जम्मू में भगवान बालाजी मंदिर डेढ़ साल में दो चरणों में बन जाएगा: मनोज सिन्हा

By भाषा | Published: June 13, 2021 09:25 PM2021-06-13T21:25:49+5:302021-06-13T21:25:49+5:30

Lord Balaji temple in Jammu to be built in two phases in one and a half year: Manoj Sinha | जम्मू में भगवान बालाजी मंदिर डेढ़ साल में दो चरणों में बन जाएगा: मनोज सिन्हा

जम्मू में भगवान बालाजी मंदिर डेढ़ साल में दो चरणों में बन जाएगा: मनोज सिन्हा

Next

जम्मू, 13 जून जम्मू में भगवान वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर के ‘भूमि पूजन’ कार्यक्रम को जम्मू कश्मीर के लिए ‘ ऐतिहासिक और गौररवपूर्ण दिन’ करार देते हुए जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को कहा कि 33.22 करोड़ रुपये की लागत से इस मंदिर के दो चरणों में डेढ साल में बन जाने की संभावना है।

सिन्हा ने कहा कि इस मंदिर के निर्माण से विभिन्न क्षेत्रों में अवसरों के द्वार खुलेंगे तथा निश्चित ही इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था बदलेगी।

जम्मू कश्मीर में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के एक बड़े कदम के तहत तिरुमला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) द्वारा श्री वेंकेटेश्वर स्वामी मंदिर के निर्माण के लिए यहां माजीन गांव में भूमि पूजन कार्यक्रम किया गया।

सिन्हा इस समारोह में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी और प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री जितेंद्र सिंह, टीटीडी बोर्ड के अध्यक्ष वाई बी सुब्बा रेड्डी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य वी राम माधव एवं अन्य गणमान्य अतिथियों के साथ शामिल हुए। इस कार्यक्रम में शिलान्यास पट्टिका भी लगायी गयी।

उपराज्यपाल ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘ जब यह विशाल मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा, तब यह आस्था के केंद्र के साथ-साथ अध्यात्मिकता का स्थल होगा। ’’

उन्होंने कहा कि टीटीडी बोर्ड संस्कृत भाषा एवं पठन-पाठन की प्राचीन संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए गुरुकुल/वेद पाठशाला स्थापित करेगा। उनके अनुसार बोर्ड आंध्र प्रदेश की तर्ज पर यहां स्वास्थ्य के क्षेत्र में एक उत्कृष्टता केंद्र स्थापित करेगा।

सिन्हा ने श्री माता वैष्णो देवी की भूमि पर भगवान बालाजी का मंदिर स्थापित करने की जम्मू कश्मीर एवं उत्तर भारत के लोगों की पुरानी मांग पूरी करने के लिए टीटीडी बोर्ड और केंद्र सरकार के प्रति आभार प्रकट किया।

श्री वेंकटेश्वर स्वामी मंदिर और उससे जुड़े बुनियादी ढांचे का निर्माण जम्मू के पास मजीन गांव में 62.06 एकड़ भूमि पर किया जाएगा। मंदिर का प्रशासन टीटीडी के अधीन होगा, जो आंध्र प्रदेश में तिरुमला-तिरुपति में भगवान वेंकटेश्वर मंदिर का प्रबंधन भी करता है।

उपराज्यपाल की अगुवाई वाली जम्मू-कश्मीर प्रशासनिक परिषद ने एक अप्रैल को टीटीडी को 40 साल की अवधि के लिए पट्टे के आधार पर मंदिर और उसके संबद्ध बुनियादी ढांचे के निर्माण के लिए भूमि आवंटित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू कश्मीर में टीटीडी के आगमन से आर्थिक गतिविधियों के साथ-साथ पर्यटन क्षमता, विशेष रूप से जम्मू में तीर्थ पर्यटन में इजाफा होगा।

उन्होंने कहा कि माता वैष्णो देवी मंदिर और अमरनाथ मंदिर के अलावा भी यहां तीर्थ यात्री और पर्यटक आकर्षित होंगे और यह क्षेत्र के आर्थिक विकास में भी योगदान देगा।

कार्यक्रम में शिरकत करने वाले जम्मू-कश्मीर भाजपा अध्यक्ष रवींदर रैना ने कहा, "जम्मू मंदिरों का शहर है और शहर में सबसे श्रद्धेय बालाजी मंदिर के जुड़ने से लोगों को फायदा होगा।"

उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश और उससे सटे राज्यों के लोगों को प्रार्थना के लिए आंध्र प्रदेश जाने के बजाय यहां प्रार्थना करने का मौका मिलेगा। नेशनल कॉन्फ्रेंस के क्षेत्रीय प्रमुख देवेंद्र सिंह राणा ने आशा व्यक्त की कि स्थानीय लोगों को मंदिर निर्माण की गतिविधियों में रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे। उन्होंने कहा, “ हमें उम्मीद है कि यह उत्तर भारत के लोगों के लिए एक प्रमुख आकर्षण बन जाएगा और धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देगा।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Lord Balaji temple in Jammu to be built in two phases in one and a half year: Manoj Sinha

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे