Indo-Nepal border daughter relationship pre arranged marriages wedding season ban on entry of Indian car | भारत-नेपाल सीमाः शादी-विवाह का मौसम, पैदल जाने को मजबूर हो रहे हैं दूल्हे, भारतीय गाड़ियों के प्रवेश पर रोक
नेपाल की तरफ इस मामले में दोहरी नीति का प्रयोग किया जा रहा है. (file photo)

Highlightsभारत और नेपाल के बीच रोटी-बेटी का संबंध रहा है. मार्च में बढ़ाई गई शादियों की तारीख नवंबर व दिसंबर में तय की गई थी.भारत में तो पाबंदी काफी हद कम करते हुए सीमा को खोल दिया गया है.

पटनाः शादी-विवाह का मौसम चल रहा है, लेकिन दो दिल चाह कर भी एक नहीं हो पा रहे हैं. सीमा की बाध्यता ने दो दिलों के मिलन पर दीवार बनकर खड़ा हो गया.

यह मामला बिहार और नेपाल के बीच का है. कोरोना काल के चलते नेपाल और भारत की सीमा अब लड़के-लड़कियों के लिए बाधक बनकर सामने आ गया है. हालांकि, भारत और नेपाल के बीच रोटी-बेटी का संबंध रहा है. दोनों देश में परस्पर शादी विवाह का कार्यक्रम आदिकाल से होता रहा है.

मगर कोरोना महामारी में नेपाल ने अपनी सीमा को अब तक सील रखा है. भारत की तरफ से कोई भी व्यक्ति नेपाल नहीं जा सकता है. ऐसे में शादियों का समय शुरू होने के बाद इसका असर पहले से तय शादी के रिश्तों पर व्यापक तौर से पड़ रहा है. मार्च में बढ़ाई गई शादियों की तारीख नवंबर व दिसंबर में तय की गई थी.

भारत में तो पाबंदी काफी हद कम करते हुए सीमा को खोल दिया गया है. लेकिन नेपाल सरकार ने अब तक इसको लेकर कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया है. इसका खामियाजा वैसे लोगों को भुगतना पड़ रहा है, जिनकी पहले से शादी नेपाल में तय हो चुकी है.

बिहार की गाड़ी को नेपाल में घुसने नहीं जाने दिया जा रहा है

बिहार की गाड़ी को नेपाल में घुसने नहीं जाने दिया जा रहा है. ऐसे में सीमा पर जाने के बाद दूल्हा पैदल ही उसपार जा रहा है. वहीं ससुराल वाले नेपाली गाड़ी का प्रबंध कर लड़के को ले जा रहे हैं, फिर उधर से लड़की और लड़के को सीमा तक नेपाली गाड़ी से लाकर छोड़ दिया जा रहा है.

इसके बाद सीमा के इसपार आकर के भारतीय नंबर की गाड़ी में बैठकर वापस घर जाना पड़ रहा है. इसतरह से दर्जनों दूल्हे को नेपाल पैदल ही शादी करने के लिए जाना पड़ रहा है. इधर, अब शादी के मौसम में नेपाल में इसको लेकर बहस शुरू हो गई है कि बॉर्डर को खोला जाए.

नेपाल की तरफ इस मामले में दोहरी नीति का प्रयोग किया जा रहा है

जानकारों का कहना है कि नेपाल की तरफ इस मामले में दोहरी नीति का प्रयोग किया जा रहा है. भारत की सीमा खोल दिये जाने के बाद नेपाली नंबर की गाड़ियों को बेरोक-टोक नेपाली प्रशासन भारत आने दे रहा है, तो दूसरी तरफ भारतीय नंबर की गाड़ी यदि गलती से भी सीमा पार चली जाये, तो उसकी जब्ती कर ली जा रही है.

भारत सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा सीमा को खोल दिया गया है, लिहाजा नेपाल से आने वाली गाड़ियों को यहां पर नहीं रोका जा रहा है. संबंधों को ध्यान में रखते हुए भी नेपाल सरकार अब तक सीमा खोलने को लेकर किसी तरह का सकारात्मक फैसला नहीं ले रही है.

Web Title: Indo-Nepal border daughter relationship pre arranged marriages wedding season ban on entry of Indian car

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे