mj akbar will return to country on sunday bjp will clear his stance after knowing kbars opinion | #MeToo अभियान :आज मंत्री एमजे अकबर लौटेंगे देश, पक्ष जानने के बाद BJP स्पष्ट कर सकती है रूख
#MeToo अभियान :आज मंत्री एमजे अकबर लौटेंगे देश, पक्ष जानने के बाद BJP स्पष्ट कर सकती है रूख

 केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर के इस्तीफे की मांग तेजी से बढ़ रही है। इसी बीच विदेश राज्यमंत्री के रविवार को देश लौटने पर यौन उत्पीड़न के आरोपों पर स्पष्टीकरण के बाद बीजेपी के स्पष्ट रूख अपनाने की संभावना है।

 विदेश राज्य मंत्री, जो अभी विदेश दौरे पर हैं, ने आरोपों पर अब तक अपना जवाब नहीं दिया है। एक तरफ पार्टी की ओर से पूरे वाक्ये पर कोई बयान नहीं दिया गया है। वहीं, पार्टी सूत्रों का कहना है कि उनके खिलाफ गंभीर आरोप हैं और लगता नहीं कि मंत्री के तौर पर वह लंबे समय तक पद पर रह पाएंगे। उन्होंने कहा कि अंतिम निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेना है।

इंटर्नशिप के आखिरी दिन हुआ ऐसा 

डीपी कांप (de Puy Kamp) ने हफपोस्ट इंडिया को बताया कि वह अकबर से मुलाकात उसकी अपने पिता की वजह से हुई थी। उनके पिता 1990 में दिल्ली में विदेशी संवाददाताओं के रूप में काम किया था। 

महिला पत्रकार ने बताया, ''जिस दिन उसके इंटर्नशिप का आखिर दिन था। उस दिन वह अकबर से बात करने जाने वाली थी लेकिन वह खुद उसके डेस्क के पास आकर इधर-उधर घुमने लगा। मैं उस वक्त बैठी हुई थी तो मैंने अपना हाथ उनकी ओर बढ़ाया लेकिन इतने में वो मेरी तरफ आए और मेरे हाथे के नीछे से हाथ लगाकर जबरन मेरे कंधे को पकड़ा। उसके बाद खींच कर मेरे लिप पर किस किया और जबरन मेरे मुंह में अपने जीभ डाल दी और चुपचाप वहीं खड़ा रहा।

उन्होंने आगे बताया, अकबर ने जो किया इससे उसका भरोसा टूट चुका था। हालांकि मैंने लोगों को एशियन एज के दिल्ली ऑफिस में अकबर का ‘हरम’ कहकर बुलाते भी सुना था। महिला ने बताया दफ्तर में जवान लड़कियों की संख्या पुरुषों की तुलना में कहीं ज्यादा थी। मैं अक्सर सब संपादकों-रिपोर्टरों के साथ अकबर के अफेयर की चर्चाएं भी सुना करती थी और यह भी कि एशियन एज के हर क्षेत्रीय ऑफिस में उनकी एक गर्लफ्रेंड है लेकिन उस दिन जो मेरे साथ हुआ उसके बाद मुझे यकीन भी हो गया। 

इन महिला पत्रकारों ने भी लगाए आरोप 

-  हफपोस्ट इंडिया ने से बात करते हुए एशियन एज की एक और महिला पत्रकार, जिनका नाम  सुपर्णा शर्मा है। उन्होंने बताया,  1993 में वह एशियन एज की दिल्ली ऑफिस में ज्वाइन किया था। उन्होंने बताया कि नौकरी के दो साल के अंदर ही उन्होंने मुझे कर्नाटक चुनाव कवर करने के लिए भेज दिया था और पिछले कुछ सालों में उन्होंने मुझे सेक्सुअली हैरेस भी किया है। सुपरना शर्मा वर्तमान में नई दिल्ली में द एशियन एज की संपादक हैं। 

- मुंबई में एक अन्य पत्रकार, जो 2004 में मुंबई में एशियन एज में ज्वाइन किया था। उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर कहा है, अकबर भले ही बहुत बड़े ज्ञानी हो लेकिन वह सेक्सुअलिटी को लेकर पागल हैं। उनका आरोप है कि अकबर ने उन्हें भी न्यूजरूम के अंदर या फिर बाहर अकबर हमेशा ही परेशान और दुर्रव्यहार करते थे। 

- हफपोस्ट के मुताबिक द सुंडे गार्जियन में काम कर रहे एक पुरुष पत्रकार ने बताया कि एमेज अकबर हमेशा महिलाओं के ब्रेस्ट को घूरते रहते थे और इसमें कोई दोराय नहीं है। 

जबरदस्ती करता था किस करने की कोशिश

- सबसे पहले पत्रकार गज़ाला वहाब ने द वायर पर लिखे एक लेख में एमजे अकबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। गजाला वहाब एशियन एज में पत्रकार थीं और एमजे अकबर अखबार के संस्थापक संपादक थे। वहाब वर्तमान में फोर्स मैगजीन की एक्जिक्यूटिव एडिटर हैं। उन्होंने कई ऐसी घटना के बारे में बताया है, जिसमें अकबर ने में कथित तौर पर जबरन किस करके उनके साथ छेड़छाड़ की। 

 वहाब ने बताया है कि जब 1994 से 1997 के बीच 'एशियन एज' अखबार में वह काम कर रही थीं तब अकबर उसके संस्थापक-संपादक थे और उन्होंने उन्हें ऑफिस में ऐसी जगह बैठाने के लिए कहा था जहां से वह उन्हें दिखती हों। गौरतलब है कि #MeToo कैम्पेन के तहत प्रिया रमनी, कनिका गहलोत, शुमा राह, प्रेरणा सिंह बिंद्रा, शुतपा पॉल, सुपर्णा शर्मा, एक अज्ञात महिला, गज़ाला वहाब, डीपी कांप महिला पत्रकारों ने अभी तक एमजे अकबर पर यौन उत्पीड़न और दुर्व्यहार का आरोप लगा चुकी हैं। 


Web Title: mj akbar will return to country on sunday bjp will clear his stance after knowing kbars opinion
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे