लोजपा में उठापटक, चाचा पशुपति कुमार पारस ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी बनाई, ओम बिरला से मिले चिराग पासवान

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: June 19, 2021 09:59 PM2021-06-19T21:59:59+5:302021-06-19T22:01:19+5:30

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाये जाने के जवाब में आया है। पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर पारस, सभी चार सांसदों और उनके विश्वासपात्र कुछ पार्टी पदाधिकारियों को भी इसमें शामिल किया गया है।

LJP Pashupati Kumar Paras formed national executive Chirag Paswan meet Om Birla  | लोजपा में उठापटक, चाचा पशुपति कुमार पारस ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी बनाई, ओम बिरला से मिले चिराग पासवान

चिराग पासवान ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी के 90 प्रतिशत से अधिक सदस्य उनके साथ हैं।

Next
Highlightsपारस ने एक बयान में कहा कि पार्टी की अन्य सभी शाखाओं को भंग किया जा रहा है। पारस, रामविलास के छोटे भाई हैं।चिराग, रामविलास पासवान के पुत्र हैं।

नई दिल्लीः  लोजपा के पशुपति कुमार पारस की अगुवाई वाले खेमे ने शनिवार को पार्टी से संबद्ध सभी शाखाओं और प्रदेश ईकाइयों को भंग कर दिया और नयी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा की।

यह फैसला दिल्ली में चिराग पासवान के नेतृत्व वाले समूह द्वारा रविवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाये जाने के जवाब में आया है। पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर पारस, सभी चार सांसदों और उनके विश्वासपात्र कुछ पार्टी पदाधिकारियों को भी इसमें शामिल किया गया है। पारस ने एक बयान में कहा कि पार्टी की अन्य सभी शाखाओं को भंग किया जा रहा है।

चिराग पासवान ने कहा कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी के 90 प्रतिशत से अधिक सदस्य उनके साथ हैं। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) पर नियंत्रण को लेकर लड़ाई का फैसला निर्वाचन आयोग में होने की संभावना है क्योंकि दोनों खेमे बिहार के लोकप्रिय दलित नेता रामविलास पासवान की विरासत पर दबदबा बनाने के लिए लड़ रहे है। पिछले साल रामविलास पासवान का निधन हो गया था। चिराग, रामविलास पासवान के पुत्र हैं। पारस, रामविलास के छोटे भाई हैं।

चिराग नीत गुट ने चुनाव आयोग से पारस गुट के दावों पर उनका विचार जानने का आग्रह किया

चिराग पासवान के नेतृत्व में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के एक प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को चुनाव आयोग से पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व वाले दूसरे गुट द्वारा पार्टी पर किसी भी दावे पर निर्णय लेने से पहले उसका विचार जानने का आग्रह किया। चुनाव आयोग को अपना ज्ञापन सौंपने के बाद पासवान ने पत्रकारों से कहा कि वह 2019 में पांच साल के लिए पार्टी अध्यक्ष चुने गए थे।

उन्होंने उनके स्थान पर अपने चाचा पारस के चुनाव को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘चुनाव आयोग ने किसी अन्य विपरीत दावे के मामले में हमें सुनने का आश्वासन दिया है।’’ पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल लोजपा महासचिव अब्दुल खालिक ने कहा कि पारस का चुनाव वैध नहीं है।

पासवान गुट ने रविवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। गौरतलब है कि लोजपा के सांसद पशुपति कुमार पारस के नेतृत्व वाले पार्टी के खेमे ने बृहस्पतिवार को पारस को निर्विरोध पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने का दावा किया था। उन्होंने हाल ही में अपने भतीजे चिराग पासवान को लोकसभा में पार्टी के नेता और पार्टी अध्यक्ष पद से हटा दिया था। 

Web Title: LJP Pashupati Kumar Paras formed national executive Chirag Paswan meet Om Birla 

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे