'Parents constantly appeal to their children admitted to terrorist groups to leave the path of violence' | ‘आतंकी समूहों में भर्ती हुए अपने बच्चों से हिंसा का रास्ता छोड़ने की लगातार अपील करें अभिभावक’
‘आतंकी समूहों में भर्ती हुए अपने बच्चों से हिंसा का रास्ता छोड़ने की लगातार अपील करें अभिभावक’

श्रीनगर, 11 अप्रैल कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) विजय कुमार ने घाटी में हाल में आतंकी समूहों का दामन थामने वाले आतंकवादियों के माता-पिता से कहा है कि उन्हें अपने बच्चों से हिंसा का रास्ता छोड़ने का लगातार अनुरोध करना चाहिए, न कि आखिरी अपील करनी चाहिए।

उन्होंने कहा, “अभिभावकों को नए भर्ती आतंकवादियों से वापस लौटने की लगातार अपील करते रहना चाहिए। यह अनुरोध नियमित किया जाना चाहिए। अभिभावकों को सिर्फ तब आखिरी अपील करने तक सीमित नहीं रहना चाहिए, जब उनके बच्चे मुठभेड़ में फंस जाते हैं।”

पुलिस महानिरीक्षक की यह टिप्पणी शोपियां में शनिवार को मुठभेड़ में फंसे आतंकवादियों से हथियार डालने के लिये बार-बार अपील किये जाने के बाद आयी है। मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए- एक शनिवार को और दो रविवार को।

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि बलों ने अधिकतम संयम दिखाया और यहां तक कि मुठभेड़ स्थल पर चारों तरफ से घिर चुके एक छिपे हुए आतंकवादी फैसल गुलजार के परिजनों को लेकर भी आए, जिससे आत्मसमर्पण के लिए उसे तैयार किया जा सके।

अधिकारी ने कहा कि परिवार के सदस्यों के बार-बार अनुरोध और सुरक्षा बलों के आश्वासन के बावजूद अन्य आतंकवादियों ने उसे आत्मसमर्पण करने की इजाजत नहीं दी।

पुलिस सूत्रों ने कहा कि गुलजार नाबालिग था और वह हाल में आतंकी समूह का हिस्सा बना था।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: 'Parents constantly appeal to their children admitted to terrorist groups to leave the path of violence'

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे