लखीमपुर खीरी हिंसाः 'चलो किसानों को सबक सिखाते हैं', आशीष मिश्रा को लेकर अंकित राज ने पूछताछ में किए कई खुलासे

By अनिल शर्मा | Published: October 14, 2021 11:58 AM2021-10-14T11:58:11+5:302021-10-14T12:16:44+5:30

लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Mishra Teni) के बेटे आशीष मिश्रा को लेकर अंकित राज ने बताया कि आशीष किसानों के प्रदर्शन से खुश नहीं था और सबक सिखाने की बात कही थी।

lakhimpur kheri violence ankit Raj revealed in the interrogation about ashish mishra | लखीमपुर खीरी हिंसाः 'चलो किसानों को सबक सिखाते हैं', आशीष मिश्रा को लेकर अंकित राज ने पूछताछ में किए कई खुलासे

लखीमपुर खीरी हिंसाः 'चलो किसानों को सबक सिखाते हैं', आशीष मिश्रा को लेकर अंकित राज ने पूछताछ में किए कई खुलासे

Next
Highlightsअंकित राज ने बताया कि किसानों को कुचलने के बाद जीप पलट गई थीगाड़ी पलटने के बाद वह घबरा गया और बाहर निकल कर भीड़ पर फायरिंग शुरू कर दी

Lakhimpur Kheri Violence:  लखीमपुर हिंसा मामले के आरोपी अंकित राज ने क्राइम ब्रांच के सामने कई अहम खुलासे किए हैं। नोटिस जारी होने के बाद बुधवार अंकित ने एसआईटी के सामने आत्मसमर्पण किया था जिसके बाद से उससे मामले में लगातार पूछताछ हो रही है। 

लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Mishra Teni) के बेटे आशीष मिश्रा को लेकर अंकित राज ने बताया कि आशीष किसानों के प्रदर्शन से खुश नहीं था और सबक सिखाने की बात कही थी।

पूछताछ में अंकित ने कहा है, घटना से कुछ समय पहले ही राईस मिल पर आशीष मिश्रा उर्फ मोनू से उसकी मुलाक़ात हुई थी। अंकित के मुताबिक जब उसने आशीष को किसानों के प्रदर्शन के बारे में बताया तो वह भड़क गया और कहा था कि चलो उन्हें सबक सिखाते हैं।

बुधवार जब अंकित ने आत्मसमर्पण किया तो उसके साथ उसका गनर लतीफ उर्फ काले भी था। अंकित ने पूछताछ में बताया कि थार के पीछे काली फार्च्यूनर में वह बैठा था जिसे शेखर भारती चला रहा था। अंकित ने कहा कि मेरे आगे चल रही जीप किसानों को कुचलते हुए आगे निकल गई। हालांकि थार कौन चला रहा था, इसके बारे में वह कुछ साफ-साफ नहीं बताया। 

किसानों को कुचलने के बाद जीप पलट गई थी। जीप को हरिओम मिश्रा चला रहा था जिसे भीड़ ने खींचकर बाहर निकाल लिया था। इस बारे में अंकित ने बताते हुए कहा वह उस वक्त घबरा गया था और गाड़ी से उतर कर उसने और गनर काले ने भीड़ पर फायरिंग शुरू कर दी। और मौके से फरार हो गए।

अंकित के गनर काले के मुताबिक थार गाड़ी को हरिओम चला रहा था और उसके पायदान पर दो लोग खड़े थे। उसने यह भी बताया कि जिस गाड़ी में अंकित था उसे शेखर भारती चला रहा था।

Web Title: lakhimpur kheri violence ankit Raj revealed in the interrogation about ashish mishra

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे