pappu yadav wife ranjeet ranjan warns cm nitish kumar | पप्‍पू यादव की पत्‍नी बोलीं- साजिशकर्ता और एंबुलेंस चोर को सड़क पर नहीं लाई तो मेरा नाम रंजीत रंजन नहीं!
पप्पू यादव की पत्नी व पूर्व सांसद रंजीता रंजन।(फोटो सोर्स- सोशल मीडिया)

Highlightsपटना हाईकोर्ट ने आज पूर्व सांसद पप्पू यादव उर्फ राजेश रंजन की अर्जी पर जल्दी सुनवाई करने के अनुरोध को नामंजूर कर दिया। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति संजय करोल की अध्यक्षता वाली खंडपीठ से मामले पर जल्दी सुनवाई करने की गुहार लगाई गई। पूर्व सांसद के वरिष्ठ अधिवक्ता योगेश चंद्र वर्मा ने मामले पर आउट ऑफ टर्न सुनवाई करने का अनुरोध किया।

जाप प्रमुख व पूर्व सांसद पप्पू यादव को जेल भेजे जाने के बाद उनकी पत्नी व पूर्व सांसद रंजीता रंजन ने अब यह ऐलान किया है कि यदि पप्पू यादव की रिहाई नहीं हुई तो अनशन पर बैठेंगी। उन्होंने कहा कि महामारी के इस दौर में छिछोडी राजनीति नहीं किजिए। आज पटना में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए रंजीता रंजन ने कहा कि रूडी के कार्यालय में मिली एंबुलसें सरकार खजाना थी। 

रंजीता रंजन ने कहा राजनीति राजनीति खेलने का नहीं है, मेरा मकसद राजनीति करने का नहीं, सत्ताधारियों को बताना चाहती हूं कि मैं राजनीति करने नहीं आई हूं। आज पप्पू यादव जी के साथ इसलिए लोग खडे हैं क्योंकि लोगों को सपोर्ट की जरुरत है। मुझे अच्छा नहीं लग रहा है कि नीतीश, रूडी और भाजपा से कोई सवाल करूं। उन्होंने कहा कि दो दिन में पप्पू जी को रिहा नहीं किया गया तो वह अनशन पर बैठेंगी और यह अनशन तब तक जारी रहेगा, जब तक कि रूडी जी की गिरफ्तारी नहीं होती है। 

उन्होंने कहा कि सत्ताधारी लोगों को यह समझना चाहिए लोगों को एक सीमा से ज्यादा डराना भी सहीं नहीं होता। इतना भी मत डराइए कि लोगों को डर भी खत्म हो जाए, क्योंकि सडक पर खडा एक व्यक्ति पहले ही अपना डर खत्म कर चुके हैं।पूर्व सांसद रंजीता ने बिहार सरकार, भाजपा, राजीव प्रताप रूडी पर हमला बोलते हुए कहा कि पप्पू यादव को रिहा किजिए और यह खेला बंद किजिए। जेल के अंदर यदि वे पॉजिटिव होकर आएंगे तब जनता भी उन्हें माफ नहीं करेगी। पप्पू यादव को जेल में बंद कर देंगे तो क्या हम लोग उन्हें मरने देंगे? हम तमाशा नहीं देख सकते यह काम आपका है। 

आपदा की घडी में जो लोगों की मदद कर रहा था, उसे राजनीति के तहत सलाखों के पीछे पहुंचाया गया। पटना से मधेपुरा, मधेपुरा से सुपौल और अब सुपौल से दरभंगा भेजने की तैयारी की जा रही है। उनकी शारिरीक स्थिति ठीक नहीं है। शुगर पेशेंट के अलावे अभी हाल ही में उनका गॉल ब्लैडर का ऑपरेशन हुआ है। हेवी रिस्क है दुबारा इंफेक्शन होने के आसार हैं। उनकी शारिरीक परेशानियों को देखते हुए जेल से रिहा किया जाए। 

यदि यह ड्रामा यूं ही चलता रहा तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अपने मंत्रियों और विधायकों के साथ सडक पर आकर जवाब देना होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना साधते हुए कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी यह मान लिया है कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर मानव जनित है। इसके लिए यहां के राजनेता जिम्मेदार है, जो सत्ता की लालच में लोंगों को महामारी के बीच झौंक दिया और जब कुछ लोग मदद के लिए आगे आते हैं तो उनके साथ जेल जेल खेला जाता है।

रंजीता ने सवाल उठाया कि इस कोरोनाकाल में पप्पू यादव को जेल क्यों भेजा गया? पहले पुलिस ने कहा था कि पप्पू यादव ने लॉकडाउन का उल्लंघन किया है इसे लेकर दिन भर उन्हें गांधी मैदान थाने में बैठाया गया। उसके बाद 32 साल पुराने केस में गिरफ्तार करने के लिए मधेपुरा पुलिस को पप्पू यादव की गिरफ्तारी के लिए पटना बुलाया गया। यह सब आखिर किसके ईशारे पर किया जा रहा है जनता भी जानती है। सत्ता में यदि आप हैं तो चोर नहीं और यदि सत्ता में आप नहीं हैं तो आप सबसे बडा चोर हैं। रंजीता ने कहा कि पप्पू कोरोना निगेटिव हैं, अगर वह पॉजिटिव हुए तो इस साजिश में शामिल चार लोगों एवं एम्बुलेंस चोरों को बीच चौराहे पर नहीं खड़ा किया तो मेरा नाम रंजीत रंजन नहीं।

Web Title: pappu yadav wife ranjeet ranjan warns cm nitish kumar

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे