Misogyny runs deep within the BJP and PM Modis statements | कांग्रेस ने पीएम मोदी को बताया नारी विरोधी सोच का शख्स, सबूत दिखाए

नई दिल्ली, 13 फरवरी। कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी की हंसी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई टिप्पणी का मामला अभी शांत नहीं हुआ है। दरअसल, कांग्रेस ने पीएम मोदी को नारी विरोधी सोच का बताया है और इसके लिए #MisogynisticModi हैशटैग भी लिखा है। उसने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर सोमवार को एक वीडियो शेयर कराया है, जिसमें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और पीएम नरेद्र मोदी को नारी विरोधी सोच का बताकर हमला किया है।

वीडियो में पीएम मोदी द्वारा की गई टिप्पणियों में सबसे पहले रेणुका चौधरी, इसके बाद सुनन्दा पुष्कर को 50 लाख की गर्लफ्रेंड बताने, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को दिखाया गया है। 

इसके बाद वीडियो में केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा की टिप्पणियों को दिखाया गया है। साथ ही वीडियो के अंत में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा गया है। 



गौरतलब है कि राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण के दौरान रेणुका चौधरी के हंसने पर टिप्पणी की थी। उन्होने कहा था कि रामायण के बाद पहली बार ऐसी हंसी सुनाई दी है। इससे पहले सदन में रेणुका मुखर होकर प्रधानमंत्री के भाषण पर असंतोष जता रही थीं। उन्होंने लगातार नारे लगाकर पीएम से असल मुद्दों पर बोलने को लेकर तेज आवाज में बोल रही थीं।

विपक्ष के हंगामे पर राज्यसभा के सभापति एम वैंकया नायडू ने रेणुका को खासतौर पर बैठने को कहा, लेकिन पीएम मोदी ने जवाबी तौर पर कहा था कि सभापति जी मेरी आपसे विनती है रेणुका जी से कुछ मत कहिए। रामायाण सीरियल के बाद ऐसी हंसी सुनने का सौभाग्य आज जाकर मिला है। इसके बाद पूरे सदन में सत्तापक्ष के सांसदों की हंसी छूट गई थी।


भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे