नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन अब दूर की कौड़ी, IRSDC ने खींचा हाथ, प्रोजेक्ट मध्य रेलवे के पाले में

By आनंद शर्मा | Published: November 30, 2021 09:29 AM2021-11-30T09:29:44+5:302021-11-30T09:29:44+5:30

नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट में और देरी हो सकती है. आईआरएसडीसी को भंग किए जाने से अब इस परियोजना की जिम्मेदारी मध्य रेलवे जोन को सौंप दी है.

Nagpur World Class Railway Station project IRSDC pulls hand, now Central Railway will see it | नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन अब दूर की कौड़ी, IRSDC ने खींचा हाथ, प्रोजेक्ट मध्य रेलवे के पाले में

नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट से आईआरएसडीसी ने हाथ खींचा

Next
Highlightsआईआरएसडीसी ने नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट से अपना हाथ खींच लिया है।अब मध्य रेलवे जोन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन साकार करने की जिम्मेदारी सौंप दी गई है।

नागपुर: इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (आईआरएसडीसी) ने नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट से अपना हाथ खींच लिया है. क्योंकि आईआरएसडीसी को ही भंग कर दिया गया है. ऐसी सूरत में रेलवे बोर्ड ने अब मध्य रेलवे जोन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन साकार करने की जिम्मेदारी सौंप दी है. इसमें रेलवे लैंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (आरएलडीए) का भी सहयोग लिया जाएगा. इससे नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट अब दूर की कौड़ी बनकर रह गया है.

क्यों फंसा प्रोजेक्ट और क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि आईआरएसडीसी ने 20 नवंबर 2017 को विश्वस्तरीय आर्किटेक्चरल डिजाइन स्पर्धा ली थी. इसकी विजेता फ्रांस की इनिया कंपनी को 19 जुलाई 2018 को नागपुर स्टेशन की आर्किटेक्चरल डिजाइन बनाने का काम दिया गया था. इनिया ने यह डिजाइन तैयार कर ली. 

इस बीच, जुलाई 2020 के पूर्व संबंधित 9 बड़ी कंपनियों ने नागपुर वर्ल्ड क्लास स्टेशन प्रोजेक्ट में रूचि दर्शायी. वे टेंडर प्रक्रिया में भाग भी लेना चाहती थीं. इस बीच वर्ल्ड क्लास बनने पर नागपुर स्टेशन पर यात्रियों से लिया जाने वाला अतिरिक्त यूजर चार्ज तय नहीं होने और इसका नोटिफिकेशन जारी न होने से टेंडर प्रक्रिया लटकी पड़ी रही.

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि टेंडर के मसौदे को रेलवे बोर्ड और केंद्रीय वित्त मंत्रालय से हरी झंडी मिलने पर ही टेंडर जारी होंगे. लेकिन अब बेहद चौकाने वाली जानकारी यह सामने आई है कि आईआरएसडीसी को ही भंग कर दिया गया है. ऐसे में रेलवे बोर्ड ने रेलवे स्टेशनों के विकास की जिम्मेदारी संबंधित रेलवे जोन कार्यालयों को ही सौंप दी है. 

इससे नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट भी अब मध्य रेलवे जोन के पाले में आ गया है. परिणामस्वरूप प्रोजेक्ट के साकार होने में अब लंबा वक्त लगने की प्रबल आशंका जताई जा रही है.

रेलवे बोर्ड में बन रही स्टेशनों की सूची

मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार, 'आईआरएसडीसी ने मध्य रेलवे जोन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन प्रोजेक्ट्स की जिम्मेदारी सौंपी है. इसमें आरएलडीए का सहयोग मिलेगा. अभी रेलवे बोर्ड स्तर पर पुनर्विकास की दृष्टि से जोन के रेलवे स्टेशनों की सूची बन रही है. इसके बाद तय होगा कि इनमें से जोन और आरएलडीए कौन से स्टेशन वर्ल्ड क्लास बनाएंगे।’

सेंट्रल रेलवे जोन को सौंपा स्टेशन

वहीं, चेतना मागु, सीनियर एक्जीक्यूटिव(पीआर/सीसी), आईआरएसडीसी ने बताया, ‘नागपुर वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन प्रोजेक्ट आईआरएसडीसी साकार कर रहा था. अब वर्ल्ड क्लास स्टेशन प्रोजेक्ट मध्य रेलवे जोन को सौंप दिया गया है.’

Web Title: Nagpur World Class Railway Station project IRSDC pulls hand, now Central Railway will see it

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे