नागपुरः ₹500 करोड़ खर्च करने के बाद बदहाल सड़क, रखरखाव की लागत 3.5 करोड़

By वसीम क़ुरैशी | Published: October 3, 2021 09:29 PM2021-10-03T21:29:20+5:302021-10-03T21:31:23+5:30

अगस्त 2021 में मोहलत खत्म हो जाने पर ठेका कंपनी एमईपीडीएल की जगह संबंधित बैंक ने नया ठेकेदार तय कर दिया है. 

Nagpur road spending ₹500 crore maintenance cost 3-5 crore outer ring road | नागपुरः ₹500 करोड़ खर्च करने के बाद बदहाल सड़क, रखरखाव की लागत 3.5 करोड़

जामठा से गौंडखैरी तक पहले से ही सड़क मौजूद हैं. (file photo)

Next
Highlightsरोड की हालत बारिश में इतनी बदत्तर हो गई की ट्रक पलटने और धंसने लगे थे.इन वजहों से यहां अक्सर ट्रैफिक जाम हो रहा था.एनएचएआई ने मैंटेनेंस के लिए यहां एक अन्य ठेकेदार को काम दिया.

नागपुरः भारी वाहनों को शहर के भीतर के बजाय बाहर से गुजारने के लिए जनवरी 2017 से शुरू हुए आउटर रिंग रोड का काम 531 करोड़ रुपए की लागत से शुरू हुआ था. 2019 में ये काम पूरा हो जाना था लेकिन ठेका कंपनी को दो बार एक्सटेंशन दिया गया.

 

 

अगस्त 2021 में मोहलत खत्म हो जाने पर ठेका कंपनी एमईपीडीएल की जगह संबंधित बैंक ने नया ठेकेदार तय कर दिया है. नए ठेकेदार के काम पर जुटने से पहले रोड की हालत बारिश में इतनी बदत्तर हो गई की ट्रक पलटने और धंसने लगे थे.

इन वजहों से यहां अक्सर ट्रैफिक जाम हो रहा था. लोकमत समाचार में इससे जुड़ी खबर प्रकाशित होने के बाद एनएचएआई ने मैंटेनेंस के लिए यहां एक अन्य ठेकेदार को काम दिया. रखरखाव की यह लागत 3.5 करोड़ रुपए है.

जामठा से गौंडखैरी तक पहले से ही सड़क मौजूद हैं. वहीं गौंडखैरी से पवनगांव तक नया मार्ग बन रहा है. किसी भी पुरानी सड़क वाली जगह से लगकर नई रोड बनाने पर आवाजाही के लिए मौजूद मार्ग को दुरुस्त रखना या मैंटेन करना ठेके में शामिल होता है लेकिन एमईपीडीएल ने ये काम किया ही नहीं था.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार एमईपीडीएल केवल नागपुर के आउटर रिंग रोड का काम करने में ही फेल नहीं रहा बल्कि एनएचएआई के नागपुर रीजन के तहत नांदेड़ से लातूर तक के हिस्से में तीन स्थानों पर भी काम पूरा नहीं कर पाया और उसका विकल्प तय करते हुए नया ठेका दिया गया.

जारी है रखरखाव का काम

जामठा से गौंडखैरी तक आवाजाही के लिए उपयोगी सड़क के रखरखाव का काम नए ठेकेदार से करवाया जा रहा है़ इस कार्य से इस सड़क से आवाजाही करने वालों को सुविधा होगी़ रखरखाव की ये लागत पुराने ठेकेदार से वसूली जाएगी. राजीव अग्रवाल, क्षेत्रीय अधिकारी, एनएचएआई.

 

Web Title: Nagpur road spending ₹500 crore maintenance cost 3-5 crore outer ring road

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे