Madhya Pradesh two police Officials transferred for action on youth celebrating ram mandir bhoomipujan | मध्य प्रदेश: राम मंदिर भूमिपूजन का जश्न मनाने पर युवकों पर की थी कार्रवाई, दो पुलिस अधिकारियों का तबादला
मध्य प्रदेश: पुलिस ने की कार्रवाई तो हो गया ट्रांसफर (फोटो- वीडियो ग्रैब)

Highlightsमध्य प्रदेश के खरगौन में युवकों पर कार्रवाई करना पुलिस के अधिकारियों के लिए पड़ा भारीराम मंदिर का पटाखे फोड़ कर जश्न मनाने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की थी

अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमिपूजन के बाद मध्य प्रदेश के खरगौन में कुछ व्यापारियों और स्थानीय युवकों द्वारा सड़कों पर पटाखे फोड़ने और जश्न मनाने के खिलाफ कार्रवाई करने वाले दो पुलिस अधिकारियों का शुक्रवार को ट्रांसफर कर दिया गया।

पुलिस की कार्रवाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने इस पर सवाल उठाए थे। कैलाश विजयवर्गीय ने ट्विटर पर वीडियो को शेयर करते हुए लिखा था, 'खरगौन पुलिस बंगाल की पुलिस की तरह व्यवहार क्यों कर रही है?'

साथ ही उन्होंने लिखा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा है कि आज का दिन देश के लिए गौरव वाला है। अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास हो गया। पूरा देश जश्न मना रहा है। ऐसी स्थिति में खरगौन से सर्राफा बाजार में जश्न मना रहे युवाओं पर पुलिस की कार्रवाई सही नहीं है।'

मध्य प्रदेश में बीजेपी की सरकार है। कैलाश विजयवर्गीय ने इस वीडियो को शेयर करते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को भी ट्विटर पर टैग किया था और उन्हें सलाह दी थी कि वे अपने पुलिस बल को समझाएं।

पुलिस ने क्यों की कार्रवाई, क्या है खरगौन का पूरा मामला

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के लिए भूमिपूजन किया। इस कार्यक्रम के बाद खरगौन के सर्राफा बाजार में कुछ व्यापारी और स्थानीय युवक जमा हुए थे और गलियों में खुशिया मनाते हुए पटाखे फोड़े।

पुलिस ने हालांकि सांप्रदायिक तौर पर इस बेहद संवेदनशील इलाके में काननू-व्यवस्था को बरकरार रखने के लिए इन युवकों के खिलाफ कार्रवाई की। साथ ही कोरोना संक्रमण का खतरा भी बना हुआ है।

बहरहाल, व्यापारियों का आरोप है कि जश्न मना रहे कई लोगों को करीब एक घंटे तक पुलिस हिरासत में रखा गया। उन्होंने ये भी आरोप लगाया कि पुलिस ने पटाखे फोड़ने के लिए उन्हें पीटा। वीडियो वायरल होने के बाद विश्व हिंदू परिषद सहित दूसरे संगठन भी हरकत में आ गए और गुरुवार को खरगौन में प्रदर्शन भी किया।

खरगौन में अभी कोरोना के 850 से ज्यादा मामले हैं। साथ ही 18 लोगों की मौत भी यहां कोरोना से हो चुकी है। इंदौर के बाद निमार क्षेत्र में खरगौन कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित जिला है।

English summary :
On Friday, two police officers who took action against local youths celebrating the streets in Khargone, Madhya Pradesh after Bhoomipujan for Ram temple in Ayodhya.


Web Title: Madhya Pradesh two police Officials transferred for action on youth celebrating ram mandir bhoomipujan
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे