पेगासस:कांग्रेस ने कई राज्यों में प्रदर्शन किए,मामले की न्यायालय की निगरानी में जांच की मांग की

By भाषा | Published: July 23, 2021 12:16 AM2021-07-23T00:16:32+5:302021-07-23T00:16:32+5:30

Pegasus: Congress demonstrated in many states, demanded a court-monitored inquiry into the matter | पेगासस:कांग्रेस ने कई राज्यों में प्रदर्शन किए,मामले की न्यायालय की निगरानी में जांच की मांग की

पेगासस:कांग्रेस ने कई राज्यों में प्रदर्शन किए,मामले की न्यायालय की निगरानी में जांच की मांग की

Next

नयी दिल्ली, 22 जुलाई कांग्रेस ने इजराइल के स्पाइवेयर पेगासस के जरिए फोनों की कथित तौर पर जासूसी के किये जाने के मामले की उच्चतम न्यायालय की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग करते हुए बृहस्पतिवार को देश में कई स्थानों पर प्रदर्शन किए और इस मुद्दे पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का इस्तीफा मांगा।

पार्टी की प्रदेश इकाइयों ने फोन की कथित रूप से असंवैधानिक रूप से हैकिंग कर जासूसी किए जाने के विरोध में विभिन्न राज्यों के राजभवनों तक मार्च किए।

पार्टी की ओर से जारी वक्तव्य में बताया गया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जम्मू, जयपुर, कोलकाता, विजयवाड़ा, पटना, रांची, बेंगलुरु, चंडीगढ़, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, रायपुर, लखनऊ और देहरादून में विरोध मार्च किए और वे धरने पर बैठे।

कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने गृह मंत्री शाह के तत्काल इस्तीफे की मांग की। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस मामले में भूमिका की जांच और उच्चतम न्यायालय की निगरानी में मामले की न्यायिक जांच की मांग की।

पार्टी ने कहा, ‘‘कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के फोन टैप की खबर के बाद कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं में बहुत अधिक रोष है। जासूसी के कायरतापूर्ण और कपटपूर्ण कृत्य जिसकी निगरानी सूची में कई पत्रकार भी शामिल हैं, उसे लेकर लोगों में बहुत नाराजगी है।’’

कांग्रेस ने सरकार से सवाल किया कि क्या ये हैकिंग मोदी सरकार के इशारों पर की गई, यदि नहीं तो सरकार जांच के आदेश क्यों नहीं देती ताकि केंद्रीय मंत्रियों, न्यायाधीशों और विपक्ष के कई नेताओं की जासूसी करवाने के पीछे जिम्मेदार लोगों और संगठनों का पता लगाया जा सके।

कांग्रेस ने वक्तव्य में कहा, ‘‘ये खबरें हैरान करने वाली हैं जिनमें देश के कैबिनेट मंत्रियों, संवैधानिक पदों पर आसीन अधिकारियों, भारत के सुरक्षा बलों के वर्तमान और पूर्व प्रमुख, विपक्ष के वरिष्ठ नेताओं, पत्रकारों, वकीलों, कार्यकर्ताओं के मोबाइल फोन की अवैध और असंवैधानिक रूप से हैकिंग कर जासूसी किए जाने का खुलासा हुआ है। इससे, भारतीय जनता पार्टी की सरकार से लोगों का भरोसा डगमगा गया है।’’

कांग्रेस ने विरोध दर्ज कराने के लिए सभी प्रदेश इकाइयों में संवाददाता भी सम्मेलन किए।

कथित जासूसी की खबरों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने कहा, ‘‘यह हमारे देश की लोकतांत्रिक बुनियाद पर हमला है। इसकी गहन जांच होनी चाहिए और दोषियों की पहचान कर उन्हें दंडित किया जाना चाहिए।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Pegasus: Congress demonstrated in many states, demanded a court-monitored inquiry into the matter

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे