मेनका गांधी ने कुत्ता टहलाने के आरोप में हुए आईएएस दंपति के ट्रांसफर को केंद्र की साजिश बताया

By आशीष कुमार पाण्डेय | Published: May 28, 2022 09:02 PM2022-05-28T21:02:40+5:302022-05-28T21:06:17+5:30

मेनका गांधी ने दिल्ली सरकार के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार और उनकी पत्नी रिंकू डुग्गा के ट्रांसफर के मामले में केंद्र पर हमला करते हुए कहा कि मैं व्यक्तिगत तौर पर खिरवार दंपति को अच्छे से जानती हूं, वो प्राशानिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी हैं। उनके खिलाफ लगे आरोप बेबुनियाद है। ये सीधे तौर पर केंद्र सरकार की साजिश है।

Maneka Gandhi termed the transfer of IAS couple on charges of walking a dog as a conspiracy by the Center | मेनका गांधी ने कुत्ता टहलाने के आरोप में हुए आईएएस दंपति के ट्रांसफर को केंद्र की साजिश बताया

फाइल फोटो

Next
Highlightsमेनका गांधी ने केंद्र द्वारा कुत्ता घुमाने वाले आईएएस दंपति के ट्रांसफर को लेकर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई हैउन्होंने कहा, मैं व्यक्तिगत तौर पर आईएएस दंपति को जानती हूं, उनके खिलाफ लगे आरोप बेबुनियाद हैंकेंद्र सरकार ने साजिश के तहत खिरवार दंपति को दिल्ली से लद्दाख और अरुणाचल भेजा है

दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने केंद्र सरकार द्वारा दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले वाले आईएएस अधिकारी के लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश में किये गये ट्रांसफर को लेकर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई है।

इस मामले में मेनका गांधी ने शनिवार को यूपी के बदायूं में कहा कि वरिष्ठ आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार और उनकी पत्नी रिंकू डुग्गा को मैं व्यक्तिगत तौर पर अच्छे से जानती हूं, वो प्राशानिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी हैं। उनके खिलाफ लगे आरोप बेबुनियाद है। दुर्भाग्यपूर्ण मामले में उनका ट्रांसफर किया जाना दिल्ली के लिए बड़ा नुकसान है और केंद्र सरकार ने साजिश के तहत उन दोनों को दिल्ली से लद्दाख और अरुणाचल भेजा है।

अपनी पार्टी के सरकार द्वारा किये फैसले की निंदा करते हुए मेनका गांधी ने बिना कारण बताये खिरवार दंपति के खिलाफ केंद्र सरकार की गई कार्रवाई पर सवाल खड़ा किया है।

उन्होंने कहा कि इस अपमानजनक तरीके से किसी वरिष्ठ अफसर को इस तरह से उठाकर कहीं भी ट्रांफशर नहीं किया जा सकता है। मेनका गांधी ने खिरवार दंपति का पक्ष लेते हुए कहा कि मैं व्यक्तिगत तौर पर जानती हूं कि संजीव खिरवार और उनकी पत्नी रिंकू डुग्गा बेहद ईमानदार हैं।

उन्होंने दिल्ली में सेक्रेटरी ऑफ इन्वायरमेंट के पद पर तैनाती के दौरान दिल्ली के लिए बेहद सराहनीय कार्य किये हैं। वह सभी लोगों की परेशानियां सुनते थे और उन पर उचित कार्रवाई करते थे। इसलिए उन की गई केंद्र की कार्रवाई पूरी तरह से गलत है।

इसके साथ ही मेनका गांधी ने यह भी कहा कि लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश के लोग खिरवार दंपति के वहां जाने से काफी प्रसन्न होंगे क्योंकि उन्हें भी काबिल अधिकारियों की जरूरत है।

मालूम हो कि बीते 26 मई को गृह मंत्रालय ने दिल्ली सरकार में तैनात वरिष्ठ आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार और उनकी आईएएस पत्नी रिंकू डुग्गा का तबादला उन आरोपों के बाद कर दिया था, जिसमें कहा गया था कि संजीव खिरवार अपनी पत्नी के साथ कुत्ता टहलाने के लिए रोजाना शाम 7 बजे के बाद त्यागराज स्टेडियम में जाते हैं, जिसके कारण वहां प्रैक्टिस करने वाले खिलाड़ियों को स्टेडियम में प्रवेश नहीं दिया जाता है।

केंद्र सरकार ने इस मामले में को गंभीरता से लेते हुए संजीव खिरवार को लद्दाख और उनकी पत्नी रिंकू डुग्गा को अरुणाचल प्रदेश ट्रांसफर कर दिया था। 

Web Title: Maneka Gandhi termed the transfer of IAS couple on charges of walking a dog as a conspiracy by the Center

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे