pilot Deepak Sathe who lost his life in Kerala Kozhikode Plane Crash had services in AIR force | केरल विमान हादसे में जान गंवाने पायलट भारतीय वायुसेना में दे चुके थे सेवाएं, 'स्वॉर्ड ऑफ ऑनर' से थे सम्मानित
पायलट विंग कमांडर दीपक वसंत साठे, जिनकी केरल कोझीकोड विमान हादसे में मौत हो गई।

Highlightsएअर इंडिया एक्सप्रेस ने एक बयान में कहा कि यह दुर्घटना शाम सात बजकर 41 मिनट पर हुई और लैंडिंग के समय आग लगने की कोई सूचना नहीं थी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से विमान हादसे पर बात की है दुख प्रकट किया है।

नई दिल्ली: दुबई से केरल आ रहा एयर इंडिया का विमान केरल के कोझिकोड इंटरनेशनल एयरपोर्ट के रनवे पर दुर्घटना का शिकार हो गया। विमान रनवे से फिसलने के बाद 50 फीट गहरी घाटी में जा गिरी। विमान दो हस्सों में बंट गया था। प्लेन में कुल 191 लोग सवार थे। विमान के दोनों पायलट सहित अबतक 17 लोगों की मौत की खबर है। 100 लोग घायल हैं, जिसमें से 15 की हालत गंभीर बताई जा रही है। विमान के मुख्य पायलट विंग कमांडर दीपक वसंत साठे  (Deepak Sathe) विमान थे। कैप्टन दीपक साठे राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए) के पूर्व छात्र थे और भारतीय वायुसेना (एयरफोर्स) में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

केरल विमान हादसा: पायलट दीपक वसंत साठे  'स्वॉर्ड ऑफ ऑनर' से थे सम्मानित 

विंग कमांडर दीपक वसंत साठे सोशल मीडिया पर चर्चाओं में आ गए हैं। विंग कमांडर दीपक वसंत साठे पूर्व भारतीय वायुसेना पायलट थे, जिन्होंने एयर इंडिया एक्सप्रेस से पहले एयर इंडिया के लिए सेवाएं दी थीं। यही नहीं वह एक पुरस्कृत पायलट थे जिन्हें बोइंग 737 विमानों को उड़ाने का काफी अनुभव था। पायलट दीपक साठे को एयरफोर्स अकैडमी का प्रतिष्ठित 'स्वॉर्ड ऑफ ऑनर' से भी सम्मानित किया जा चुका था। 

पायलट दीपक साठे के पिता सेना में थे ब्रिगेडियर

बताया जा रहा है कि एयरफोर्स की नौकरी के बाद दीपक साठे ने एयर इंडिया की कॉमर्शियल सर्विसेज जॉइन कर ली थी। पायलट दीपक साठे के पिता सेना में ब्रिगेडियर थे। उन्‍होंने अपना दूसरा बेटा किसी हादसे में खोया है। उनके पहले बेटे करगिल युद्ध में शहीद हो चुके हैं।

पायलट विंग कमांडर दीपक वसंत साठे (फाइल फोटो)
पायलट विंग कमांडर दीपक वसंत साठे (फाइल फोटो)

एयर इंडिया के बेहतरीन पायलट्स में से एक दीपक साठे

विमान हादसे में मारे गए दीपक साठे देश के उन बेहतरीन पायलट्स में से एक थे, जिन्होंने एयर इंडिया के एयरबस 310 विमान और बोइंग 737 को उड़ाया था। एयर इंडिया के अफसरों के मुताबिक, दीपक एयर इंडिया के बेहतरीन पायलट्स में से एक थे। 

एयर मार्शल भूषण गोखले (सेवानिवृत्त) ने बताया, ‘‘कैप्टन दीपक साठे राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, पुणे के 58वें पाठ्यक्रम से थे। वह जूलियट स्क्वाड्रन से थे। उन्होंने कहा कि साठे जून 1981 में एयर फोर्स एकेडमी से सोर्ड ऑफ ऑनर के साथ उत्तीर्ण हुए थे और भारतीय वायु सेना में एक लड़ाकू पायलट थे। उन्होंने कहा कि साठे एक उत्कृष्ट स्क्वैश खिलाड़ी भी थे। 

भारी बारिश की वजह से हुआ विमान हादसा

एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान दुबई से कालीकट आ रहा था, जब ये हादसा हुआ। केरल में भारी बारिश के चलते एयर इंडिया के विमान का हादसा हुआ। यह विमान रनवे पर फिसल गया था। हादसे के बाद विमान दो हिस्‍सों में बंट गया है। विमान दुबई से यात्रियों को वंदे भारत मिशन के तहत कोझीकोड लेकर आ रहा था।

केरल विमान हादसा, फोटो- सोर्स- ANI
केरल विमान हादसा, फोटो- सोर्स- ANI

एयर इंडिया एक्सप्रेस ने एक बयान में कहा कि यह दुर्घटना शाम सात बजकर 41 मिनट पर हुई और लैंडिंग के समय आग लगने की कोई सूचना नहीं थी। नागर विमानन मंत्रालय ने कहा कि बी737 द्वारा दुबई से संचालित उड़ान संख्या आईएक्स1344 शुक्रवार को कोझीकोड में शाम सात बजकर 41 मिनट पर रनवे पर फिसल गई। 

मंत्रालय ने कहा, विमान में 174 यात्री, 10 नवजात, दो पायलट और चालक दल के पांच सदस्य थे।  डीजीसीए के बयान में कहा गया कि हवाईपट्टी-10 पर उतरने के बाद विमान रुका नहीं और हवाईपट्टी के अंत तक पहुंचकर खाई में गिरने के बाद दो हिस्सों में टूट गया।

Web Title: pilot Deepak Sathe who lost his life in Kerala Kozhikode Plane Crash had services in AIR force
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे