महाराष्ट्र में भारी बारिशः चिपलून में हालत गंभीर, बचाव कार्य तेज, एनडीआरएफ की टीम तैनात

By सतीश कुमार सिंह | Published: July 22, 2021 04:29 PM2021-07-22T16:29:19+5:302021-07-22T16:31:51+5:30

Maharashtra Rains Updates: वसई, विरार और पालघर में अन्य स्थानों पर बाढ़ आई है लेकिन अब तक किसी की जान जाने की सूचना नहीं है।

Maharashtra Rains Updates Situation Critical in Ratnagiri’s Khed & Chiplun Areas Says District Admin Rescue Ops on | महाराष्ट्र में भारी बारिशः चिपलून में हालत गंभीर, बचाव कार्य तेज, एनडीआरएफ की टीम तैनात

बृहस्पतिवार को नौ बचाव टीमों को राज्य में तैनात किया है।

Next
Highlightsएनडीआरएफ की मदद से सैकड़ों लोगों को उन स्थानों से निकाला।पुणे जिले में लोनावला के पास मध्य रेलवे की ट्रेन सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुईं।रत्नागिरि में कोंकण रेलवे मार्ग पर भी ट्रेन सेवाएं सुबह में रोक दी गईं।

Maharashtra Rains Updates: मुंबई में रात भर से लगातार बारिश हो रही है। कई इलाकों में जलभराव हो गया। मौसम विभाग ने अभी बारिश से कोई राहत नहीं मिलने की भविष्यवाणी की है। मुंबई, ठाणे, पालघर और रायगढ़ में बारिश जारी रहने की संभावना है।

आईएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने मुंबई के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। रेल और सड़क प्रभावित नहीं होने के बावजूद बुधवार को भारी बारिश हुई। रविवार और सोमवार को शहर में भारी बारिश हुई थी। रत्नागिरी के खेड़ और चिपलून क्षेत्रों में स्थिति गंभीर है। 

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने महाराष्ट्र के कुछ तटीय इलाकों में भारी बारिश से आई बाढ़ के बाद बृहस्पतिवार को नौ बचाव टीमों को राज्य में तैनात किया है। इनमें से चार टीमों को मुंबई भेजा गया है।

मुंबई, उसके पड़ोसी जिले ठाणे और पालघर तथा कोंकण क्षेत्र के अन्य जिलों में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश हो रही है जिससे कई स्थानों पर बाढ़ आ गई है और रेल एवं सड़क यातायात सेवाएं बाधित हो गई हैं। कई नदियों का पानी का स्तर बढ़ गया है और कुछ स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर चला गया है।

एनडीआरएफ की तरफ से जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि उसकी चार टीमों को मुंबई, और एक-एक टीम को ठाणे और पालघर जिलों में तैनात किया गया है। एक टीम दोपहर बाद रत्नागिरि जिले के चिपलुन नगर पहुंचेगी। एनडीआरएफ ने बताया कि इसके अलावा दो टीमों को कोल्हापुर जिला भेजा गया है।

इनमें से एक बाढ़ के खतरे वाले शिरोल तहसील में बचाव या एहतियाती कार्य करेगी जबकि दूसरी टीम कोल्हापुर शहर में बचाव कार्य करेगी। एक स्थानीय अधिकारी ने इससे पहले बताया था कि ठाणे के साहापुर तालुका में कुछ गांव डूब गए। 

महाराष्ट्र: कोल्हापुर में लगातार बारिश, कई मार्ग यातायात के लिए बंद

महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश से कई राज्य राजमार्गों के कुछ हिस्सों पर पानी भरने की समस्या पैदा हो गई और उसे यातायात के लिए बंद करना पड़ा। अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बृहस्पतिवार सुबह आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में पश्चिमी महाराष्ट्र के इस जिले में रिकॉर्ड स्तर पर 93 मिमी बारिश दर्ज की गई।

जिला आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ ने बताया कि कोल्हापुर की पंचगंगा नदी में राजाराम बांध में जलस्तर ‘चेतावनी’ के स्तर को पार कर गया। प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘अपराह्न दो बजे तक कोल्हापुर के निकट राजाराम बांध में जलस्तर 38.10 फुट दर्ज किया गया।’’ पंचगंगा में खतरे का स्तर 43 फुट है और जिले में पानी को रोकने के लिए बने छोटे-छोटे 81 बांध बारिश के बाद जलमग्न हो गए।

उन्होंने बताया, ‘‘ तीन जिला सड़कों को बंद करना पड़ा क्योंकि इसके कई हिस्से जलमग्न हो गए। कई ग्रामीण इलाकों में पुल के ऊपर से पानी बह रहा है और ऐसे में यहां यातायात गतिविधियां बंद हैं। जिले से गुजरने वाले कुछ राज्य राजमार्ग पर भी यातायात प्रभावित है।’’

महाराष्ट्र: पूर्वी विदर्भ क्षेत्र में मध्यम बारिश होने की संभावना

महाराष्ट्र के पूर्वी विदर्भ क्षेत्र में बृहस्पतिवार को कई जगहों पर गरज के साथ बौछारें पड़ने और हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। आईएमडी ने अपने ताजा बयान में कहा कि दिन के दौरान नागपुर (काटोल, रामटेक), वर्धा (हिंगणघाट), चंद्रपुर और अमरावती डिवीजन क्षेत्र में कई स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा के साथ गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है।

आईएमडी के अधिकारी के मुताबिक विदर्भ क्षेत्र के अकोला, भंडारा, यवतमाल (पुसद) और गढ़चिरौली जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भी बारिश की संभावना है। जिला सूचना केन्द्र के मुताबिक अपराह्न एक बजकर 10 मिनट तक वर्धा में 26.5 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि नागपुर में 41.8 मिमी, भंडारा में 38.9 मिमी, गोंदिया में 10.4 मिमी, चंद्रपुर में 47.6 मिमी और गढ़चिरौली में 19.4 मिमी बारिश हुई।

महाराष्ट्र के कसारा घाट में भारी बारिश से रेल पटरियां प्रभावित, ट्रेन सेवाएं बाधित

मुंबई और आस-पड़ोस के इलाकों में रातभर हुई भारी बारिश के चलते बाढ़ आ गई और यहां से पास कसारा घाट एवं अन्य इलाकों में कुछ रेल पटरियां अपनी जगह से खिसक गईं तथा कुछ स्थानों पर मिट्टी धंसने एवं बड़े पत्थर गिरने से लंबी दूरी की और स्थानीय ट्रेन सेवाएं बुरी तरह बाधित हुईं।

रेलवे के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि लंबी दूरी की कुछ ट्रेनों को विभिन्न स्थानों पर रोका गया और फंसे हुए रेल यात्रियों के लिए विशेष बसों की व्यवस्था की गई। मध्य रेलवे के मुख्य प्रवक्ता शिवाजी सुतार ने बताया कि मध्य रेलवे की उपनगरीय ट्रेन सेवाएं बुधवार रात से दक्षिण मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) से पड़ोस के ठाणे जिले में केवल अंबरनाथ स्टेशन और टिटवाला तक चल रही हैं।

उन्होंने बताया कि भारी बारिश के कारण इस रेलवे खंड पर विभिन्न स्थानों पर रेलवे पटरियां बह जाने, पत्थरों के गिरने और बाढ़ एवं मिट्टी धंसने के बाद तितवाला से इगतपुरी (ठाणे से सटे नासिक जिले में) और अंबरनाथ से पड़ोस के पुणे जिले में लोनावला तक ट्रेन परिचालनों को रोक दिया गया है। 

Web Title: Maharashtra Rains Updates Situation Critical in Ratnagiri’s Khed & Chiplun Areas Says District Admin Rescue Ops on

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे