाभार्थी डालचंद कुशवाह से भी चर्चा की।

मोदी ने कुशवाह को कहा, ‘‘आपकी आयु कम है, पर हिम्मत बहुत है। आप अपने कारोबार को बड़े स्वरूप में चलाईये। आपको पूरी सहायता प्राप्त होगी।’’ प्रधानमंत्री ने कुशवाह द्वारा ठेले पर चल रही छोटी सी दुकान पर क्यूआर कोड के इस्तेमाल की खुली प्रशंसा करते हुए कहा कि अनेक बड़े व्यापारी भी इतने आत्मविश्वास से कारोबार नहीं कर पाते हैं।

मोदी ने इन लाभार्थियों को बधाई और शुभकामनाएं प्रदान कीं। डिजिटल कार्यक्रम के पश्चात मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों से कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में पांच लाख रेहड़ी-ठेले वालों को लाभान्वित करने का लक्ष्य पूर्ण किया जाए। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में स्ट्रीट वेंडर्स को चिह्नित करने का कार्य बड़े पैमाने पर हुआ है।

जिन आवेदकों को अभी ऋण प्राप्त नहीं हुआ है, उन्हें लाभान्वित करने की कार्रवाई तेज की जाए। बड़े लक्ष्य की चुनौती को स्वीकार करते हुए अधिक से अधिक रेहड़ी वालों को योजना का लाभ दिलवाया जाए। चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने इस योजना के शानदार क्रियान्वयन की प्रशंसा की है। इस नाते मध्य प्रदेश सरकार का यह प्रयास रहेगा कि यह योजना सफलता के और भी नए आयाम प्राप्त करे। 

Web Title: PM narendra Modi emphasizes on the use of matka instead of plastic bottle for drinking water
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे