MONSOON 2021: 10 जुलाई तक दिल्ली में मॉनसून, पंद्रह साल में पहली बार इतनी देर से पहुंचेगा, गर्मी से लोग बेहाल

By सतीश कुमार सिंह | Published: July 5, 2021 08:22 PM2021-07-05T20:22:22+5:302021-07-05T20:23:56+5:30

MONSOON 2021: बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर पर नम पूर्वी हवाएं आठ जुलाई से पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में धीरे-धीरे चलने की संभावना है।

MONSOON 2021 Delhi July 10 first time in fifteen years will reach so late people are suffering heat | MONSOON 2021: 10 जुलाई तक दिल्ली में मॉनसून, पंद्रह साल में पहली बार इतनी देर से पहुंचेगा, गर्मी से लोग बेहाल

मॉनसून कमजोर होकर रुक रुककर आगे बढ़ने लगा। (file photo)

Next
Highlightsपूर्व-मध्य भारत सहित दक्षिणी प्रायद्वीप में धीरे-धीरे फिर से सक्रिय होने का अनुमान है। पंजाब और उत्तरी हरियाणा को कवर करते हुए उत्तर पश्चिम भारत में फैलने का अनुमान है।हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली के कुछ और हिस्सों में 10 जुलाई के आसपास आगे बढ़ने की संभावना है।

MONSOON 2021: भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने सोमवार को कहा कि अंतराल के बाद, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून 10 जुलाई तक दिल्ली सहित उत्तर भारत के शेष हिस्सों में पहुंच सकता है।

नवीनतम संख्यात्मक मौसम पूर्वानुमान मॉडल दिशानिर्देश के अनुसार, दक्षिण पश्चिम मॉनसून के आठ जुलाई से पश्चिमी तट और इससे सटे पूर्व-मध्य भारत सहित दक्षिणी प्रायद्वीप में धीरे-धीरे फिर से सक्रिय होने का अनुमान है। विभाग ने बताया कि 11 जुलाई के आसपास उत्तर आंध्र प्रदेश-दक्षिण ओडिशा तटों से सटे पश्चिम-मध्य और उससे सटे उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी पर कम दबाव का एक क्षेत्र बनने की संभावना है। बंगाल की खाड़ी से निचले स्तर पर नम पूर्वी हवाएं आठ जुलाई से पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों में धीरे-धीरे चलने की संभावना है।

10 जुलाई के आसपास आगे बढ़ने की संभावना

इसके 10 जुलाई तक पंजाब और उत्तरी हरियाणा को कवर करते हुए उत्तर पश्चिम भारत में फैलने का अनुमान है। विभाग ने कहा, ‘‘दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के पश्चिम उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली के कुछ और हिस्सों में 10 जुलाई के आसपास आगे बढ़ने की संभावना है।’’

पंजाब, पश्चिमी राजस्थान में अभी मॉनसून का आना बाकी

उसने कहा, ‘‘इससे 10 जुलाई से उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में बारिश के लिए स्थितियां अनुकूल होने की संभावना है।’’ जून के पहले ढाई हफ्तों में अच्छी बारिश के बाद, दक्षिण-पश्चिम मॉनसून 19 जून से आगे नहीं बढ़ा है। दिल्ली, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, पंजाब, पश्चिमी राजस्थान में अभी मॉनसून का आना बाकी है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने जुलाई के लिए अपने पूर्वानुमान में कहा कि इस महीने पूरे देश में अच्छी बारिश होगी। हालांकि, उत्तर भारत के कुछ हिस्सों, दक्षिण प्रायद्वीप के कुछ हिस्सों, मध्य, पूर्व और पूर्वोत्तर भारत में सामान्य से कम बारिश हो सकती है।

विभाग ने कहा कि सात जुलाई तक मॉनसून की प्रगति के लिए परिस्थितियां अनुकूल नहीं हैं। इसके अनुसार, दक्षिण पश्चिम मॉनसून (एनएलएम) की उत्तरी सीमा वर्तमान में अलीगढ़, मेरठ, अंबाला और अमृतसर से गुजर रही है।

उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में बारिश की गतिविधि बढ़ने की संभावना

आईएमडी ने एक बयान में कहा, ''पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के कुछ और हिस्सों तथा दिल्ली में 10 जुलाई के आसपास मानसून के आगे बढ़ने की संभावना है।'' विभाग ने कहा कि मौसमी आसार बनने पर 10 जुलाई से उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में बारिश की गतिविधि बढ़ने की संभावना है।

आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक, इससे पहले 2006 में नौ जुलाई को मॉनसून दिल्ली पहुंचा था। साल 2002 में दिल्ली में पहली मानसूनी बारिश 19 जुलाई को हुई थी। शहर में सबसे देर से मॉनसून 1987 में 26 जुलाई को पहुंचा था। केरल में दो दिन देर से दस्तक देने का बाद मॉनसून रफ्तार पकड़ते हुए सामान्य से सात से 10 दिन पहले देश के पूर्वी मध्य और उत्तरपश्चिमी हिस्से में पहुंच गया था। लेकिन उसके बाद इसके आगे बढ़ने के लिये हालात प्रतिकूल बने रहे।

किश्वताड़ के बाद सबसे कम बारिश वाला यह भारत का दूसरा जिला

मॉनसून कमजोर होकर रुक रुककर आगे बढ़ने लगा। आमतौर पर मॉनसून 27 जून तक दिल्ली में दस्तक दे देता है और आठ जुलाई तक पूरे देश में पहुंच जाता है। एक जून को मॉनसूनी सीजन शुरू होने के बाद से अब तक दिल्ली में 43.6 मिमी बारिश हुई है जो सामान्य यानि 75.7 मिमी से 42 प्रतिशत कम है। मध्य दिल्ली में सामान्य से 89 प्रतिशत कम बारिश हुई है। जम्मू-कश्मीर के किश्वताड़ के बाद सबसे कम बारिश वाला यह भारत का दूसरा जिला है।

दिल्ली में अधिकतम तापमान 39.5 डिग्री सेल्सियस

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को अधिकतम तापमान 39.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । भारत मौसम विभाग ने यह जानकारी दी । मौसम विभाग ने बताया कि अगले दो दिनों में उत्तर पूर्व, उत्तर और दक्षिण पश्चिम दिल्ली में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है। विभाग ने बताया कि शाम साढे पांच बजे दिल्ली में सापेक्ष आर्द्रता 40 प्रतिशत दर्ज की गयी।

इसने बताया कि राजधानी में आज न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था । मंगलवार को आसमान में आंशिक रूप से बादल छाये रहने तथा अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 41 और 29 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। दिल्ली में वायु गुणवत्ता सोमवार सुबह मध्यम मध्यम श्रेणी में थी । आज शाम छह बज कर 40 मिनट पर वायु गुणवत्ता सूचकांक 133 दर्ज किया गया।

 

Web Title: MONSOON 2021 Delhi July 10 first time in fifteen years will reach so late people are suffering heat

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे