Maharashtra Sheetal Amte social activist and granddaughter of Baba Amte dies allegedly by suicide Anandwan Chandrapur | समाजसेवी बाबा आमटे की पोती डॉ. शीतल ने की आत्महत्या, मरने से पहले सोशल मीडिया पर डाली एक तस्वीर
जनवरी 2016 में विश्व आर्थिक मंच द्वारा 'यंग ग्लोबल लीडर 2016' के रूप में चुना गया था। (file photo)

Highlightsअभी सुसाइड के कारण का पता नहीं चल पाया है।चंद्रपुर जिले में अपने निवास आनंदवन में आत्महत्या की। 

चंद्रपुरः स्वर्गीय बाबा आमटे की पोती और एक वरिष्ठ सामाजिक सेविका डॉ. शीतल आमटे ने आत्महत्या कर ली है। अभी सुसाइड के कारण का पता नहीं चल पाया है। शीतल आमटे के पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

शीतल आमटे-करजगी ने सोमवार को आत्महत्या कर ली। शीतल ने चंद्रपुर जिले में अपने निवास आनंदवन में आत्महत्या की। मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। बाबा आमटे की पोती शीतल भारतीय सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ, विकलांगता विशेषज्ञ और सामाजिक उद्यमी थीं। 

बाबा आमटे का 2008 में निधन हो गया था

शीतल (39) ने यह कदम ऐसे समय में उठाया, जब हाल में उनके और आमटे परिवार के अन्य सदस्यों के बीच बाबा आमटे द्वारा स्थापित समाज सेवा संगठन ‘महारोगी सेवा समिति’ के प्रबंधन को लेकर विवाद सार्वजनिक हो गया था। रेमन मैगसायसाय और पद्म विभूषण से सम्मानित बाबा आमटे का 2008 में निधन हो गया था।

डाक्टरों ने शीतला आमटे को मृत घोषित कर दिया

वरोरा के उपजिला अस्पताल में उपचार के लिए ले जाने पर डाक्टरों ने शीतला आमटे को मृत घोषित कर दिया, शीतल ने जहरीले इंजेक्शन का इस्तेमाल करके जान दे दी है। डॉक्टर शीतल आमटे को जनवरी 2016 में विश्व आर्थिक मंच द्वारा 'यंग ग्लोबल लीडर 2016' के रूप में चुना गया था। आनंदवन के महारोगी सेवा समिति सीईओ थीं।

पुलिस ने उन खबरों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है, जिनमें कहा गया है कि शीतल ने जहर का टीका लगाकर कथित रूप से आत्महत्या की। उनके शव को पोस्टपार्टम के लिए वरोरा से चंद्रपुर ले जाया गया। सूत्रों ने बताया कि नागपुर से फोरेंसिक विशेषज्ञों का एक दल वरोरा गया है और आनंदवन में उस कक्ष को सील कर दिया गया है, जहां शीतल का शव मिला था।

शीतल, विकास आमटे और भारती आमटे की बेटी थीं

मरने से पहले शीतला आमटे ने पेंटिंग शेयर की है। शीतल, विकास आमटे और भारती आमटे की बेटी थीं और डॉक्टर प्रकाश आमटे की भतीजी थीं। 72 साल से चंद्रपुर जिले के वरोरा तहसील के आनंदवन में बाबा आमटे का परिवार कुष्ठ रोगियों की सेवा कर रहा है।

बाबा आमटे के बेटों विकास और प्रकाश एवं बहुओं भारती और मंदाकिनी ने शीतल (विकास की बेटी) द्वारा सोशल मीडिया के माध्यम से लगाए गए आरोपों पर हाल में स्पष्टीकरण जारी किया था। शीतल समिति की सीईओ थीं। विकास, प्रकाश, भारती और मंदाकिनी ने स्पष्टीकरण दिया था, ‘‘महारोगी सेवा समिति, वरोरा देश में अग्रणी समाज सेवा संगठन है। इसने वंचितों के विकास को दिशा एवं प्रेरणा दी। लाखों सामाजिक कार्यकर्ताओं को यहां प्रशिक्षण दिया गया। आमटे परिवार की तीन पीढ़ियां इस कार्य में जुटी हैं।’

कुछ दिन पहले बाबा आमटे की पोती ने आनंदवन के अंदर आर्थिक घोटालों को लेकर फेसबुक पर एक लाइव डिस्कशन किया था, जिसके बाद मचे विवाद के बाद डॉक्टर शीतल ने फेसबुक से ये वीडियो पोस्ट डिलीट कर दिया था।

उन्होंने कहा था, ‘‘शीतल गौतम कराजगी (शीतल विकास आमटे) ने हमारे संगठन के कार्यों में योगदान दिया, लेकिन वह मानसिक तनाव एवं अवसाद से जूझ रही हैं। अपनी सोशल मीडिया पोस्ट पर ये बात स्वीकार करते समय, उन्होंने महारोगी सेवा समिति के कार्य, न्यासियों और कर्मियों के बारे में अनुचित बयान दिए।’’

आमटे परिवार ने कहा था, ‘‘उनकी सभी टिप्पणियां निराधार हैं। आमटे परिवार शीतल के आरोपों के कारण पैदा हो सकने वाली गलतफहमियों को रोकने के लिए आपसी विचार-विमर्श के बाद यह बयान जारी कर रहा है।’’

Web Title: Maharashtra Sheetal Amte social activist and granddaughter of Baba Amte dies allegedly by suicide Anandwan Chandrapur

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे