जासूसी कराए जाने से भयभीत नहीं, सीएए के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी : भट्टाचार्य

By भाषा | Published: July 22, 2021 07:53 PM2021-07-22T19:53:40+5:302021-07-22T19:53:40+5:30

Not intimidated by espionage, fight against CAA will continue: Bhattacharya | जासूसी कराए जाने से भयभीत नहीं, सीएए के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी : भट्टाचार्य

जासूसी कराए जाने से भयभीत नहीं, सीएए के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी : भट्टाचार्य

Next

गुवाहाटी, 22 जुलाई ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (आसू) के मुख्य सलाहकार समुज्जल कुमार भट्टाचार्य ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह पेगासस फोन निगरानी से भयभीत नहीं हैं और संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ उनका संघर्ष जारी रहेगा।

'द वायर’ न्यूज पोर्टल ने बुधवार को पेगासस प्रकरण से जुड़े अपने लेख में कहा कि असम के दो प्रमुख व्यक्तियों के नाम भी उन लोगों की सूची में शामिल हैं, जिनकी कथित तौर पर जासूसी की गई।

असम के इन लोगों में भट्टाचार्य और उल्फा (वार्ता समर्थक गुट) के महासचिव अनूप चेतिया के नाम बताए गए।

भट्टाचार्य ने भारतीयों की कथित निगरानी किए जाने को ‘‘राष्ट्र विरोधी’’ करार दिया।

उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘इस स्थिति में, यदि यह सोचा जाता है कि हम अपने फोन टैप किए जाने से डर जाएंगे तो यह गलत है। हम डरेंगे नहीं।’’

भट्टाचार्य ने कहा कि सीएए के खिलाफ उनका संघर्ष जारी रहेगा।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Not intimidated by espionage, fight against CAA will continue: Bhattacharya

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे