lok sabha election 2019: dynasty politics in BJP - Nepotism in Indian Politics, list of candidates who are son of leaders | लोकसभा चुनाव 2019: क्या बीजेपी भी दे रही है वंशवाद को बढ़ावा? इन नेताओं के बेटों को मिला टिकट, इनपर रहेगी नजर
Nepotism Politics in BJP | Dynasty Politics in BJP | बीजेपी राजनीतिक वंशवाद | बीजेपी राजनीतिक भाई - भतीजावाद | Nepotism in Indian Politics | राजनीतिक वंशवाद | राजनीतिक भाई - भतीजावाद

Highlightsभारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यंत्री के बेटे बी. वाई राघवेंद्र को पार्टी की ओर से टिकट मिला हैपूर्व सीएम कल्याण सिंह के बेटे रघुवीर सिंह को एटा संसदीय सीट से चुनाव लड़ेंगे। 

लोकसभा चुनाव को लेकर देश की दोनों बड़ी पार्टियां कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी एक-दूसरे पर वंशवाद को लेकर निशाना साधती रही हैं। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ब्लॉग के जरिए वंशवाद को लेकर कांग्रेस पर टिपण्णी की। पीएम मोदी ने ब्लॉग में लिखा है कि कांग्रेस हमेशा से वंशवाद की राजनीति करती रही है। वंशवाद की राजनीति से सबसे अधिक नुकसान संस्थाओं को हुआ है।  

एक तरफ नरेंद्र मोदी कांग्रेस पार्टी पर वंशवाद को लेकर हमला बोला था, वहीं दूसरी तरफ लोकसभा चुनाव की इस सियासी मैदान पर बीजेपी भी इससे बचती नहीं दिख रही है। लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अभी तक उम्मीदवारों की 7वीं लिस्ट जारी कर चुका है। इन सूचियों में पांच ऐसे उम्मीदवारों के नाम हैं जिनके पिता बीजेपी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं या रहे हैं। 

बीजेपी के इन नेताओं के बेटों को मिला टिकट

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यंत्री के बेटे बी. वाई राघवेंद्र को पार्टी की ओर से टिकट मिला है। बी. वाई राघवेंद्र को कर्नाटक के शिमोगा संसदीय सीट से चुनाव लड़ेंगे। राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत सिंह को झालावाड़-बारां (राजस्थान) से टिकट मिला है। पू्र्व बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा के बेटे जयंत सिन्हा को झारखंड के हजारीबाग संसदीय सीट से टिकट दिया गया है। पूर्व सीएम कल्याण सिंह के बेटे रघुवीर सिंह को एटा संसदीय सीट से चुनाव लड़ेंगे। 

1. बी.एस. येदियुरप्पा - बी. वाई. राघवेंद्र - शिमोगा (कर्नाटक)  
2. वसुंधरा राजे- दुष्यंत सिंह - झालावाड़-बारां (राजस्थान)
3. यशवंत सिन्हा- जयंत सिन्हा (हजारीबाग, झारखंड)
4. पीके धूमल- अनुराग ठाकुर (हमीपुर, हिमाचल प्रदेश)
5.  कल्याण सिंह- रघुवीर सिंह ( एटा, उत्तर प्रदेश )

बीजेपी के इन नेताओं के बेटों को मिल सकता है टिकट

बीजेपी की ओर से कई ऐसे नेताओं के बेटें हैं जिन्हें लोकसभा चुनाव में टिकट दिया जाना है। हालांकि पार्टी ने अभी इनके नाम फाइनल नहीं किए हैं। इस लिस्ट में बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजनाथ के बेटे पकंज सिंह, विजयाराजे की बेटी पूर्व राजस्थान सीएम वसुंधरा राजे, रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह, देबेंद्र प्रधान के बेटे धर्मेंद्र प्रधान का नाम शामिल है। हालांकि ऐसे कई बीजेपी के नेताओं के बेटे हैं जिन्हें टिकट मिल सकता है। 

राजनाथ सिंह- पकंज सिंह
विजयाराजे- वसुंधरा राजे
रमन सिंह- अभिषेक सिंह
प्रमोद महाजन- पूनम महाजन
जीएल डोगरा (दामाद)- अरुण जेटली 
वेद प्रकाश गोयल- पीयूष गोयल 
गोपीनाथ मुंडे- पंकजा मुंडे
चरती लाल गोयल- विजय गोयल
देबेंद्र प्रधान- धर्मेंद्र प्रधान
कैलाश विजयवर्गीय- आकाश विजयवर्गीय

अभी तक जारी हुए बीजेपी के उम्मीदवारों की लिस्ट से यह प्रश्न उठता है कि क्या भारतीय जनता पार्टी भी वंशवाद व परिवारवाद को बढ़ावा दे रही है। भारतीय जनता पार्टी जल्द ही उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करेगी। हालांकि जारी होने वाली लिस्ट में नेताओं के बेटों को टिकट मिलने वाली फेहरिस्त लंबी है।  
 

English summary :
Dynasty Politics in Bharatiya Janata Party (Dynasty Politics in BJP): Check the list of BJP candidates who are son of it's leaders. Nepotism Politics in BJP is fully dominated and candidates are getting importance based on their father's legacy


Web Title: lok sabha election 2019: dynasty politics in BJP - Nepotism in Indian Politics, list of candidates who are son of leaders