Jharkhand Assembly Elections: All parties including BJP active in meetings & monitoring | झारखंड में भाजपा सहित सभी दलों ने विधानसभा चुनाव के लिए कसी कमर, बैठकों का दौर है जारी
भारतीय जनता पार्टी का झंडा। (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी सहित सभी दलों ने झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर कमर कस ली है. सभी दलों द्वारा जमीनी स्तर पर पार्टी के कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया जा रहा है. वहीं, भाजपा प्रदेश के आला नेता चुनाव को लेकर की जा रही तैयारी की मॉनिटरिंग कर रहे हैं. जबकि विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ कई छोटे दल गोलबंद हुए हैं.  

भाजपा के खिलाफ झारखंड पीपुल्स पार्टी (झापीपा) के सूर्य सिंह बेसरा द्वारा बुलाई गई बैठक में बसपा, तृणमूल कांग्रेस, मुस्लिम लीग, माले (बसीर अहमद), जेपीपी और झारखंड आंदोलनकारी मोर्चा के नेताओं ने भाजपा के खिलाफ चुनावी रणनीति बनाई है. एक बैठक में गठबंधन के नेताओं ने कांग्रेस, झामुमो, झाविमो और राजद को भी साथ आने आह्वान किया गया. पूर्व विधायक सूर्य सिंह बेसरा ने बैठक के बाबत जानकारी देते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा विरोधी सभी राजनीतिक दलों को एकताबद्ध करने के लिए सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया.

सभी नेताओं ने झारखंड के जनमानस के हित में व्यापक एकता का संकल्प लिया है. बेसरा ने कहा कि वर्तमान में कांग्रेस, झामुमो, झाविमो, राजद का विपक्ष के नाम पर महागठबंधन आधी अधूरी है. ये दल अपनी ताकत के बदौलत भाजपा को सत्ता से बेदखल करने में अक्षम साबित हुए हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में ये दल भाजपा को नहीं रोक पाये. संपूर्ण विपक्ष को इस महागठबंधन में एकजुट होकर विधानसभा चुनाव में भाजपा मुक्त सरकार के लिए प्रयास करना चाहिए. बेसरा ने कहा कि झारखंडी हितों की रक्षा करने के लिए हम पूरी ताकत लगायेंगे. यह जनता का असली मोर्चा होगा.   
 
इधर, सर्वदलीय बैठक में झापीपा के बेसरा के साथ पार्टी नेता दिल बहादुर, तृणमूल कांग्रेस के अध्यक्ष व पूर्व सांसद कामेश्वर बैठा, बसपा के आरपी रंजन, सीपीआइ (माले) के बसीर अहमद, झारखंड आंदोलनकारी मंच के सुखदेव हेंब्रम, मुस्लिम लीग के अब्दुल अजहर कासमी, जेपीपी के सुबोध कुमार दांगी और मुश्ताक अहमद शामिल हुए. इसमें विपक्ष के दूसरे दलों को भी शामिल करने की तैयारी की जा रही है. उधर भाजपा ने भी कमर कसते हुए आज राज्य के सभी 513 मंडलों की बैठक की.

संगठनात्मक दृष्टि से बनाये गये मंडलों को पार्टी चुनावी अभियान में लगाया जायेगा. वहीं, मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, राज्य के मंत्री, सांसद-विधायक और प्रदेश के आला नेताओं के मंडल प्रवास को लेकर विस्तृत जानकारी दी जायेगी. प्रवास के दौरान सांगठनिक और चुनावी तैयारी के एजेंडे तय किये जायेंगे. मंडल अध्यक्षों से बूथ कमेटी के गठन से लेकर मंडल स्तर पर चलाये गये कार्यक्रम की समीक्षा भी होगी.

भाजपा ने चुनावी तैयारी को जमीनी स्तर तक पहुंचाने के लिए राज्य के आला नेताओं का प्रवास कार्यक्रम तय किया है. मुख्यमंत्री सहित प्रदेश के आला नेता मंडल में कार्यकर्ताओं के बीच जायेंगे. एक-एक नेता को 10 मंडल में प्रवास करने का कार्यक्रम तय किया गया है. पांच दिनों के लिए मंडल में प्रवास करेंगे. वहीं, भाजपा नेताओं के प्रवास कार्यक्रम की रूपरेखा बन रही है. मुख्यमंत्री रघुवर दास, केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा सहित दूसरे नेताओं के मंडल प्रवास के कार्यक्रम तैयार हो रहे हैं. अगस्त के अंतिम सप्ताह से इसकी शुरुआत होगी.


Web Title: Jharkhand Assembly Elections: All parties including BJP active in meetings & monitoring
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे