Jammu kashmir Coronavirus: Devotees reaching Katra for darshan of Mata Vaishno Devi | माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए कटरा पहुंच रहे श्रद्धालुओं में 35 परसेंट कोरोना मरीज, फिर भी रोक लगाने को तैयार नहीं प्रशासन
(फोटो सोर्स- सोशल मीडिया)

Highlightsकश्मीर में महाराष्ट्र और गुजरात के दो पर्यटकों की बीते माह कोविड-19 से मौत हुई थी। श्रीनगर एयरपोर्ट पर जांच के दौरान ही इनमे कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी।कोरोना संक्रमित यात्रियों की संख्या में कमी में साफ झलकता है।

जम्मू, 21 अप्रैल। जम्मू कश्मीर में 35 परसेंट करोनो मरीज वैष्णो देवी आने वाले श्रद्धालु तथा अन्य टूरिस्ट हैं। यही दशा लद्दाख में भी है। पर इस सच्चाई को स्वीकार करने के बावजूद दोनों प्रशासन न ही वैष्णो देवी की यात्रा को बंद करने को राजी हैं और न ही टूरिस्टों पर कोई रोक लगाने को। यह सब इस सोच के साथ किया जा रहा है कि लोगों की रोजी रोटी चलती रहे। पर अब स्थानीय लोग सरकार के इस फैसने के विरोध में स्वर बुलंद करने लगे हैं।

इसे आधिकारिक तौर पर माना गया है कि जम्मू कश्मीर में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामलों का एक बड़ा कारण बाहर से आने वाले यात्री और सैलानी हैं। प्रदेश सरकार ने यह जानकारी केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला की अध्यक्षता में कोविड-19 प्रबंधन पर हुई एक बैठक में खुद दी है। केंद्र शासित लद्दाख ने भी कोरोना संकट के लिए बाहर से आने वालों को जिम्मेदार ठहराया हैं। 

श्रीनगर एयरपोर्ट पर ही करीब एक हजार लोग कोविड पाजिटिव मिले थे। यह सभी विभिन्न राज्यों से कश्मीर आए थे। इनमें से कई सैलानी ही थी। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि जम्मू कश्मीर में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर और कोरोना वायरस का जो नया स्ट्रेन है, सैलानियों के जरिए ही पहुंचा है। कश्मीर में फरवरी से पर्यटकों की आमद लगातार बढ़ रही थी जो बीते चंद दिनों में घटी है।

प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना संक्रमितों की संख्या से संबधित रोजाना दी जाने वाली जानकारी के मुताबिक इस साल पहली से 19 अप्रैल तक 3606 यात्री और पर्यटक कोविड-19 से संक्रमित मिले हैं। इनमें 1593 सिर्फ श्रीनगर शहर में ही हैं। जम्मू कश्मीर में बीते 19 दिनों के दौरान 10476 लोग कोविड पॉजिटिव पाएं गए हैं। इनमें 34.4 प्रतिशत बाहर से आने वाले स्थानीय नागरिक या सैलानी ही हैं। 

सूत्रों ने बताया कि केंद्र शासित जम्मू कश्मीर और केंद्र शासित लद्दाख प्रदेश के अधिकारियों ने भी माना है कि कोरोना संक्रमण के मामले बाहर से आने वाले यात्रियों के कारण ही ज्यादा तेजी से बढ़े हैं। स्थिति पर काबू पाने के लिए रात्रिकालीन कर्फ्यू को सहारा लेने के अलावा बाजारों के खुलने के समय की अवधि को भी घटाया गया है। यात्री वाहनों में सवारियों की संख्या को घटाया गया है। पर टूरिस्टों और श्रद्धालुओं के आने पर कोई रोक नहीं लगाई गई है।

Web Title: Jammu kashmir Coronavirus: Devotees reaching Katra for darshan of Mata Vaishno Devi

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे