एकनाथ शिंदे को छोड़ उद्धव ठाकरे कैम्प में लौटे कैलाश पाटिल का दावा- 'कैद करके रखा गया था, भागने के लिए एक किमी तक पैदल चलते रहे'

By विनीत कुमार | Published: June 23, 2022 04:41 PM2022-06-23T16:41:23+5:302022-06-23T16:54:38+5:30

महाराष्ट्र में जारी सियासी ड्रामे के बीच एकनाथ शिंदे कैम्प से उद्धव ठाकरे कैम्प में लौटे कैलाश पाटिल और नितिश देखमुख ने कहा है कि उन्हें धोखे से ले जाया गया था और कैद कर रखा गया था।

Maharashtra Politics news Shiv Sena MLA Kailash Patil and Nitin Deshmukh claims they were kidnapped | एकनाथ शिंदे को छोड़ उद्धव ठाकरे कैम्प में लौटे कैलाश पाटिल का दावा- 'कैद करके रखा गया था, भागने के लिए एक किमी तक पैदल चलते रहे'

कैलाश पाटिल (बाएं) और नितिन देशमुख (फोटो- एएनआई)

Next
Highlightsमुझे एकनाथ शिंदे का साथ देने के लिए कहा गया, बिना कुछ बताए ले जाया गया: कैलाश पाटिलमैं वापस आना चाहता था, मोटरसाइकिल और ट्रक वाले से लिफ्ट लेकर भागा: कैलाश पाटिलदूसरी ओर आरोपों के जवाब में एकनाथ शिंदे के कैम्प की ओर से तस्वीरें जारी की गई हैं।

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में जारी गहमागहमी के बीच गुवाहाटी से लौटे शिवसेना विधायक नितिन देशमुख ने दावा किया है कि उनका भाजपा द्वारा अपहरण किया गया था। संजय राउत के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में नितिन देशमुख सहित गुवाहाटी से लौटे उनके एक और साथी कैलाश पाटिल भी मौजूद रहे।

देशमुख ने दावा किया कि उन्हें 'दिल का दौरा' पड़ने के बहाने पुलिस अधिकारियों द्वारा जबरन अस्पताल ले जाया गया। पाटिल ने भी इसी तरह के आरोप लगाए और दावा किया कि कैद से बचने के लिए उन्हें 1 किलोमीटर दौड़ना पड़ा।

कैलाश पाटिल ने कहा- चली गई गंदी चाल

कैलाश पाटिल ने कहा, 'मुझे एकनाथ शिंदे का साथ देने के लिए कहा गया। मुझे किसी अन्य स्थान पर ले जाया गया, जबकि उन्होंने कहा कि हम किसी और जगह जाएंगे। कुछ लोगों ने गंदी चाल चली। वे हमारी कारों को लगातार बदलते रहे। ठाणे से वसई से विरार तक, हमें अज्ञात स्थानों पर ले जाया जा रहा था। कुछ अजीब चीजें हो रही थीं, और जब हम सीमा चौकी पर पहुंचे, तो मैं समझ गया कि हमें दूसरे राज्य में ले जाया जा रहा है।'

कैलाश पाटिल ने कहा, 'हमें फंसा लिया गया था और हमें सूरत ले जाया गया। मैं वापस आना चाहता था इसलिए मैंने ट्रकों के बीच वापस चेक पोस्ट तक चलना शुरू कर दिया। मैंने एक मोटरसाइकिल वाले से भी लिफ्ट ली। फिर मैंने एक ट्रक वाले से लिफ्ट मांगी। मैं भागने के लिए एक किलोमीटर पैदल चलता रहा। हम शिवसेना को नहीं छोड़ेंगे, जिसने हमें विधायक बनाया।'

नितिन देशमुख ने भी लगाए बड़े आरोप

दूसरी ओर नितिन देशमुख ने आरोप लगाया कि पूरी रात की कहानी भाजपा द्वारा रची गई थी, जिसकी ओर से 'लगातार सरकार गिराने की कोशिश' की जा रही थी। देशमुख ने कहा, 'हमें सड़क मार्ग से गुजरात ले जाया गया। कार में हमारे साथ तीन मंत्री थे और वे कॉल पर किसी के साथ बात कर रहे थे। हमें नहीं पता था कि हमें कहां ले जाया जा रहा है। भाजपा ने सब कुछ योजना बनाई थी। मुझे बरगलाया गया और सूरत ले जाया गया। यह  सरकार के खिलाफ एक साजिश थी।'

इससे पहले देशमुख की पत्नी ने मंगलवार को महाराष्ट्र के अकोला के एक थाने में उनके लापता होने की शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि उनकी जान को खतरा है। देशमुख को कथित तौर पर बीमार होने के बाद मंगलवार को सूरत के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। देशमुख महाराष्ट्र में बालापुर क्षेत्र से विधायक हैं।

एकनाथ शिंदे ने तस्वीरें जारी कर आरोपों पर दिया जवाब

इन आरोपों के बीच एकनाथ शिंदे के कैंप की ओर से तस्वीरें जारी की गई हैं। इसमें नितिश देशमुख चार्टड विमान में कुछ अन्य विधायकों के साथ बैठे नजर आ रहे हैं।


गौरतलब है कि सूत्रों के हवाले से कल ये खबर आई थी कि देशमुख बुधवार सुबह सूरत से चार्टर्ड विमान से गुवाहाटी पहुंचे लेकिन वह महाराष्ट्र के बागी मंत्री एकनाथ शिंदे और अन्य विधायकों के साथ उस होटल में नहीं गए जहां उनके अन्य सहयोगी ठहरे हुए हैं। देशमुख शिवसेना के पांच कार्यकर्ताओं के साथ कुछ घंटों तक गुवाहाटी के गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर रुके और फिर एक अन्य चार्टर्ड विमान से नागपुर रवाना हो गए। 

Web Title: Maharashtra Politics news Shiv Sena MLA Kailash Patil and Nitin Deshmukh claims they were kidnapped

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे