जम्मू कश्मीर की सबसे लंबी मुठभेड़ को खत्म करने के लिए से सेना ने शुरू किया फाइनल असाल्ट

By सुरेश एस डुग्गर | Published: October 26, 2021 03:59 PM2021-10-26T15:59:25+5:302021-10-26T16:02:05+5:30

मंगलवार को आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच इसी जंगल में मुठभेड़ उस समय फिर से शुरू हो गई जब सेना ने आतंकियों को खत्म करने के इरादों से फाइनल असॉल्ट को शुरू करते हुए आतंकियों को घेर कर चारों ओर से ही नहीं बल्कि आसमान से भी लड़ाकू हेलिकाप्टरों व ड्रोनों से हमला बोला था।

jammu kashmir terrorists encounter final assault army | जम्मू कश्मीर की सबसे लंबी मुठभेड़ को खत्म करने के लिए से सेना ने शुरू किया फाइनल असाल्ट

प्रतीकात्मक तस्वीर.

Next
Highlights9 जवानों को गंवाने वाली सेना अभी तक दर्जनभर आतंकियों के शव तलाश नहीं कर पाई.पुंछ जिले के भाटाधुड़ियां जंगलों में 16 दिनों से चल रही मुठभेड़.सेना ने आसमान से भी लड़ाकू हेलिकाप्टरों व ड्रोनों से हमला बोला है.

जम्मू: पुंछ जिले के भाटाधुड़ियां जंगलों में 16 दिनों से चल रही मुठभेड़ जम्मू कश्मीर में आतंकवाद के इतिहास की सबसे लंबी मुठभेड़ बन गई है। सेना अब इसे किसी भी तरह से खत्म करना चाहती है क्योंकि अपने 9 जवानों को गंवाने वाली सेना अभी तक उन दर्जनभर आतंकियों के शव भी तलाश नहीं कर पाई है जिनका उसने दावा किया था जबकि उसके 10 से अधिक जवान जख्मी भी हैं।

यही कारण था कि मंगलवार को आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच इसी जंगल में मुठभेड़ उस समय फिर से शुरू हो गई जब सेना ने आतंकियों को खत्म करने के इरादों से फाइनल असॉल्ट को शुरू करते हुए आतंकियों को घेर कर चारों ओर से ही नहीं बल्कि आसमान से भी लड़ाकू हेलिकाप्टरों व ड्रोनों से हमला बोला था।

जंगल के आसपास रहने वाले लोगों के मुताबिक, फायरिंग की आवाज दूर तक सुनाई दे रही है। इससे पहले सुरक्षाबलों ने आतंकियों के छह से आठ ठिकाने खोज निकाले थे। इनका इस्तेमाल आतंकी लंबे समय से कर रहे थे। 

आतंकी ठिकानों से कपड़े दवाइयां, खाने के पैकेट समेत कुछ गोला बारूद भी बरामद किया गया है। मंगलवार को सुरक्षाबल जंगल के बड़े हिस्से में तलाशी अभियान चला रहे हैं। 

रविवार को भाटाधुड़ियां के जंगल में आतंकी ठिकाने का पता लगाने के लिए जेल में बंद आतंकी को साथ लेकर गए सुरक्षाबलों पर छिपे आतंकियों ने हमला कर दिया था। इसमें पाकिस्तानी आतंकी जिया मुस्तफा की मौत हो गई थी। 

मुस्तफा को कोट भलवाल जेल से पुंछ लाया गया था। वह आतंकियों के संपर्क में था और उन्हें भाटाधुड़ियां के जंगल में छिपने व हमला करने में गाइड कर रहा था। आतंकियों की फायरिंग में दो पुलिसकर्मी और एक सेना का जवान घायल हो गए थे, जिनका उपचार जारी है।

सोमवार सुबह जैसे ही सुरक्षा बलों ने प्राकृतिक गुफाओं की घेराबंदी को कड़ा किया, जंगल में छिपे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुबह साढ़े छह से साढ़े आठ और फिर नौ से साढ़े नौ बजे तक गोलीबारी होती रही। 

इसके बाद जंगल में कोई फायरिंग नहीं हुई। अभी तक किसी आतंकी के मारे जाने की आधिकारिक सूचना नहीं है। सेना और पुलिस के एसओजी विंग के जवान एहतियात बरतते हुए मोर्चा संभाले हुए हैं।

Web Title: jammu kashmir terrorists encounter final assault army

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे