India learnt to live without politics and religion during lockdown: G Madhavan Nair | 'कोरोना लॉकडाउन के दौरान भारत ने बिना राजनीति, धर्म के जीना सीखा': वैज्ञानिक जी माधवन नायर
प्रतीकात्मक तस्वीर

Highlightsवैज्ञानिक जी माधवन नायर ने कोरोना वायरस के प्रकोप पर कहा, ‘‘दरअसल, धरती पर ऐसे कई वायरस सुप्त पड़े रहते हैं और जब उनके अनुकूल परिस्थितियां बनती हैं तो वे पनपने लगते हैं।''वैज्ञानिक जी माधवन नायर ने कहा- वायरस को फैलने से रोकने के लिए नौकरशाही व्यापक तौर पर कई कदम उठा रही है।

बेंगलुरू: जानेमाने वैज्ञानिक जी माधवन नायर (G. Madhavan Nair )ने कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन पर कहा, ‘‘देश बिना राजनीति और धर्म के जीना सीखा गया है।’’ भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व अध्यक्ष  जी माधवन नायर ने कहा, ‘‘यह महान उपलब्धि है।’’ उन्होंने कहा कि हर चुनाव के बाद ऐसा माहौल रहना चाहिए जहां सभी राजनीतिक गतिविधियां पार्श्व में चली जाएं और सभी राष्ट्रनिर्माण पर ध्यान दें। 

नायर ने कोरोना वायरस के प्रकोप पर कहा, ‘‘दरअसल, धरती पर ऐसे कई वायरस सुप्त पड़े रहते हैं और जब उनके अनुकूल परिस्थितियां बनती हैं तो वे पनपने लगते हैं। अगर आप पिछली तीन सदियों या उससे पहले तक देखें तो हर सौ साल में एक बार कोई न कोई ऐसा प्रकोप आता है। इसलिए यह एक स्वाभाविक घटनाक्रम है।’’ 

उन्होंने कहा कि भारतीयों ने अपनी एकता प्रदर्शित की है और कोरोना वायरस को फैलने से रोकने में बिना जाति, वर्ण और राजनीतिक रंग के मिलकर खड़े हुए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रनिर्माण में इसी तरह के प्रयास होने चाहिए। 

नायर ने कहा कि वायरस को फैलने से रोकने के लिए नौकरशाही व्यापक तौर पर कई कदम उठा रही है और इसी भावना को बनाकर रखना होगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 राहत पैकेज जनता तक पहुंचाने के मामले में भारत में बिचौलियों को हटाने में सफलता मिली है। 

Web Title: India learnt to live without politics and religion during lockdown: G Madhavan Nair
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे