महाराष्ट्रः 40 से अधिक बागी विधायकों के परिवारों की सुरक्षा वापस ली गई, राज्यपाल ने केंद्रीय सचिव को लिखा पत्र, पुलिस पर लगाए आरोप

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: June 27, 2022 07:17 AM2022-06-27T07:17:49+5:302022-06-27T07:22:33+5:30

पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को कहा कि कोश्यारी ने महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) रजनीश सेठ को बागी विधायकों के परिवारों और घरों को पर्याप्त पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कहा।

maha political crisis Security 45 rebel MLAs withdrawn Governor claims in letter to Union Secretary accuses police | महाराष्ट्रः 40 से अधिक बागी विधायकों के परिवारों की सुरक्षा वापस ली गई, राज्यपाल ने केंद्रीय सचिव को लिखा पत्र, पुलिस पर लगाए आरोप

महाराष्ट्रः 40 से अधिक बागी विधायकों के परिवारों की सुरक्षा वापस ली गई, राज्यपाल ने केंद्रीय सचिव को लिखा पत्र, पुलिस पर लगाए आरोप

Next
Highlightsबागी विधायकों के कार्यालयों पर तोड़फोड़ के मद्देनजर ज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने केंद्र से सुरक्षा की मांग की हैज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला को पत्र लिखकर विधायकों के वापस लिए गए सुरक्षा पर चिंता जाहिर की

मुंबईः महाराष्ट्र में शिवसेना के कार्यकर्ताओं द्वारा बागी विधायकों के कार्यालयों में तोड़फोड़ के मद्देनजर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला को पत्र लिखकर राज्य में केंद्रीय सुरक्षा बलों की पर्याप्त व्यवस्था करने का आग्रह किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ बागी विधायकों के कार्यालयों और घरों में तोड़फोड़ के दौरान पुलिस ‘‘मूक दर्शक’’ बनी रही।

पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को कहा कि कोश्यारी ने महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) रजनीश सेठ को बागी विधायकों के परिवारों और घरों को पर्याप्त पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कहा। कोश्यारी ने 25 जून को लिखे अपने पत्र में कहा है कि उन्हें शिवसेना के 38 विधायकों, प्रहार जनशक्ति पार्टी के दो सदस्यों और सात निर्दलीय विधायकों से एक आवेदन मिला है जिसमें कहा गया है कि उनके परिवारों की पुलिस सुरक्षा ‘‘अवैध और गैर कानूनी तरीके से वापस ले ली गई है।’’

शिवसेना के कई विधायक पार्टी के वरिष्ठ मंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व में गुवाहाटी में डेरा डाले हुए हैं, जो महा विकास आघाड़ी (एमवीए) से शिवसेना के बाहर निकलने की मांग समेत अन्य मुद्दे उठा रहे हैं। कोश्यारी ने पत्र में लिखा है, ‘‘उन्होंने कुछ राजनीतिक नेताओं द्वारा भड़काऊ और धमकी भरे बयानों के संदर्भ में अपने आवासों और परिवारों की सुरक्षा को लेकर भी गंभीर चिंता जताई है।’’

राज्यपाल ने कहा कि उन्होंने पहले ही राज्य पुलिस को विधायकों और उनके परिवारों को तत्काल पर्याप्त पुलिस सुरक्षा प्रदान करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। पत्र में कहा गया, ‘‘इसके बावजूद कुछ विधायकों के कार्यालयों और आवासों में तोड़फोड़ की गई और पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है। इसलिए यह आग्रह किया जाता है कि स्थिति से निपटने के लिए आवश्यक होने पर केंद्रीय सुरक्षा बलों की पर्याप्त व्यवस्था की जाए और उन्हें तैयार रखा जाए।’’

इससे पहले, अधिकारियों ने कहा कि कोविड​​-19 से उबरने के बाद रविवार को राज्यपाल को मुंबई के एक अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। राज्यपाल ने कहा, ‘‘अत: मैं आपको (डीजीपी) विधायकों, उनके परिवारों और घरों को तत्काल पर्याप्त पुलिस सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश देता हूं। मुझे इस संबंध में की गयी कार्रवाई से अवगत कराया जाए।’’ गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने रविवार को शिवसेना के कम से कम 15 बागी विधायकों को सीआरपीएफ जवानों से लैस 'वाई प्लस' श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की।

Web Title: maha political crisis Security 45 rebel MLAs withdrawn Governor claims in letter to Union Secretary accuses police

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे