पंचायती मंत्री सम्राट चौधरी के बयान के बाद एनडीए में तनातनी, नीतीश कुमार के नेतृत्व को मजबूरी वाला बताया, जदयू का पलटवार 

By एस पी सिन्हा | Published: July 26, 2021 07:35 PM2021-07-26T19:35:54+5:302021-07-26T19:37:25+5:30

370 को हटाने में 70 वर्ष जरूर लगे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जनता के अपार समर्थन के बल पर इसे उखाड़ फेंका.

Panchayati Minister Samrat Chaudhary's statement Nitish Kumar's leadership compulsive JDU counterattack | पंचायती मंत्री सम्राट चौधरी के बयान के बाद एनडीए में तनातनी, नीतीश कुमार के नेतृत्व को मजबूरी वाला बताया, जदयू का पलटवार 

भारतीय जनता पार्टी हो या कोई अन्य राजनीतिक दल सब अपनी बेहतरी चाहते हैं.

Next
Highlightsअयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर भी चर्चा की. प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हो रहे विकास कार्यों की भी चर्चा की. बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि सम्राट चौधरी में कुछ भी गलत नहीं कहा.

पटनाः बिहार के पंचायती राज मंत्री और भजपा नेता सम्राट चौधरी के बयान ने एनडीए के अंदर खींचतान बढ़ा दी है. जदयू और भाजपा अब मंत्री सम्राट चौधरी के बयान को लेकर आमने-सामने नजर आ रहे हैं.

दरअसल, सम्राट चौधरी ने कहा है कि बिहार में अगली सरकार भाजपा अपने दम पर बनाएगी और 2025 में मुख्यमंत्री भी भाजपा का होगा. भाजपा से बड़ी दुनिया में कोई पार्टी नहीं है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार मजबूरी वाली सरकार है. उन्होंने कहा कि भाजपा ने जिस तरह का काम अपने कार्यकर्ताओं के बीच किया है, वह किसी अन्य पार्टियों ने नहीं किया है.

सोशलिजम एक जमाना था, अब वह धीरे-धीरे खत्म हो रहा है. आज प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में हमसे बड़ी ताकत पूरे देश में कोई नहीं है. राजनीतिक रूप से हम सब पर बड़ी राजनीतिक जिम्मेवारी भी है. ये बातें सम्राट चौधरी ने हाजीपुर में आयोजित भाजपा जिला कार्यसमिति की बैठक में कहीं. उन्होंने कहा कि आप ऐसा संगठन बनाइए, जिसमें हम अकेले दम पर चुनाव लड़ेंगे.

उन्होंने कहा कि बूथ स्तर पर अब पार्टी को मजबूत करना है. कई संगठन कागजों पर भले ही हमसे मजबूत हो, लेकिन संगठन उनका नहीं है. उन्होंने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जो अखंड भारत का सपना देखा था, आज वह साकार हुआ है. 370 को हटाने में 70 वर्ष जरूर लगे, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जनता के अपार समर्थन के बल पर इसे उखाड़ फेंका.

उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर भी चर्चा की. उन्होंने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हो रहे विकास कार्यों की भी चर्चा की. मंत्री ने कहा कि पहले वे नगर विकास मंत्री हुआ करते थे. उस वक्त शहरों का विकास किया. अब पंचायती राज मंत्री हैं, तो शहर में जो विकास कार्य हुए हैं, वैसा ही विकास धीरे-धीरे ग्रामीण इलाकों का किया जा रहा है. अब जदयू ने सम्राट चौधरी के इस बयान पर जबर्दस्त पलटवार किया है.

जदयू विधान पार्षद और पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष संजय सिंह ने सम्राट चौधरी के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि सम्राट चौधरी को यह याद कर लेना चाहिए कि भाजपा जब अकेले लड़ी थी. तो उसका हाल क्या हुआ था? उन्होंने कहा कि सम्राट चौधरी को अगर कुछ भी कहना है तो वह अपनी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से बात करें.

नीतीश कुमार के नेतृत्व को उनकी पार्टी के बडे़ नेताओं ने चुना है. सम्राट चौधरी बिहार सरकार में मंत्री हैं और उन्हें सोच समझकर बयान देना चाहिए. जदयू विधान पार्षद ने कहा कि सभी दल इस बात के लिए स्वतंत्र हैं कि वह अकेले चुनाव लड़ने या फिर गठबंधन में. उधर, मंत्री सम्राट चौधरी के बयान का भाजपा के एक और मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने समर्थन किया है.

बिहार के कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि सम्राट चौधरी में कुछ भी गलत नहीं कहा. उनका बयान में कुछ भी ऐसा नहीं है, जिसे गलत माना जाए. हर पार्टी चाहती है कि उसकी सरकार अकेले अपने दम पर बने और सम्राट चौधरी अगर यही चाहते हैं तो इसमें गलत क्या है? भारतीय जनता पार्टी हो या कोई अन्य राजनीतिक दल सब अपनी बेहतरी चाहते हैं. सब की मंशा होती है कि अपने बूते सरकार बनाई जाए.

Web Title: Panchayati Minister Samrat Chaudhary's statement Nitish Kumar's leadership compulsive JDU counterattack

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे