Mistry of External Affairs said that engaged with China for amicable and peaceful resolution of the border dispute | डोनाल्ड ट्रंप के भारत-चीन के बीच मध्यस्थता के ऑफर पर विदेश मंत्रालय ने दिया जवाब, कहा- चीनी पक्ष से चल रही है बातचीत
भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि मामले के समाधान के लिए बातचीत चल रही है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highlightsविदेश मंत्रालय ने कहा कि हम शांतिपूर्ण तरीके से इस मामले के हल के लिए चीन से संपर्क में हैं।भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमारे सैनिकों ने सीमा प्रबंधन के प्रति बहुत जिम्मेदार रुख अपनाया है।

भारत और चीन के बीच लद्दाख में चल रहे विवाद में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से मध्यस्थता की पेशकश पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम शांतिपूर्ण तरीके से इस मामले के हल के लिए चीन से संपर्क में हैं।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमारे सैनिकों ने सीमा प्रबंधन के प्रति बहुत जिम्मेदार रुख अपनाया है। समस्या के समाधान के लिए चीन के साथ द्विपक्षीय समझौते में दी गई प्रक्रियाओं का भारतीय सैनिक सख्ती से पालन कर रहे हैं।

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को भारत और चीन के बीच मध्यस्थता करने की पेशकश की थी। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, "हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है कि अमेरिका इस सीमा विवाद मामले में मध्‍यस्‍थता करने के लिए तैयार है और ऐसा करने में सक्षम है.धन्यवाद!"

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, "राजनयिक मोर्चे पर दिल्ली और बीजिंग के बीच मामले के समाधान के लिए बातचीत चल रही है। समस्या के समाधान के लिए चीन के साथ द्विपक्षीय समझौते में दी गई प्रक्रियाओं का भारतीय सैनिक सख्ती से पालन कर रहे हैं।"

उन्‍होंने कहा, "हमारे सशस्त्र बलों ने नेताओं के बीच बनी सहमति और सीमा प्रबंधन में उनके द्वारा दिए गए दिशा निर्देश का गंभीरता के साथ पालन किया। इसके साथ ही साथ ही, हम अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करेंगे।"

क्या है भारत और चीन के बीच विवाद

बता दें कि लद्दाख में वास्तवित नियंत्रण रेखा (LAC) से सटे कुछ क्षेत्रों में चीन के साथ बीते 5 मई से तनाव की स्थिति कायम है। चीन ने लद्दाख में अक्साई चिन की गलवां घाटी में भारत की ओर से एक महत्वपूर्ण सड़क के निर्माण को लेकर अपनी आपत्ति जताई थी। पांच मई को लगभग 250 भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच लोहे की छड़ों और डंडों के साथ झड़प हुई थी। इसमें दोनों तरफ के कई सैनिक घायल हो गए थे। सड़क का निर्माण फिलहाल रोक दिया गया है।

इसके बाद चीनी सैनिक 9 मई को सिक्किम के नाथू ला में भी भारतीय सैनिक के साथ उलझ गए थे। उस झड़प में दोनों ओर से करीब 10 सैनिकों को चोटें आई थीं। इसके बाद ही दोनों पक्षों ने लद्दाख में जवानों की तैनाती बढ़ा दी है। 

Web Title: Mistry of External Affairs said that engaged with China for amicable and peaceful resolution of the border dispute
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे