लोकसभा चुनाव 2019: मीसा भारती पर परिवार की राजनीति विरासत बचाने की कवायद

By एस पी सिन्हा | Published: May 12, 2019 08:11 AM2019-05-12T08:11:34+5:302019-05-12T08:11:34+5:30

महाराजगंज में राजद के दबंग नेता और पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की विरासत बचाने के लिए उनके पुत्र रणधीर सिंह मैदान में हैं. इनके पिता प्रभुनाथ सिंह भी इस सीट का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं.

Lok Sabha Elections 2019 Misa Bharti's hina sahab in tough battle | लोकसभा चुनाव 2019: मीसा भारती पर परिवार की राजनीति विरासत बचाने की कवायद

मीसा भारती पाटलिपुत्र सीट से राजद की उम्मीदवार हैं।

Next
Highlights कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह की विरासत बचाने के लिए आकाश कुमार सिंह की है।सीवान से बाहुबली मो. शहाबुद्दीन की पत्नी चुनावी मैदान में हैं.

 11 मई बिहार में लोकसभा चुनाव में कुछ उम्मीदवार अपने परिवार की राजनीतिक विरासत को बचाने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं. इसको लेकर किसी नेता का बेटा तो किसी का भाई और किसी की पत्नी भी मैदान में है. अगर ये जीतने में सफल होते हैं तो अपने परिवार की राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाएंगे.

सूबे में पारिवारिक विरासत को बचाने की जद्दोजहद कर रहे लोगों में पहला नाम है मीसा भारती का है, जो राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी हैं और पाटलिपुत्र संसदीय सीट से चुनाव मैदान में हैं. उनके सामने भाजपा सांसद रामकृपाल यादव हैं.

वहीं, महाराजगंज में राजद के दबंग नेता और पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह की विरासत बचाने के लिए उनके पुत्र रणधीर सिंह मैदान में हैं. इनके पिता प्रभुनाथ सिंह भी इस सीट का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. उसी तरह वाल्मिकी नगर सीट से बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री केदार पांडे की विरासत बचाने के लिए उनके पौत्र शाश्वत केदार चुनावी समर में हैं.

महागठबंधन की ओर से सासाराम सीट से कांग्रेस की उम्मीदवार मीरा कुमार चुनाव लड़ रही हैं. पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार के पिता जगजीवन राम कांग्रेस के कद्दावर नेता थे. मीरा कुमार को राजग उम्मीदवार छेदी पासवान चुनौती दे रहे हैं.

वहीं, पूर्वी चंपारण से रालोसपा के टिकट पर अपने पिता और कांग्रेस नेता अखिलेश सिंह की विरासत बचाने के लिए आकाश कुमार सिंह तो सीवान से बाहुबली मो. शहाबुद्दीन की पत्नी चुनावी मैदान में हैं. इन नेताओं के भाग्य का फैसला छठवें चरण के चुनाव में होगा.

Web Title: Lok Sabha Elections 2019 Misa Bharti's hina sahab in tough battle