अगर ऐसी राजनीति चल रही है तो कौन अनुमान लगा सकता है अगले दो महीने में क्या होगा, केंद्रीय मंत्री ने कहा-ऐसा जादू हुआ...

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: November 23, 2022 03:43 PM2022-11-23T15:43:27+5:302022-11-23T15:44:14+5:30

औरंगाबाद जिले के कन्नड़ शहर में केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता रावसाहेब दानवे ने 2019 के विधानसभा चुनावों के परिणाम के बाद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना के बदले हुए राजनीतिक रुख के बारे में भी बात की।

maharashtra sajkar Union Minister Raosaheb Danve said If such politics is going then who can guess what will happen next two months such magic happened | अगर ऐसी राजनीति चल रही है तो कौन अनुमान लगा सकता है अगले दो महीने में क्या होगा, केंद्रीय मंत्री ने कहा-ऐसा जादू हुआ...

एमवीए सरकार में शिवसेना के अलावा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस शामिल थी।

Next
Highlightsकिसी ने नहीं सोचा था कि सत्ता में ढाई साल पूरे करने वाली एमवीए सरकार गिर जाएगी।एकनाथ शिंदे और शिवसेना के 39 विधायकों द्वारा ठाकरे के नेतृत्व के खिलाफ बगावत करने के बाद गिर गई।एमवीए सरकार में शिवसेना के अलावा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस शामिल थी।

औरंगाबादः केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता रावसाहेब दानवे ने महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार के बीच कार्यकाल में ही गिरने की अटकलों का संदर्भ देते हुए कहा कि ‘ऐसी राजनीति चलती रही’ तो कोई नहीं जानता कि दो महीने बाद क्या होगा।

 

औरंगाबाद जिले के कन्नड़ शहर में सभा को संबोधित करते हुए, भाजपा नेता ने 2019 के विधानसभा चुनावों के परिणाम के बाद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना के बदले हुए राजनीतिक रुख के बारे में भी बात की। दानवे ने कहा, ‘‘किसी ने नहीं सोचा था कि सत्ता में ढाई साल पूरे करने वाली एमवीए सरकार गिर जाएगी। लेकिन ऐसा जादू हुआ कि सरकार एक रात में गिर गई।

अगर ऐसी राजनीति चल रही है तो कौन अनुमान लगा सकता है कि अगले दो महीने में क्या होगा।’’ उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली एमवीए सरकार इस साल जून में एकनाथ शिंदे और शिवसेना के 39 विधायकों द्वारा ठाकरे के नेतृत्व के खिलाफ बगावत करने के बाद गिर गई।

एमवीए सरकार में शिवसेना के अलावा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस शामिल थी। दानवे ने कहा कि जब 2019 के विधानसभा चुनाव के नतीजे आए, तो शिवसेना को एहसास हुआ कि उसके बिना अगली सरकार नहीं बन सकती।

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘उन्होंने (शिवसेना नेताओं ने) कहा कि पार्टी के लिए सभी विकल्प खुले हैं और उन्होंने अपनी पुरानी सहयोगी भाजपा से नाता तोड़ लिया।’’ मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा से नाता तोड़ने के बाद शिवसेना ने राकांपा और कांग्रेस से हाथ मिला लिया और उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बने। 
 

Web Title: maharashtra sajkar Union Minister Raosaheb Danve said If such politics is going then who can guess what will happen next two months such magic happened

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे