LS polls 2019: Hema Malini Says Visited Mathura 250 Times, dismissed as rubbish Who talk about outsider | मथुरा को लेकर लगे सारे आरोपों को हेमा मालिनी ने किया खारिज, कहा- '250 बार बार गई हूं वहां, कृष्ण की गोपी हूं'
मथुरा को लेकर लगे सारे आरोपों को हेमा मालिनी ने किया खारिज, कहा- '250 बार बार गई हूं वहां, कृष्ण की गोपी हूं'

Highlightsसात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से शुरू होंगे और 19 मई तक चलेंगे। मतगणना 23 मई को होगी।हेमा मालिनी के खिलाफ मथुरा में कांग्रेस ने महेश पाठक को उम्मीदवार बनाया है।

मथुरा से भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) की उम्मीदवार हेमा मालिनी ने 25 मार्च को जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी के समक्ष नामांकन दाखिल किया। नामांकन दाखिल करने के बाद हेमा मालिनी ने बाहरी व्यक्ति होने के लगे रहे सारे आरोपों को निरर्थक और बकवास बताया है। हेमा ने अपने ऊपर लगे सारे आरोपों को खारिज करते हुए कहा है, मैं भगवान कृष्ण की गोपी हूं और मैंने 250 बार मथुरा का दौरा किया है।'' 

हेमा ने कहा, ''मैंने अपने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का पूरा ध्यान रखा है, तो मेरे ऊपर जो भी ऐसे आरोप लगा रहा है उसके पीछे कोई तर्क नहीं है।''  हेमा मालिनी ने ये बात एनडीटीवी के रिपोर्टर से कही। 

हेमा मालिनी के नाम को लेकर बीजेपी थी दुविधा में! 

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर उम्मीदवारों को टिकट देने से पहले हेमा मालिनी के नाम को लेकर बीजेपी विचार कर रही थी। रिपोर्टों में कहा गया था कि स्थानीय बीजेपी नेता हेमा मालिनी के फिर से नामांकन के खिलाफ थे। इसके साथ ही वहां के कुछ कार्यकर्ता भी नाराज थे। लेकिन हेमा मालिनी का इस बारे में कहना है कि बीजेपी के स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं को किसी तरह की कोई दुविधा हो गई थी। लेकिन अब सब सही है। 

हेमा मालिनी ने नामांकन दाखिल करने कहा- 2019 के बाद नहीं लडूंगी चुनाव

हेमा मालिनी ने 25 मार्च को जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी के समक्ष नामांकन दाखिल करने के बाद ऐलान कर दिया है कि वे अगली बार स्वयं चुनाव न लड़कर युवाओं को आगे आने का मौका देंगी तथा खुद संगठन के कार्य करना पसंद करेंगी। उन्होंने साफ कर दिया है कि  2019 के बाद हेमा मालिनी चुनाव नहीं लड़ेंगी। 

हेमा ने कहा, ‘यह मेरा आखिरी चुनाव है। मैं इसके बाद कोई चुनाव नहीं लडूंगी और इसकी जगह संगठन में रहकर जनता की भलाई के कार्य करना चाहूंगी।’’ 

पार्टी व प्रधानमंत्री की आभारी हूं कि उन्होंने मुझ पर भरोसा जताया: हेमा मालिनी

इस मौके पर हेमा मालिनी ने कहा, ‘यूं तो मैं दुबारा चुनाव नहीं लड़ना चाहती थी। घरवालों का भी यही मत था। लेकिन मुझे लगा कि प्रधानमंत्री देश को आगे बढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं तो उनके हाथ मजबूत करने के लिए मुझे भी कुछ करना चाहिए, तब मैंने पुनः चुनाव लड़ने का मन बनाया और मथुरा से ही लड़ने का संकल्प लिया। इसके लिए पार्टी व प्रधानमंत्री की आभारी हूं कि उन्होंने मुझ पर भरोसा जताया।’’ हेमा मालिनी ने अपने बयान में उनकी उम्मीदवारी का विरोध करने वाले पार्टी नेताओं के एक धड़े को भी संतुष्ट करने का प्रयास किया।

मथुरा के लिए कुछ भी करना सपना था: हेमा मालिनी

हेमा मालिनी ने कहा, ‘बरसों से मेरा सपना था कि मैं मथुरा के लिए कुछ कर सकूं। इसलिए, पिछले पांच वर्षों में काफी-कुछ करने की कोशिश की। लेकिन, अभी बहुत कुछ करना रह गया है। उम्मीद करती हूं कि यहां की जनता मुझे वह सब भी करने का मौका देगी। मैं इस नगरी को कृष्ण काल के समान ही भव्य एवं दिव्य नगरी बनाना चाहती हूं।’ 

नामांकन से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ हेमा ने की पूजा 

पर्चा भरने से पहले हेमा मालिनी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ वृन्दावन स्थित बांकेबिहारी मंदिर में पूजा-अर्चना की। ठाकुरजी का आशीर्वाद लेकर हेमा मालिनी ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर अपना नामांकन दाखिल किया। 

उल्लेखनीय है कि हेमा मालिनी ने 16वीं लोकसभा के लिए 2014 में हुए चुनाव में तत्कालीन सांसद जयंत चौधरी को तीन लाख 30 हजार से भी अधिक मतों से शिकस्त देकर यह सीट राष्ट्रीय लोकदल से हासिल की थी। उनके खिलाफ यहां से कांग्रेस ने महेश पाठक को उम्मीदवार बनाया है। सपा-बसपा के गठबंधन समर्थित राष्ट्रीय लोकदल ने पूर्व ब्लॉक प्रमुख नरेंद्र सिंह को प्रत्याशी बनाया है। 

सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल से शुरू होंगे और 19 मई तक चलेंगे। मतगणना 23 मई को होगी। देशभर में लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल, 18 अप्रैल, 23 अप्रैल, 29 अप्रैल, छह मई, 12 मई और 19 मई को होंगे।


Web Title: LS polls 2019: Hema Malini Says Visited Mathura 250 Times, dismissed as rubbish Who talk about outsider