अखिलेश यादव खड़े हुए नई आबकारी नीति में फंसे मनीष सिसोदिया के साथ, बोले- "सिसोदिया और 'आप' सीबीआई से डरने वाले नहीं हैं"

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: August 19, 2022 07:09 PM2022-08-19T19:09:20+5:302022-08-19T19:16:02+5:30

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो जिस तरह से दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को प्रताड़ित कर रही है। उससे आम आदमी पार्टी डरने वाली नहीं है। 

Manish Sisodia, trapped in the new excise policy, got Akhilesh Yadav's support, said - "Sisodia and 'AAP' are not afraid of CBI" | अखिलेश यादव खड़े हुए नई आबकारी नीति में फंसे मनीष सिसोदिया के साथ, बोले- "सिसोदिया और 'आप' सीबीआई से डरने वाले नहीं हैं"

फाइल फोटो

Next
Highlightsनई आबकारी नीति में फंसे आप नेता मनीष सिसोदिया के पक्ष में उतरे सपा के अखिलेश यादव अखिलेश यादव ने कहा कि सीबीआई के प्रताड़ना से न तो मनीष सिसोदिया डरेंगे और न ही 'आप' अखिलेश यादव ने कहा डर तो भाजपा को है कि कहीं आप हिमाचल और गुजरात में गद्दी न छीन ले

लखनऊ: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आबकारी नीति के मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित कुल 15 लोगों पर केस दर्ज कर लिया है लेकिन इस मामले में आम आदमी पार्टी के लिए राहत की बात यह है कि इस विवाद में उसे समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव का खुलकर साथ मिला है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो जिस तरह से दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया को प्रताड़ित कर रही है। उससे आम आदमी पार्टी डरने वाली नहीं है।

अखिलेश यादव ने नई आबकारी नीति के मामले में चल रही सीबीआई जांच को सियासी करार देते हुए कहा कहा कि आम आदमी पार्टी जिस तरह से हिमाचल प्रदेश और गुजरात में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को उखाड़ फेंकने के लिए लगी हुई है, इस कारण भाजपा बैखला गई है। दोनों राज्यों में इस साल के अंत में चुनाव होने वाला है और आप जिस तरह से वहां की जनता के बीच भाजपा शासन को बेनकाब कर रही है, भगवा पार्टी का परेशान होना स्वाभाविक है।

सपा प्रमुख ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि आम आदमी पार्टी और मनीष सिसोदिया जैसे नेता सीबीआई और ईडी के छापे से डरने वाले हैं। असल डर तो भाजपा को है कि कहीं आप हिमाचल प्रदेश और गुजरात में उनकी गद्दी न छीन ले। इसलिए भाजपा की सरकार विपक्षी दलों और उनके नेताओं के खिलाफ सीबीआई, ईडी का इस्तेमाल कर रही है।"

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने बिहार में हुए सत्ता परिवर्तन पर खुशी जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय जनता दल के साथ सरकार बनाने बहुत अच्छा काम किया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिहार में भाजपा को पछाड़कर दिल्ली तक दहशत फैला दी है।

नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के एक मंच पर आने से केवल बिहार ही नहीं बल्कि विभिन्न राज्यों में विपक्ष दलों को बेहतर संदेश मिला है। साल 20024 के लोकसभा चुनाव में तृणमूल, राजद, जदयू और खुद सपा सहित सभी विपक्षी दलों को एक साथ आना चाहिए और केंद्र की सरकार को उखाड़ फेंकना चाहिए।

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्र और यूपी की भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, "केंद्र और यूपी में सत्तारूढ़ भाजपा शासन के पास न तो किसानों के संकट का हल है, न वो बेरोजगारी दूर कर सके। तेजी से भागती महंगाई का भी उनके पास कोई जवाब नहीं है।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी लगाकर केंद्र की भाजपा सरकार ने जनता का बेड़ा पहले से गर्क कर रखा है और उसके बाद अगर विपक्ष इन मुद्दों को उठाता है तो उसे डराने के लिए ये लोग केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करते हैं। ये बात पूरा देश समझ रहा है और देख रहा है। जनता 2024 के चुनाव में इसने सारे साजिशों की जवाब अच्छे से देगी। (समाचार एजेंसी पीटीआई के इनपुट के साथ)

Web Title: Manish Sisodia, trapped in the new excise policy, got Akhilesh Yadav's support, said - "Sisodia and 'AAP' are not afraid of CBI"

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे