No statistics about the number of plasma banks in the country: Modi government | देश में प्लाज्मा बैंकों की संख्या के बारे में कोई आंकड़े नहीं: मोदी सरकार
सांकेतिक तस्वीर (फाइल फोटो)

Highlightsस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी दी। मंत्री ने कहा कि कोविड-19 के लिए ‘क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल’ में ‘कॉन्वेलसेंट’ प्लाज्मा थैरेपी को ऐसी थैरेपी के तौर पर शामिल किया गया है जिसकी अभी जांच चल रही है।

नयी दिल्ली: नरेंद्र मोदी सरकार ने रविवार को कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 महामारी के इलाज के लिए ‘कॉन्वेलसेंट’ प्लाज्मा थैरेपी की सिफारिश नहीं की है और प्लाज्मा बैंकों की स्थापना के बारे में किसी प्रस्ताव पर विचार भी नहीं किया जा रहा है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने राज्यसभा को एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी दी।

उन्होंने यह भी बताया कि राज्यों ने कोविड-19 मरीजों को प्लाज्मा थैरेपी मुहैया कराने के लिए ऐसे बैंकों की स्थापना की पहल की है लेकिन इन बैंकों के संबंध में केंद्रीय स्तर पर कोई आंकड़े नहीं रखे गए हैं।

प्रश्न में पूछा गया था कि देश में कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए राज्यवार कितने प्लाज्मा बैंक हैं और क्या सरकार का देश में कोरोना वायरस की समस्या से निपटने के लिए और प्लाज्मा बैंकों की स्थापना करने का प्रस्ताव है।

चौबे ने कहा कि कोविड-19 के लिए ‘क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल’ में ‘कॉन्वेलसेंट’ प्लाज्मा थैरेपी को ऐसी थैरेपी के तौर पर शामिल किया गया है जिसकी अभी जांच चल रही है। भाषा मनीषा अविनाश अविनाश

Web Title: No statistics about the number of plasma banks in the country: Modi government
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे