महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- 'घाटी से गायब हो रहे कश्मीरी पंडित, हमारा अस्तित्व हो जाएगा खत्म अगर...'

By मनाली रस्तोगी | Published: May 25, 2022 05:14 PM2022-05-25T17:14:46+5:302022-05-25T17:16:10+5:30

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह समय आएगा जब लोगों को एक कश्मीरी की तलाश करनी पड़ेगी।

Mehbooba Mufti slams Centre Says if we couldn't stood firm we will cease to exist | महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- 'घाटी से गायब हो रहे कश्मीरी पंडित, हमारा अस्तित्व हो जाएगा खत्म अगर...'

महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- 'घाटी से गायब हो रहे कश्मीरी पंडित, हमारा अस्तित्व हो जाएगा खत्म अगर...'

Next
Highlightsमुफ्ती ने बुधवार को दावा किया कि किसानों से जमीनें छीनी जा रही हैं और नौकरियां छीनी जा रही हैं।महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि केंद्र हर जगह गुजरात मॉडल थोपने की कोशिश कर रहा है।

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को कहा कि वह समय आएगा जब लोगों को एक कश्मीरी की तलाश करनी पड़ेगी। उन्होंने कहा, "हमारे यहां कश्मीरी पंडित थे लेकिन आज मेरे बच्चे मुझसे पूछते हैं कि ये पंडित कौन हैं और वे कैसे दिखते हैं क्योंकि वे गायब हो रहे हैं और उनकी संख्या कम हो गई है। इसी तरह, अगर हम दृढ़ नहीं रह सके तो हमारा अस्तित्व समाप्त हो जाएगा।"

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार, मुफ्ती ने बुधवार को दावा किया कि किसानों से जमीनें छीनी जा रही हैं और नौकरियां छीनी जा रही हैं। उन्होंने कहा, "हमारे यहां 10 लाख सैनिक हैं, तब भी जब कोई पथराव नहीं हो रहा है या बंद नहीं हो रहा है।" वहीं, यासीन मलिक पर बात करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब उनके पिता केंद्रीय गृह मंत्री थे तो उन्होंने अलगाववादी नेता को बंदूक से दूर रहने के लिए कहा था लेकिन उन्होंने मना कर दिया। 

मुफ्ती ने कहा, "यासीन मलिक जेल में थे, मुफ्ती सईद गृह मंत्री थे, उन्होंने मलिक को बंदूक बंद करने के लिए एक संदेश भेजा - मैं गृह मंत्री हूं और वीपी सिंह मेरे दोस्त हैं जिन्हें कश्मीरियों से सहानुभूति है। आज़ादी के सिवा जो तुम चाहोगे, मुफ्ती तुम्हें दे देंगे। वह (सईद) और क्या कह सकते थे? लेकिन उन्होंने (यासीन मलिक) यह कहते हुए मना कर दिया कि बंदूक जारी रखनी है और हम कोई बातचीत नहीं चाहते। वाजपेयी के समय में मुफ्ती ने फिर से बातचीत शुरू की।" 

बता दें कि हाल में महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि केंद्र हर जगह गुजरात मॉडल थोपने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के पास युवाओं को देने के लिए कुछ नहीं है और इसलिए वह 'सांप्रदायिक राजनीति' कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्र सरकार को मुसलमानों को बताना चाहिए कि क्या उनके पास 'हिटलर' जैसा कुछ है।

Web Title: Mehbooba Mufti slams Centre Says if we couldn't stood firm we will cease to exist

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे