पालघर जिला परिषद उपचुनाव: शिवसेना ने किया 5 सीट पर कब्जा, कांग्रेस का खाता नहीं खुला, जानिए एनसीपी और भाजपा का हाल

By लोकमत समाचार ब्यूरो | Published: October 6, 2021 09:52 PM2021-10-06T21:52:47+5:302021-10-06T21:55:15+5:30

Palghar Zilla Parishad by-election: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को चार-चार सीटें मिलीं।

Palghar Zilla Parishad by-election 15 vacant seats Shiv Sena won 5 seats NCP and BJP 4-4 seat congress zero | पालघर जिला परिषद उपचुनाव: शिवसेना ने किया 5 सीट पर कब्जा, कांग्रेस का खाता नहीं खुला, जानिए एनसीपी और भाजपा का हाल

पंचायत समिति उपचुनाव में भी कांग्रेस एक भी सीट जीतने में नाकाम रही।

Next
Highlightsकुल आरक्षण 50 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए।उपचुनावों में कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली।भाजपा और बहुजन विकास अघाड़ी (बीवीए) को तीन-तीन सीटें मिलीं।

पालघरः महाराष्ट्र में पालघर जिला परिषद (जेपी) की 15 रिक्त सीटों पर हुए उपचुनाव में शिवसेना ने बुधवार को पांच सीटें जीतीं, जबकि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को चार-चार सीटें मिलीं। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

 

पालघर के जिलाधिकारी एवं चुनाव अधिकारी माणिक गुरसाल ने बताया कि मंगलवार को हुए उपचुनावों में कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली, जबकि मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने एक सीट जीती और एक निर्दलीय भी निर्वाचित हुआ। उन्होंने कहा कि पालघर जिला पंचायत के अधिकार क्षेत्र में आने वाली पंचायत समितियों की 14 रिक्त सीटों के लिए हुए उपचुनाव में शिवसेना को पांच सीटें मिलीं, जबकि भाजपा और बहुजन विकास अघाड़ी (बीवीए) को तीन-तीन सीटें मिलीं।

गुरसाल ने कहा कि राकांपा को दो सीटें मिलीं और एक सीट महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) को मिली। पंचायत समिति उपचुनाव में भी कांग्रेस एक भी सीट जीतने में नाकाम रही। जिला पंचायत (15) और पंचायत समितियों (14) की रिक्त सीटों को भरने के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था और बुधवार को मतगणना हुई।

ये सीटें पहले ओबीसी उम्मीदवारों के लिए आरक्षित थीं, जो उच्चतम न्यायालय के एक फैसले के बाद खाली हो गईं थी। उच्चतम न्यायालय ने इस साल मार्च में महाराष्ट्र में स्थानीय निकायों में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए आरक्षण को यह कहते हुए रद्द कर दिया था कि कुल आरक्षण 50 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। छह जिला पंचायतें - धुले, नंदुरबार, अकोला, वाशिम, नागपुर, पालघर - और उनके अधीन आने वाली 38 पंचायत समितियां उच्चतम न्यायालय के फैसले से प्रभावित हुई थीं। 

Web Title: Palghar Zilla Parishad by-election 15 vacant seats Shiv Sena won 5 seats NCP and BJP 4-4 seat congress zero

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे